Top

क्या देश में लग सकता है संपूर्ण लॉकडाउन, जानें क्या है तैयारी

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मामलों ने देश को एक बार फिर लॉकडाउन की तरफ ढकेल दिया है।

Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad MishraBy Raghvendra Prasad Mishra

Published on 3 May 2021 9:46 AM GMT

क्या देश में लग सकता है संपूर्ण लॉकडाउन, जानें क्या है तैयारी
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली। कोरोना के बढ़ते संक्रमण के मामलों ने देश को एक बार फिर लॉकडाउन की तरफ ढकेल दिया है। हालांकि इस बार केंद्र सरकार ने लॉकडाउन लगाने का जिम्मा राज्य सरकारों को सौंप दिया है। कोरोना संक्रमण से देश के सभी राज्य प्रभावित है। राज्य अपने हिसाब से पाबंदियां लगाकर इस महामारी को थामने की कोशिश कर रहे हैं। कुछ शहरों पर लॉकडाउन लगाया गया है तो कुछ जगहों पर नाइट कर्फ्यू जारी है। बावजूद इसके संक्रमण के मामले बढ़ते जा रहे हैं। ऐसे में सोशल मीडिया पर देशभर में संपूर्ण लॉकडाउन लगाने की बात तैर रही है। जबकि केंद्र सरकार के अधिकारियों का ऐसी किसी बात की जानकारी होने से इनकार है। अधिकारियों का कहना है लॉकडाउन लगाने का केंद्र सरकार का कोई प्लान नहीं है।

अधिकारियों ने बताया कि कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य सरकारों को पाबंदियां बढ़ाने के लिए कहा गया है। बता दे कि राज्य सरकारें संक्रमण के मामलों को देखते हुए अपने—अपने हिसाब से पाबंदियां लगा रहे हैं। लेकिन इसके बाद भी मामलों में लगातार इजाफा जारी है। अस्पताल फुल चल रहे हैं। देश में आक्सीजन की घोर समस्या बनी हुई है। राज्य सरकारें भी पाबंदियों को धीरे—धीरे करके और सख्त करती जा रही हैं। देश के अब तक करीब 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में कोरोना कर्फ्यू और लॉकडाउन जैसी बंदिशें लागू की जा चुकी है।

Also Read:यूपी में आंशिक लॉकडाउन दो दिन बढ़ा, हाईकोर्ट ने संपूर्ण लॉकडाउन कहा है

सुप्रीम कोर्ट ने भी विचार करने को कहा

बता दें कि इलाहाबाद हाई कोर्ट के बाद सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र व राज्य सरकारों से सख्त लॉकडाउन लगाने पर विचार करने को कह चुका है। इतना ही नहीं हेल्थ मिनिस्ट्री की तरफ से भी देश के ऐसे जिले जहां 15 प्रतिशत से अधिक पसॅजिटिव रेट है, वहां लॉकडाउन लगाने का सुझाव दिया गया है। वहीं स्वास्थ्य मंत्रालय के अधिकारियों तथा कोरोना टास्क फोर्स की तरफ से भी बढ़ते मामलों पर चिंता जताई गई है।

मजदूरों का पलायन जारी

फिलहाल लोगों के मन में लॉकडाउन लगाए जाने की बात घर कर गई है। क्योंकि दूसरे शहरों में काम करने वाले मजदूर पिछली बार के भुगतभोगी रह चुके हैं। इसलिए इस बार ऐसे अधिकतर लोग अपने गांव व शहरों में आ चुके हैं। लोगों को यह अंदेशा सता रहा है कि केंद्र सरकार पिछली बार की तरह इस बार भी अचानक लॉकडाउन लगाने का एलान कर सकती है।

Also Read:कोरोना कहर: SC का निर्देश, लॉकडाउन पर विचार करें केंद्र-राज्य सरकारें


Raghvendra Prasad Mishra

Raghvendra Prasad Mishra

Next Story