Top

इस बड़े बजट की फिल्म पर लग सकता है ब्रेक, शूटिंग पूरी होने से पहले ही केस दर्ज

दरअसल ये मूवी कहानी की किताब 'द माफिया क्वीन ऑफ मुंबई' पर बेस्ड है। इस किताब के रायटर हुसैन जैदी हैं। इस किताब में जेन बोर्गिस की ओरिजिनल रिसर्च के आधार पर बातें लिखी गई हैं।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 26 Dec 2020 8:11 AM GMT

इस बड़े बजट की फिल्म पर लग सकता है ब्रेक, शूटिंग पूरी होने से पहले ही केस दर्ज
X
बाबूजी रावजी ने याचिका दायर कर कोर्ट से कहा है कि यह किताब उनके निजी मामलों में हस्तक्षेप करती है। इस मामले में 20 दिसम्बर को बॉम्बे सिविल कोर्ट में उनके द्वारा केस दर्ज करवाया गया था।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

मुंबई: संजय लीला भंसाली की फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी शूटिंग पूरी होने से पहले ही विवादों में घिर गई है। मामला कोर्ट कचहरी तक जा पहुंचा है।

आलिया भट्ट स्टारर संजय लीला भंसाली की फिल्म गंगूबाई काठियावाड़ी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया है। ये मुकदमा गंगूबाई काठियावाड़ी के बेटे बाबूजी रावजी शाह की तरफ से किया गया है।

बाबूजी का ये केस संजय लीला भंसाली, आलिया भट्ट, भंसाली प्रोडक्शन, लेखक हुसैन जैदी और रिपोर्टर जेन बोर्गिस के नाम पर किया है। उन्होंने कोर्ट से भंसाली फिल्म की शूटिंग रोकने की मांग की है।

30 की उम्र में करने जा रही 50 वीं फिल्म, ऋतिक की इस फिल्म में थी चाइल्ड एक्ट्रेस

gangu इस बड़े बजट की फिल्म पर लग सकता है ब्रेक, शूटिंग पूरी होने से पहले ही केस दर्ज (फोटो:सोशल मीडिया)

जैदी की किताब पर आधारित है कहानी

दरअसल ये मूवी कहानी की किताब 'द माफिया क्वीन ऑफ मुंबई' पर बेस्ड है। इस किताब के रायटर हुसैन जैदी हैं।

इस किताब में जेन बोर्गिस की ओरिजिनल रिसर्च के आधार पर बातें लिखी गई हैं।

खबरों के मुताबिक गंगूबाई के बेटे बाबूजी ने इस किताब को मानहानिकारक बताया है। यहां तक की उन्होंने पेज 50 से 69 तक के भाग को गलत ठहराया है।

बाबूजी का क्या कहना है?

बाबूजी ने याचिका दायर कर कोर्ट से कहा है कि यह किताब उनके निजी मामलों में हस्तक्षेप करती है। इस मामले में 20 दिसम्बर को बॉम्बे सिविल कोर्ट में उनके द्वारा केस दर्ज करवाया गया था।

उन्होंने किताब के कुछ चैप्टर को हटाने और भंसाली की फिल्म की शूटिंग को रोकने की मांग की है। साथ ही उन्होंने किताब की प्रिंटिंग और बिक्री पर भी रोक लगाने की मांग की है।

22 दिसंबर को कोर्ट में इस मामले की सुनवाई हुई और बॉम्बे सिविल कोर्ट ने 7 जनवरी तक का समय भंसाली को जवाब दाखिल करने के लिए दिया है।

इंडियन वंडर वुमन: 81 साल की मां ने साड़ी पहनकर किया पुशअप्स, अब छा गई

Court कोर्ट की प्रतीकात्मक फोटो(सोशल मीडिया)

फिल्म की वजह से गंगूबाई के परिवार और रिश्तेदारों को हो रही परेशानी

वहीं बाबूजी रावजी शाह के एडवोकेट नरेंद्र दुबे ने एक इंटरव्यू में कहा कि वह संजय लीला भंसाली, आलिया भट्ट और अन्य के खिलाफ मानहानि, महिला के गलत प्रस्तुतीकरण और अन्य मामलों में मुकदमा दर्ज करा सकते हैं।

दुबे ने बताया, ''जब से फिल्म का प्रोमो सामने आया है, गंगूबाई के परिवार को लेकर तमाम तरह की अफवाहें उड़नी शुरू हो गई हैं और बाबूजी रावजी को परेशान किया जा रहा है।

उनका पैर तक तोड़ दिया गया।उनके रिश्तेदारों को भी तंग किया जा रहा है और उन्हें वेश्या के परिवार के लोग कहकर सम्बोधित किया जा रहा है। इससे उनका पूरा परिवार बेहद दुखी है।

फ्लाइट में अमीषा के साथ हुआ ऐसा, भावुक हो कर बोली कहो न प्यार

Newstrack

Newstrack

Next Story