कल बैंकों में हड़ताल: सभी शाखाओं में लग जायेगा ताला, जल्दी कर लें अपना काम

75 फीसदी कर्मचारियों से नए प्रावधान के तहत कानूनी संरक्षण छीनकर उन्हें श्रम कानूनों के दायरे से बाहर कर दिया गया है। नए कानूनों में इन श्रमिकों को किसी तरह का संरक्षण नहीं मिलेगा।

Published by SK Gautam Published: November 25, 2020 | 1:37 pm
bank strike

कल बैंकों में हड़ताल: सभी शाखाओं में लग जायेगा ताला, जल्दी कर लें अपना काम-(courtesy-social media)

नई दिल्ली: खबर है कि बैंककर्मी लंबे समय के लिए राष्ट्रव्यापी हड़ताल पर जा रहे हैं। इससे पहले आपको बैंक से सम्बंधित अपने जरूरी काम जल्द से जल्द निपटा लेने चाहिए। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने ग्राहकों को डिजिटल बैंकिंग के लिए डिजिटल लेने देन की प्रक्रिया काफी आसान कर दिया है। केंद्रीय ट्रेड यूनियनों ने बैंककर्मीयों की यह राष्ट्रव्यापी हड़ताल की घोषणा 26 नवंबर यानी कल के लिए की है। इस हड़ताल के आह्वान का मुख्य उद्देश्य  केंद्र सरकार की श्रम-विरोधी नीतियों का विरोध करना है।

इसलिए हो रही हड़ताल

बता दें कि इस हड़ताल में अखिल भारतीय बैंक कर्मचारी संघ (AIBEA) ने भी शामिल होने का एलान किया है। मामले में करीब चार लाख बैंक कर्मचारियों के प्रतिनिधि एआईबीए ने कहा कि, हालिया सत्र के दौरान लोकसभा में कारोबारी सुगमता के नाम पर 27 मौजूदा श्रम कानूनों की जगह लेने वाला नया श्रम कानून पारित किया गया है, जो पूरी तरह कॉरपोरेट के हित में है।

bank strike-3

आत्मनिर्भर भारत के नाम पर निजीकरण

इस प्रक्रिया में 75 फीसदी कर्मचारियों से नए प्रावधान के तहत कानूनी संरक्षण छीनकर उन्हें श्रम कानूनों के दायरे से बाहर कर दिया गया है। नए कानूनों में इन श्रमिकों को किसी तरह का संरक्षण नहीं मिलेगा। वर्तमान सरकार आत्मनिर्भर भारत के नाम पर निजीकरण के अपने एजेंडे को बढ़ावा दे रही है और इसका सहारा लेकर अर्थव्यवस्था के मुख्य क्षेत्र में बड़े पैमाने पर निजीकरण कर रही है, जिसमें बैंक भी शामिल है।

ये भी देखें : RBI की बड़ी पहल: टाटा-बिड़ला खोलेंगे बैंक! ऐसे होगा सुधार

30,000 कर्मचारी लेंगे हड़ताल में हिस्सा

एआईबीईए भारतीय स्टेट बैंक (SBI) और इंडियन ओवरसीज बैंक को छोड़कर ज्यादातर बैंकों का प्रतिनिधित्व करता है। महाराष्ट्र में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों, पुरानी पीढ़ी के निजी क्षेत्र के बैंकों और विदेशी बैंकों के करीब 30,000 कर्मचारी हड़ताल में शामिल होंगे।

bank strike-2

ये भी देखें : कर्मचारियों पर बड़ी खबर: महंगाई भत्ते को लेकर हुआ फैसला, जानें यहां

बंद रहेंगी ये शाखाएं

देशभर में काम करने वाले करोड़ों कर्मचारियों व श्रमिकों का प्रतिनिधित्व करने वाले प्रमुख दस श्रम संघों के साझा मंच की केंद्र सरकार की कथित जन विरोधी, किसान विरोधी और राष्ट्र विरोधी नीतियों के खिलाफ हो रही देशव्यापी हड़ताल में बैंकिंग उद्योग भी शामिल होगा। मालूम हो कि देश में सभी राज्यों में एक या उससे ज्यादा ग्रामीण बैंक हैं। इनकी कुल संख्या 43 है। इसमें लगभग 21,000 शाखाओं के एक लाख अधिकारी और सभी तरह के कर्मचारी काम कर रहे हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App