कोरोना इफेक्ट: सीबीएसई कर रहा कुछ ऐसा काम, टीचर-छात्र दोनों खुश

अगले साल जो छात्र कक्षा 12वीं में प्रवेश लेंगे, उनके लिए राहत की खबर है. दरअसल मानव संसाधन विकास (HRD) मंत्री रमेश पोखरियाल ने बताया कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) अगले साल की कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा के लिए सेलेबस में कमी करेगा।

नई दिल्ली अगले साल जो छात्र कक्षा 12वीं में प्रवेश लेंगे, उनके लिए राहत की खबर है। दरअसल मानव संसाधन विकास  मंत्री रमेश पोखरियाल ने बताया कि केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अगले साल की कक्षा 12वीं की बोर्ड परीक्षा के लिए सेलेबस में कमी करेगा। ऐसा इसलिए किया जा रहा है क्योंकि लॉकडाउन के कारण शिक्षकों को छात्रों को पढ़ाने का समय कम हो गया है। कोरोना वायरस के कारण स्कूल 16 मार्च 2020 से बंद कर दिए गए हैं। ऐसे में स्कूलों को बंद हुए एक महीने से ज्यादा का वक्त हो चुका है। शिक्षक आमतौर पर कक्षा 12वीं के सेलेबस को दिसंबर तक पूरा करने का लक्ष्य रखते हैं, लेकिन छात्रों और शिक्षकों ने एक महीने का समय गंवा दिया है।

 

यह पढ़ें…एशिया के सबसे छोटे बच्चे की कोरोना वायरस से मौत, मचा हड़कंप

 

पोखरियाल ने कहा कि सीबीएसई ने ‘पाठ्यक्रम समितियों’ को अगले साल होने वाली परीक्षाओं के लिए सेलेबस कम करने के लिए काम शुरू करने का निर्देश दिया है। वहीं प्रवेश परीक्षा कैलेंडर को लेकर उन्होंने कहा, जैसा कि लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है ऐसे में, जेईई मेन अब जून में आयोजित किया जाएगा। परीक्षा किस तारीख को आयोजित की जाएगी इसके बारे में अभी नहीं कहा जा सकता है।

पोखरियाल ने यह भी कहा कि निजी स्कूलों को “कठिन परिस्थितियों” के मद्देनजर बढ़ी हुई फीस नहीं लेनी चाहिए। निजी स्कूलों को यह सलाह दी जाती है कि वे बढ़े हुए वार्षिक शुल्क न लें… साथ ही, तीन महीने तक एक साथ फीस न लें। इसके अलावा, स्कूलों को कर्मचारियों को समय पर वेतन दें।

 

यह पढ़ें..लॉकडाउन: धार्मिक नेता के जनाजे में उमड़ी भीड़, तसलीमा नसरीन ने खड़े किए सवाल

 

 

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App