किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी, अब आसानी से मिलेगा लोन

बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB) ने किसान उत्पादक संगठनों (FPO/FPC) के लिए एक इमरजेंसी क्रेडिट लाइन का भी एलान किया है। इससे यह किसान संगठन 5 लाख रुपये तक का लोन आसानी से ले सकेंगे।

नई दिल्ली: कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए देश को 21 दिनों तक लॉकडाउन रखा गया है। इस दौरान कई लोगों को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। ऐसे में देश के कई बैंकों द्वारा लोगों को मदद पैसे दिए जा रहे हैं। इसी क्रम में बैंक ऑफ बड़ौदा (BOB) ने किसान उत्पादक संगठनों (FPO/FPC) के लिए एक इमरजेंसी क्रेडिट लाइन का भी एलान किया है। इससे यह किसान संगठन 5 लाख रुपये तक का लोन आसानी से ले सकेंगे। इसके साथ ही संगठन को लोन चुकाने में कई तरह की छूट भी दी मिलेंगी।

महिला स्वयं सहायता समूहों को 1 लाख रुपये की आर्थिक मदद

बैंक ऑफ बड़ौदा की तरफ से महिला स्वयं सहायता समूहों को 1 लाख रुपये की आर्थिक मदद की जाएगी। बैंक ने मंगलवार को इस संबंध में जानकारी दी है। SHGs-COVID19 योजना के तहत, बैंक नकद क्रेडिट या ओवरड्राफ्ट या टर्म लोन के तौर पर मौजूदा SHG की सुविधाओं के रूप में सहायता करेगा।

यह भी पढ़ें: यूपी से बड़ी खबर: सील हुए 15 जिलों में ये 22 क्षेत्र, देखें डिटेल

ऐसे मिलेगा आसानी से लोन

बैंक ने बयान जारी करते हुए कहा कि प्रति SHG को न्यूनतम 30,000 रुपये लोन के तौर पर दिया जाअगा। प्रति सदस्यों के लिए अधिकतम लोग 1 लाख रुपये है। इस लोन को चुकाने के लिए 24 महीनों यानि 2 साल का वक्त दिया गया है। इस योजना के अन्तर्गत रीपेमेंट मंथली या 3 महीने के आधार पर किया जाएगा। इसके साथ ही लोन लेने की तारीख से 6 महीने का मोरेटोरियम भी दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें: Lockdown: राज्यों को भरोसे में लेकर फैसला ले केंद्र सरकार- अशोत गहलोत

वहीं, किसान उत्पादक संगठनों (FPO/FPC) के लिए लोन कलेक्टिव लिमिट का 10 प्रतिशत मंजूर किया जाएगा, जो कि अधिक से अधिक 5 लाख रुपये और 36 महीने की अवधि के साथ हो सकता है। इसमें 6 महीने का मोरेटोरियम दिया जाएगा।

बैंक फसल कर्ज लेने वालों को कृषि और बैंक डेयरी और मछली पालन करने वाले किसानों को इंस्टैंट क्रेडिट भी देगा। इस इंस्टैट क्रेडिट के जरिए किसानों को खेतों के रखरखाव और खेती से संबंधित अन्य कामों को करने में भी मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें: यूपी में मची अफरा-तफरी: लॉकडाउन की उड़ी धज्जियां, मिनटों में बाजारों में लगी भीड़