RBI का बड़ा फैसला! इस बैंको को लगा करारा झटका

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने लक्ष्मी विलास बैंक पर कड़ी कार्रवाई की है। कार्रवाई करते हुए आरबीआई ने उसे प्रोम्पट करेक्टिव एक्शन (PCA) में डाल दिया है।

Published by Shreya Published: September 30, 2019 | 1:35 pm
Modified: September 30, 2019 | 1:56 pm

RBI का बड़ा फैसला! इस बैंको को लगा करारा झटका

ऩई दिल्ली: रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने लक्ष्मी विलास बैंक पर कड़ी कार्रवाई की है। कार्रवाई करते हुए आरबीआई ने उसे प्रोम्पट करेक्टिव एक्शन (PCA) में डाल दिया है। जिसके बाद अब बैंक किसी को न ही कर्ज दे सकता है और न ही नई ब्रांच खोल सकता है। वर्तमान समय में यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया (UNI), इंडियन ओवरसीज बैंक (IOB), सेण्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया (CBI), IDBI, और UCO बैंक PCA के तहत आते हैं।

इसलिए उठाया ये कदम-

बता दें कि RBI किसी भी बैंक को, जब उसका NPA बढ़ जाता है या फिर जब बैंक की इनकम नहीं बढ़ रही होती है तब उसे PCA में डालता है। RBI द्वारा की गई इस कार्रवाई के बाद अब बैंक का इंडियाबुल्स हाउसिंग फाइनेंस में विलय का प्रस्ताव लटक गया है। अभी तक इस विलय को RBI ने मंजूरी नहीं दी है।

यह भी पढ़ें: मत छोड़ें ये मौका! सरकार घर बैठे देगी पैसा, तुरंत करें अप्लाई

बैंक खिलाफ हैं ये आरोप-

वहीं लक्ष्मी विलास बैंक के खिलाफ दिल्ली पुलिस की इकोनॉमिक ऑफेंस विंग (EOW) ने मुकदमा दर्ज किया है। बैंक पर अपराधिक षड्यंत्र रचने, गबन और धोखा देने जैसे गंभीर आरोप हैं। बैंक पर ये FIR रेगिलेयर फिनवेस्ट लिमिटेड (RFL) की शिकायत पर दर्ज की गई है। जिसके बाद RBI ने बैंक पर सख्त कदम अपनाया है।

मामले की जांच में जुटी पुलिस-

इस मामले में पुलिस बैंक के बोर्ड में शामिल डायरेक्टर्स के खिलाफ लगे आरोपों की जांच कर रही है। रिजर्व बैंक ने 31 मार्च 2019 को खत्म हुए फाइनेंशियल ईयर के लिए जोखिम की निगरानी के तहत हुई जांच के बाद ये कार्रवाई की है.

बैंक को 894.10 करोड़ हुआ नुकसान-

बता दें कि साल 2018-19 के में बैंक का शुद्ध NPA 7.49 फीसदी, पूंजी पर्याप्तता अनुपात (CAR) 7.72 फीसदी और एसेट्स पर 2.32 फीसदी का नुकसान हुआ है। इसके साथ ही बैंक को साल 2018-19 मों 894.10 करोड़ का नुकसान हुआ है।

यह भी पढ़ें: 100 रुपये में बनें करोड़पति: बस हर रोज करना होगा ये काम