×

Vodafone को झटका: हुआ करोड़ों का नुकसान, टूटा घाटे का सबसे बड़ा रिकार्ड

वोडाफोन आइडिया ने इंडस-इंफ्राटेल विलय के पूरा होने पर इंडस टावर्स में अपनी 11.15 प्रतिशत हिस्सेदारी से कमाई करने की योजना बनाई है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 1 July 2020 10:30 AM GMT

Vodafone को झटका: हुआ करोड़ों का नुकसान, टूटा घाटे का सबसे बड़ा रिकार्ड
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: वोडाफोन आईडिया देश की तीसरी सबसे बड़ी दूरसंचार कंपनी है। बुधवार को वोडाफोन आइडिया ने कहा कि उच्चतम न्यायालय द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार उसकी शुद्ध हानि 73,878 करोड़ रुपये रही। यह किसी भी भारतीय कंपनी को हुई अब तक की सबसे बड़ी वार्षिक हानि है। यह घाटा कम्पनी का सांविधिक बकाए का प्रावधान करने के बाद मार्च 2020 को समाप्त वित्त वर्ष के दौरान का है।

न्यायालय ने दूरसंचार कंपनीयों को दिया था ये आदेश

बता दें कि न्यायालय ने आदेश दिया था कि सांविधिक बकाए की गणना में गैर-दूरसंचार आय को भी शामिल किया जाएगा, जिसके बाद कंपनी को 51,400 करोड़ रुपये चुकाने हैं। कंपनी ने कहा कि इस देनदारी के कारण कंपनी का कामकाम जारी रहने को लेकर गंभीर संदेह पैदा हुए।

वोडाफोन आइडिया को हुए लगातार घाटे

वोडाफोन आइडिया (वीआईएल) ने शेयर बाजार को बताया कि मार्च तिमाही के दौरान उसका शुद्ध नुकसान 11,643.5 करोड़ रुपये रहा, जो एक साल पहले की समान तिमाही के दौरान 4,881.9 करोड़ रुपये था और अक्टूबर-दिसंबर 2019 तिमाही में 6,438.8 करोड़ रुपये था।

कंपनी ने यह भी बताया कि मार्च 2020 तिमाही के दौरान परिचालन से आय 11,754.2 करोड़ रुपये रही। बीते वित्त वर्ष के दौरान कंपनी को 73,878.1 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ। वोडाफोन आइडिया को वित्त वर्ष 2018-19 के दौरान 14,603.9 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ था।

ये भी देखें: यूपी में Alert: 2 जुलाई तक भारी बारिश की चेतावनी जारी, रहें सावधान

कस्टमर संख्या में भारी गिरावट

कंपनी के घाटे का सबसे बड़ा कारण सब्सक्राइबर बेस का कम होना भी है जो कम होकर मार्च तिमाही में 291 मिलियन हो गया। दिसंबर में यह 304 मिलियन था। एजीआर बकाए पर कंपनी ने कहा कि उसने कुल 46,000 करोड़ रुपए की अनुमानित देनदारी को मान्यता दी है।

गौरतलब है कि वोडाफोन आइडिया ने इंडस-इंफ्राटेल विलय के पूरा होने पर इंडस टावर्स में अपनी 11.15 प्रतिशत हिस्सेदारी से कमाई करने की योजना बनाई है। कंपनी ने कहा कि अपने समग्र प्रदर्शन पर महामारी का सामग्री पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है, लेकिन यह स्थिति पर बारीकी से नजर बनाये हुए है।

ये भी देखें: बिना मास्क पर पुलिसिया कहरः सपा नेता की दहशत में निकल गई जान

Newstrack

Newstrack

Next Story