Top
TRENDING TAGS :Coronavirusvaccination

शिक्षक करें सुधार: पढ़ाने के लिए उठाने पड़ेंगे ये कदम, स्किल को करें सही

करियर में तरक्की करने के लिए मेहनत और लगन की जरूरत होती है। किसी भी क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए उससे संबंधित स्किल्स का होना जरूरी।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 3 July 2020 11:33 AM GMT

शिक्षक करें सुधार: पढ़ाने के लिए उठाने पड़ेंगे ये कदम, स्किल को करें सही
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

करियर में तरक्की करने के लिए मेहनत और लगन की जरूरत होती है। किसी भी क्षेत्र में आगे बढ़ने के लिए उससे संबंधित स्किल्स का होना जरूरी। किसी भी करियर में स्किल या हुनर का बहुत महत्व होता है। कोई पेशा हो या नौकरी, आपको अपने हुनर में लगातार इजाफा करते रहना चाहिए। पढ़ाई या ट्रेनिंग के बाद ये नहीं सोच लेना चाहिए कि आगे उसी पढ़ाई के भरोसे काम जारी रहेगा। दुनिया में लगातार हर क्षेत्र में बदलाव आते रहते हैं और इसी के अनुरूप अपने को भी मांझना जरूरी होता है।

ये भी पढ़ें:फेसबुक बंद करेगा टिकटॉक जैसा ऐप, अब Instagram में लॉन्च किया ऐसा ही फीचर

टीचिंग के लिए स्किल

धैर्यवान होना बहुत जरूरी :

कई छात्र ऐसे होते हैं, जिनको एक बार में समझाने पर सब समझ आ जाता है। वहीं कई ऐसे भी होते हैं, जिनको एक चीज कई बार समझानी पड़ती है। इसलिए शिक्षकों में धैर्य होना चाहिए।

कम्युनिकेशन स्किल :

शिक्षण एक ऐसा प्रोफेशन है जिसमें आपकी कम्यूनिकेशन स्किल इतनी अच्छी होनी चाहिए कि छात्रों को एक बार में आपकी बात समझ में आ जाए। शिक्षक को पता होना चाहिए कि उसे किस छात्र से कैसे बात करनी है। बिना इसके आप उन्हें अच्छी तरह नहीं पढ़ा पाएंगे।

स्व अनुशासन :

शिक्षक के लिए अनुशासित होना बहुत जरूरी है। छात्रों को अनुशासन तभी सिखाया जा सकता है जब आप खुद उसका पालन करेंगे। हमेशा खुद भी अनुशासन में रहें और छात्रों को भी सिखाएं।

क्रिएटिविटी :

सभी बच्चे अलग-अलग होते हैं और सभी के सोचने और समझने का तरीका भी अलग होता है। शिक्षक को इस बात का ध्यान रखकर नए-नए तरीके सोचने होंगे। उन्हें सोचना होगा कि किस तरीके से किस छात्र को और बेहतर समझाया जा सकता है, जिसके लिए क्रिएटिव होना जरूरी है।

टाइम मैनेजमेंट :

शिक्षकों में टाइम मैनेजमेंट स्किल होनी चाहिए। उनके पास समय कम होता है और उसी समय में सिलेबस पूरा करना होता है और उसके बाद रिवीजन भी कराना होता है, इसिलए अगर आप समय को सही से मैनेज नहीं करेंगे तो काम नहीं कर पाएंगे।

बेहतर सुपरवाइजर बनिए

कम्युनिकेशन स्किल :

किसी भी प्रोफेशन की तरह एक सुपवाइजर के तौर पर काम करने के लिए आपकी कम्युनिकेशन स्किल बहुत अच्छी होनी चाहिए। आप लोगों को काम करने के लिए निर्देश देते हैं, इसलिए आपकी बातचीत का तरीका सही होना चाहिए ताकि सामने वाले को आपकी बात एक बार में समझ आए। इसके साथ ही अगर आपकी कम्युनिकेशन स्किल अच्छी होगी तो आप अपने आईडिया को लोगों को आसानी से समझा पाएंगे, इसलिए इसे अच्छा करने पर ध्यान दें।

सही निर्णय :

सुपरवाइजर के पद पर काम करने वाले को कई अहम फैसले लेने होते हैं, जो उनकी टीम और कंपनी के लिए फायदेमंद साबित हो सकें। इस बात का ध्यान रखते हुए आपको डिसिजन मेंकिंग स्किल पर अधिक ध्यान देना चाहिए और सीखना चाहिए कि कठिन से कठिन परिस्थितियों में किस प्रकार निर्णय लिए जाएं।

नई चीजों को अपनायें :

आपको नई-नई चीजें और तरीकों को अपनाने की आदत डालनी चाहिए। समय के साथ-साथ काम करने के तरीके भी बदल रहे हैं और सभी लोग अलग-अलग तरीके से काम करते हैं इसलिए नई-नई चीजों को अपनाएं और उसके अनुसार काम करने की आदत डालें।

टाइम मैनेजमेंट :

किसी भी काम को अच्छी तरह से करने के लिए आपको समय का सही उपयोग करना आना चाहिए। वहीं एक सुपवाइजर के लिए तो टाइम मैनेजमेंट स्किल को अच्छा करना बहुत जरूरी है क्योंकि उन्हें एक साथ कई काम करने होते हैं और उसके लिए उनके पास समय भी कम होता है। इसलिए समय को मैनेज करना सीखें।

ये भी पढ़ें:गरजे पीएम मोदी: सैनिकों के पराक्रम का किया बखान, जवानों में भी दिखा जोश

सकारात्मक सोच :

एक सुपवाइजर को हमेशा सकारात्मक सोच रखनी चाहिए। अगर आप सकारात्मक नहीं सोचेंगे तो अपनी टीम को कैसे प्रोत्साहित करेंगे, इसलिए हमेशा सकारात्मक सोच को बढ़ावा दें।

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Newstrack

Newstrack

Next Story