जल्द खरीद लें! बहुत महंगा हो रहा AC और फ्रिज, मौका न गवाएं

अगर आपर एयर कंडीशनर (AC) या रेफ्रिजरेटर खरीदने का विचार कर रहे हैं तो ये समय आपके लिए उचित है, क्योंकि नए साल से (1 जनवरी) से AC और रेफ्रिजरेटर्स 6 हजार रुपये तक महंगे हो सकते हैं।

Published by Shreya Published: November 24, 2019 | 11:14 am
जल्द खरीद लें! बहुत महंगा हो रहा AC और फ्रिज, मौका न गवाएं

जल्द खरीद लें! बहुत महंगा हो रहा AC और फ्रिज, मौका न गवाएं

नई दिल्ली: अगर आपर एयर कंडीशनर (AC) या रेफ्रिजरेटर खरीदने का विचार कर रहे हैं तो ये समय आपके लिए उचित है, क्योंकि नए साल से (1 जनवरी) से AC और रेफ्रिजरेटर्स 6 हजार रुपये तक महंगे हो सकते हैं। दरएसल, अगले साल जनवरी से नया एनर्जी लेवलिंग नॉर्म्स (New Energy Labelling Norms) लागू होने वाला है, जिसके बाद 5 स्टार AC और रेफ्रिजरेटर्स 6 हजार रुपये तक महंगे हो सकते हैं।

इस वजह से होगी कीमतों में वृद्धि

कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक उद्योग संगठन (CEAMA) के मुताबिक, नया एनर्जी लेवलिंग नॉर्म्स लागू होने के बाद इलेक्ट्रॉनिक निर्माताओं को 5 स्टार रेफ्रिजरेटर्स के कूलिंग के लिए पारंपरिक फोम की जगह अब पैनल का इस्तेमाल करना पड़ेगा। जिसकी वजह से AC और रेफ्रिजरेटर्स की कीमतों में 6 हजार तक की वृद्धि हो सकती है।

यह भी पढ़ें: मां कसम! नेहा कक्कड़ और दिव्या को देख खुला रह जाएगा आपका मुंह

AC की बिक्री में 15 फीसदी की बढ़ोत्तरी

बता दें कि, इस वित्त वर्ष की पहली छमाही में AC की बिक्री में 15 फीसदी की बढ़ोत्तरी हुई है। ये पहले की 35 फीसदी ग्रोथ से ज्यादा है। वहीं एसोसिएशन की तरफ से सरकार से मांग की गई है कि, एसी पर लगने वाले GST को कम करके 18 फीसदी स्लैब में ले आएं।

आशंका है कि, उपभोक्ता इलेक्ट्रॉनिक्स उद्योग का आकार साल 2024-25 तक दोगुना होकर 1.48 लाख करोड़ रुपये पहुंच सकता है। इसमें कहा गया है कि, इसमें ग्रामीण खपत में वृद्धि, खुदरा की बढ़ती पहुंच, ब्रांडों और उत्पादों के मूल्यों की एक बड़ी रेंज के चलते तेजी आ सकती है।

यह भी पढ़ें: पाकिस्तान से बुरी खबर! हर 9 में 1 महिला की हो रही मौत, जानिए क्यों?

इलेक्ट्रॉनिक्स का कारोबार-

2018-19 में इलेक्ट्रॉनिक्स उद्योग का टोटल बिजनेस 76,400 करोड़ रुपये का रहा, जो 2024-25 तक 1.48 लाख करोड़ रुपये तक होने का अनुमान है। वहीं 2018-19 में घरेलू उपकरणों का कुल कारोबार 32,200 करोड़ रुपये रहा। अनुमान लगाया जा रहा है कि, रेफ्रिजरेटर 2018-19 में 145 लाख यूनिट रहा, जो 2024-25 तक 275 लाख यूनिट तक बढ़ सकता है।

यह भी पढ़ें: सुपर से भी ऊपर वाला ऑफर: Xiaomi इन फोन पर दे रहा बंपर डिस्काउंट, जल्द खरीदें