बुटीक हो सकता है आमदनी का अच्‍छा जरिया

क्‍या आप को खूबसूरत कपड़े लुभाते हैं, कपड़ों के डिजाइन और रंगों के चुनाव को आपके दोस्‍त, रिश्‍तेदार तारीफ करते हैं। नए कपड़े सिलवाते समय आप खुद भी अपने आइडियाज दर्जी को देकर खूबसूरत पोशाक की डिजाइनिंग में अपना रचनात्‍मक योगदान देती हैं।

Published by Shreya Published: January 2, 2020 | 9:10 am
Modified: January 2, 2020 | 2:20 pm

क्‍या आप को खूबसूरत कपड़े लुभाते हैं, कपड़ों के डिजाइन और रंगों के चुनाव को आपके दोस्‍त, रिश्‍तेदार तारीफ करते हैं। नए कपड़े सिलवाते समय आप खुद भी अपने आइडियाज दर्जी को देकर खूबसूरत पोशाक की डिजाइनिंग में अपना रचनात्‍मक योगदान देती हैं। या खुद आप ऐसी घरेलू महिला हैं जिससे आपनी रचनात्‍मकता को नया आयाम देने की इच्‍छा रखती हैं तो खुद का बुटीक शुरू कर सकती हैं। यदि आप फैशन डिजाइनर है तो यह सोने पर सुहागा जैसा है। बु‍टीक एक ऐसा सफल व्‍यवसाय है, जिसे हर ऐसी महिला कर सकती है। जिसे सजने-संवरने का शौक है। साथ ही कट्स, डिजाइन्‍स और रंग-संयोजन की दृष्टि से भी कपड़ों के बारे में अपडेट रहती हों।

इस तरह करें शुरुआत

बुटीक का व्‍यवसाय शुरू करने का सबसे बड़ा लाभ यही है कि इसके लिए आपको कहीं बाहर जाने की जरूरत नहीं है। और ना ही इसके लिए ज्‍यादा भागदौड़ करने की जरूरत है। यह काम घर में रह कर भी बड़ी आसानी से किया जाता है। शुरुआती दिनों में आप घर के ही किसी कमरे को आप अपना कार्यस्‍थल बना सकती हैं। और अपना बुटीक का व्‍यवसाय शुरू कर सकती हैं।

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी का दो दिवसीय कर्नाटक दौरा इसलिए है ख़ास, ये है पूरा कार्यक्रम…

कम लागत में भी शुरू हो सकता है व्‍यवसाय-

बुटीक का व्‍यवसाय शुरू करने के लिए बहुत ज्‍यादा निवेश की जरूरत नहीं है। इसे आप २५ से ५०००० रुपयों में भी शुरू कर सकती हैं। शुरुआत के दिनों में आप बस एक सिलाई मशीन, एक कारीगर और कुछ कच्‍चेमाल, जैसे धागे, बटन, लैस, बार्डर आदि खरीद कर काम को गति दे सकती हैं।

आरंभिक प्रशिक्षण

बुटीक के व्‍यवसाय की शुरुआत करने से पहले इस काम के हर पहलू और काम से जुड़ी बारीकियों को समझने के लिए प्रोफेशनल कोर्स कर लेना जरूरी है। ताकि आप कारीगरों पर आश्रित न रहें। जरूरत पड़ने पर व्‍यवसाय की बागडोर खुद संभाल सकें। अगर आप छोटे पैमाने पर ही काम शुरू कर रहीं हैं तो कम से कम छह महीने की टेलरिंग का कोर्स कर सकती हैं। और यदि आपका इरादा बड़े स्‍तर पर काम शुरू करने का है तो डिटेल स्‍टडी के लिए फैशल डिजाइनिंग व टेलरिंग का कोर्स करना अच्‍छा रहेगा।

यह भी पढ़ें: 2 JAN 2020: ये 4 राशियां जुबान पर रखें कंट्रोल, तभी बनेगा काम, पढ़ें राशिफल

हुनर के साथ व्‍यवसायिक नजरिया भी होना जरूरी

काम चहे आप छोटे स्‍तर पर शुरू करें या बड़े स्‍तर पर। वह तभी सफल हो सकता है जब उसमें थोड़ा अपना अलग अंदाज डालने की कोशिश करें। जिसे आपके खास काम के रूप में अलग पहचान मिले और यही आपके काम का जरिया ीाी बन सकता है। आज बुटीक के व्‍यवसयाय का मतलब सिर्फ सिलाई तक ही सीमित नहीं रह गया है। बलिक्‍, यह नारी की संपूर्ण पर्सनेलिटी को ही निखार देने का पयार्य बनता जा रहा है। कपड़ों में अपना स्‍टाइल, अंदाज और कारीगरी का जादू बिखेर कर साधारण के कपड़े को अनूठे परिधान के रूप में तैयार करना, जो पहनने वाले के स्‍टाइल स्‍टेटमेंट को बयां करे। यह एक चैलेंज है। आज बुटीक्‍स के लिए बाजार में अपने काम पहचान बनाने के लिए अधिक से अधिक सुविधाएं भी अपने ग्राहकों को देने की कोशिश करनी चाहिए।

आमदनी

अब लागत के बाद बात आती है कमाई यानी आमदनी की। यदि आप शुरुआत में यदि छोटे स्‍तर पर व्‍यवसाय शुरू कर रही हैं तब भी आप १५ से २० प्रतिशत तक आमदनी कर सकती हैं। लेकिन जैसे-जैसे आपका व्‍यवसाय बढ़ता जाएगा वैसे-वैसे आपकी आमदनी भी बढ़ती जाएगी। यानी आपको न केवल अपने ग्राहकों को उत्‍कृष्‍ठ काम करके उन्‍हें कायल बनान है, बल्कि, व्‍यवहार कुशल और वाकपटुता भी जरूरी है।

यह भी पढ़ें: नए साल पर किसानों को तोहफा: PM मोदी खाते में डालेंगे इतना पैसा

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App