Top

अदाणी ग्रीन एनर्जी: पवन ऊर्जा परियोजना की शुरुआत, 5 महीने पहले ही किया काम

अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) भारत स्थित अदाणी ग्रुप का एक हिस्सा है, जिसके पास निवेश-ग्रेड के समकक्षों की जरूरतों को पूरा करने वाले ऑपरेटिंग, निर्माणाधीन और अवार्डेड प्रोजेक्ट के 14,815 मेगावाट से अधिक वाले बड़े वैश्विक रिन्यूएबल पोर्टफोलियो में से एक पोर्टफोलियो है।

SK Gautam

SK GautamBy SK Gautam

Published on 8 March 2021 10:26 AM GMT

अदाणी ग्रीन एनर्जी: पवन ऊर्जा परियोजना की शुरुआत, 5 महीने पहले ही किया काम
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

अहमदाबाद: अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड 'एजीईएल' की सहायक कंपनी एडब्लूईकेटीएल ने गुजरात के कच्छ में अपनी निर्धारिति तिथि से 5 महीने पहले 100 मेगावाट पवन उर्जा (विंड एनर्जी) प्लांट चालू किया। यह पिछले 12 महीनों में कंपनी द्वारा समय से पहले शुरू की गई 5वीं परियोजना है। इस प्लांट के लिए सोलर कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एसईसीआई) के साथ 2.82 रुपये/किलोवाट घंटे की दर से 25 वर्षों का पावर परचेज एग्रीमेंट 'पीपीए' है। बता दें कि इस कमीशनिंग के साथ, 2025 तक 25 गीगावाट क्षमता करने के लक्ष्य की तरफ बढ़ते हुए, अदाणी ग्रीन एनर्जी की कुल परिचालन रिन्यूएबल क्षमता 3,345 मेगावाट तक हो गयी है।

कंपनी के पास 497 मेगावाट की विंड जेनेरेशन क्षमता

बता दें कि इस प्लांट के सफल संचालन के साथ, कंपनी के पास 497 मेगावाट की परिचालन विंड जेनेरेशन क्षमता है। एजीईएल की कुल रिन्यूएबल क्षमता 14,815 मेगावाट है जिसमें 11,470 मेगावाट अवार्डेड क्षमता शामिल है और ये कार्यान्वयन के विभिन्न चरण में हैं। इस परियोजना के साथ कंपनी की कुल रिन्यूएबल क्षमता, कोविड 19 प्रकोप की चुनौतियों के बावजूद, पिछले 12 महीनों से 800 मेगावाट की हो गयी है।

Adani Group-3

कंपनी की सभी अन्य परिसंपत्तियों की तरह, कमीशन किये गये नये प्लांट का प्रबंधन अदाणी ग्रुप के 'इंटेलिजेंट एनर्जी नेटवर्क ऑपरेशन सेंटर' प्लेटफॉर्म द्वारा किया जाएगा, जो एजीईएल को पूरी तरह से केंद्रीकृत बिजिबिलिटी और अखिल भारतीय स्तर पर अपनी रिन्यूएबल परिसंपत्तियों के प्रबंधन की क्षमता प्रदान करता है।

एजीईएल ने आर्थिक विकास के साथ रोजगार सृजन को भी संभव बनाया

एक के बाद एक अपनी परियोजनाओं के जरिये, एजीईएल ने आर्थिक विकास के साथ स्थिरता के उद्देश्य को एकीकृत करना जारी रखा है, जिससे रोजगार सृजन को संभव बनाया है और पेरिस में हुए संयुक्त राष्ट्र जलवायु परिवर्तन सम्मेलन में भारत की प्रतिबद्धता के अनुरूप डीकार्बनाइजेशन को सक्षम करने और इसे जलवायु क्षेत्र में नेतृत्वकारी भूमिका निभाने की ओर कदम बढ़ाने में मदद मिली है।

Adani Green Energy Wind Energy Project-1

ये भी देखें: अमेजन के CEO जेफ बेजोस की पूर्व पत्नी ने की शादी, जाने कौन हैं इनके पति

यहां जानें अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड के बारे में

अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) भारत स्थित अदाणी ग्रुप का एक हिस्सा है, जिसके पास निवेश-ग्रेड के समकक्षों की जरूरतों को पूरा करने वाले ऑपरेटिंग, निर्माणाधीन और अवार्डेड प्रोजेक्ट के 14,815 मेगावाट से अधिक वाले बड़े वैश्विक रिन्यूएबल पोर्टफोलियो में से एक पोर्टफोलियो है। कंपनी यूटिलिटी-पैमाने पर ग्रिड से जुड़े सौर और पवन कृषि परियोजनाओं का विकास, निर्माण, स्वामित्व, संचालन और रखरखाव करती है।

Adani Green Energy Wind Energy Project-2

ये भी देखें: IPL 2021: खिताबी कमियों को पूरा करने उतरेगी RCB, ये होगी विराट कोहली की नई रणनीति

एजीईएल 25.03 बिलियन अमेरिकी डॉलर की मार्केट कैप कंपनी

एजीईएल के प्रमुख ग्राहकों में नेशनल थर्मल पावर कॉरपोरेशन (एनटीपीसी) और सोलर एनर्जी कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया (एसईसीआई) और विभिन्न राज्यों के डिस्कॉम शामिल हैं। 2018 में सूचीबद्ध, एजीईएल आज 25.03 बिलियन अमेरिकी डॉलर की मार्केट कैप कंपनी है, जो भारत को इसके सीओपी 21 लक्ष्यों को पूरा करने में मदद करती है। इस वर्ष अमेरिका स्थित थिंक टैंक, मेरकॉम कैपिटल, ने अदाणी ग्रुप को #1वैश्विक सौर ऊर्जा उत्पादन परिसंपत्ति का स्वामित्व रखने वाली कंपनी का दर्जा दिया है।अधिक जानकारी के लिए www.adanigreenenergy.com देखें।

दोस्तों देश दुनिया की और को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

SK Gautam

SK Gautam

Next Story