भारत का ‘सबसे धनी’ ऑफिसर: इनकी सैलरी और सुविधा, आपको कर देगी हैरान

सरकारी अफसर बनने के लिए काफी मेहनत करनी पडती है। लेकिन क्या आपको पता है कि इस पद पर आने के बाद एक अफसर को क्या सहूलियतें और सुविधाएं मिलती हैं।

Published by Shivani Awasthi Published: January 19, 2020 | 5:16 pm
Modified: January 19, 2020 | 5:22 pm

Advantages and salary of IFS officers

लखनऊ: सरकारी अफसर बनने के लिए काफी मेहनत करनी पडती है। दिन रात पढ़ना होता है लेकिन क्या आपको पता है कि इस पद पर आने के बाद एक अफसर को क्या सहूलियतें और सुविधाएं मिलती हैं। यकीन मानिए कि एक सरकारी अफसर होने के फायदे जानकार आप हैरान हो जायेंगे।

भारत में ज्यादातर मां-बाप अपने बच्चों के अफसर बनने का सपना देखते हैं। सरकारी पद पाने को लेकर बड़ी-बड़ी कोचिंग, मेहनत और लगन से पढ़ाई करने के लिए प्ररित करते हैं। इन्हीं सरकारी अफसरों में से एक पद होता है IFS का। एक IFS अफसर को उसकी जिम्मेदारी जितनी ही सुविधाएँ मिलती है।

चलिए पहले जानते हैं क्या होता है IFS अफसर:

आईएफएस का मतलब होता है ‘इंडियन फॉरेन सर्विस’ (Indian Foreign Service), यानी अपने देश और दूसरे देश से जो लेन देन होता है या फिर जो समस्यां होती हैं, उन्हें कण्ट्रोल करने की जिम्मेदारी एक आईएफएस अफसर निभाता है।

ये भी पढ़ें: अफसरों के चयन पर रेलवे ने लगाई रोक, सिविल सेवा में इस बार 300 सीटें होगी कम

आईएफएस की योग्यता

आईएफएस ऑफिसर बनने के लिए आपके पास कुछ योग्यता होना चाहिए।

स्टूडेंट को इंडिया नेपाल या भूटान का होना चाहिए।

किसी भी कॉलेज से ग्रेजुएशन पास करे और अच्छे अंक लाये।

आपका ग्रेजुएशन किसी भी स्ट्रीम से होना चाहिए।

उम्र कम से कम 21 साल से 32 साल होनी चाहिए।

ये भी पढ़ें:UPSC मेन्स का रिजल्ट घोषित: यहां ऐसे देखें अपना परिणाम, इंटरव्यू 27 से

अफसर को मिलती हैं ये सुविधाएँ:

एक आईएफएस अफसर को उतनी ही सुविधाएँ मिलती हैं, जितनी की बाकी की प्रशासनिक सेवाओं में मिलती हैं। इसमें वेतन के साथ ही रहने के लिए घर, फर्नीचर, रसोईया और धोबी भी मिलता है। ये सारी सुविधाएं सरकार की तरफ से दी जाती हैं।

बिजली-पानी फ्री, गाड़ी का नम्बर प्लेट अलग:

इसके अलावा इन्हें पानी और बिजली की भी सुविधा मिलती है। 50000 यूनिट तक फ्री बिजली ये यूज़ कर सकते हैं और इनको पानी का बिल भी नहीं चुकाना पड़ता। आईएफएस ऑफिसर की गाड़ी का नम्बर प्लेट नीला होता है। इस तरह का नम्बर प्लेट किसी ओर को नहीं मिलता। इनकी नंबर प्लेट अन्य दूसरे ऑफिसर्स से अलग होती है। इस नम्बर प्लेट से पता चलता है कि गाड़ी विशेष है औऱ किसी डिपलोमेट की है।

ये भी पढ़ें: CBSE Exam 2020: 10वीं और12वीं के छात्र यहां से डाउनलोड करें एडमिट कार्ड

हवाई यात्राओं में बड़ी सहूलियत:

इसके अलावा अफसरों को किसी से भी बात करने और कहीं भी जाने की सुविधा मिलती है। जहां अन्य ऑफिसर के पास हवाई यात्रा के 34 एयर टिकट होते है, वहीं IFS अफसरों के लिए कोई गिनती नहीं होती। ये कभी भी किसी भी देश आ जा सकते हैं।

IFS की सैलेरी:

एक आईएफएस ऑफिसर की सैलरी काफी अच्छी होती है। वहीं सरकारी नौकरी होने के चलते वेतन बढ़ता भी रहता है। अन्य सुविधाओं के अलावा सैलरी की तौर पर उन्हें लगभग 80 हजार से 2 लाख रुपये तक मिल सकती है।

ये भी पढ़ें: दिल्ली चुनाव जीतने की तैयारी में CM केजरीवाल, इस कदम से मिलेगा वोटर्स का साथ

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App