अनुपम खेर ने बाॅलीवुड में पूरे किए 36 साल, जानिए उनकी बेस्ट फिल्मों के बारे में

अनुपम खेर ने एक्टिंग की दुनिया में 36 साल पूरे कर लिए हैं। उन्होंने बॉलीवुड और हॉलीवुड की कई फिल्मों में काम किया है। उन्होंने 80 के दशक में अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी। वे अब तक नेगेटिव, ग्रे शेड्स, पॉजिटिव, कॉमिक और कई तरह के रोल्स अपने करियर में निभा चुके हैं।

Published by suman Published: May 26, 2020 | 8:59 am
Modified: May 26, 2020 | 9:06 am

मुंबई : अनुपम खेर ने एक्टिंग की दुनिया में 36 साल पूरे कर लिए हैं। उन्होंने बॉलीवुड और हॉलीवुड की कई फिल्मों में काम किया है। उन्होंने 80 के दशक में अपने फिल्मी करियर की शुरुआत की थी। वे अब तक नेगेटिव, ग्रे शेड्स, पॉजिटिव, कॉमिक और कई तरह के रोल्स अपने करियर में निभा चुके हैं। अनुपम खेर की पहली फिल्म सारांश थी जो 25 मई, 1984 में रिलीज हुई थी। फिल्म का निर्देशन महेश भट्ट ने किया था।  उन्होंने बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड तक में अपनी सफलता का परचम लहराया है।जानते हैं कैरेक्टर एक्टर के तौर पर लोकप्रियता हासिल कर चुके अनुपम खेर के यादगार रोल्स के बारे में…

 

सारांश
अपनी पहली ही फिल्म में अनुपम खेर ने एक बूढ़े इंसान के रोल से लोगों की प्रशंसा हासिल की थी। महेश भट्ट ने इस फिल्म को डायरेक्ट किया था। अनुपम ने इस फिल्म में प्रधान की भूमिका निभाई थी और उनकी जीवन में दिक्कतें तब शुरू हुई थी जब अमेरिका में रहने वाले उनके बेटे की मौत हो जाती है। अपनी पहली ही फिल्म में एक बूढ़े शख्स का यादगार रोल निभाकर अनुपम कई स्टीरियोटाइप्स तोड़ने में कामयाब रहे थे।

 

डैडी
अनुपम खेर ने इस फिल्म में आनंद की भूमिका निभाई थी। एक अनाथ लड़की की भूमिका निभा रही पूजा को पता चलता है कि उसके असली पिता आनंद है। ये कहानी पिता और बेटी के रिलेशनशिप पर है। इस फिल्म के साथ ही पूजा भट्ट ने अपने करियर की शुरुआत की थी। अनुपम को इस इमोशनल रोल के लिए काफी तारीफ हुई  थी।

यह पढ़ें…कोरोना पॉजिटिव होने पर भी इन मरीजों से खतरा नहीं, सिंगापुर के अध्ययन में खुलासा

 

 

मैंने गांधी को नहीं मारा
अनुपम खेर को इस फिल्म के लिए नेशनल अवॉर्ड्स का स्पेशल ज्यूरी अवॉर्ड मिला था। ये फिल्म एक ऐसे शख्स के बारे में है जिसे लगता है कि उसने महात्मा गांधी की हत्या की है। अनुपम खेर ने इस फिल्म को अपने करियर की बेस्ट फिल्म बताया था।

 खोसला का घोंसला
इस फिल्म में अनुपम खेर ने एक मिडिल क्लास शख्स खोसला का किरदार निभाया है जो अपनी जिंदगी भर की पूंजी लगाकर प्रॉपर्टी खरीदता है लेकिन खुराना नाम का शख्स इसे हड़प लेता है। इस फिल्म का निर्देशन दिबाकर बनर्जी ने किया था।

 

यह पढ़ें…नोबेल विजेता की सलाह, हर भारतीय को हर महीने इतने हजार दे सरकार

 

दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगे
शाहरुख और काजोल स्टारर इस फिल्म में अनुपम खेर ने एनआरआई शाहरुख के कूल पिता का किरदार निभाया। ये फिल्म बॉक्स ऑफिस की सबसे सफल फिल्मों में शुमार की जाती है। इस फिल्म में शाहरुख और अनुपम की केमिस्ट्री को काफी पसंद किया गया था।

 

 ए वेडनसडे
इस फिल्म में अनुपम खेर ने एक पुलिस कमिश्नर की भूमिका निभाई थी जो एक ऐसे आदमी से डील कर रहा है जिसने दावा किया है कि उसने शहर में बॉम्ब लगाए हुए हैं। अनुपम खेर ने एक जुझारू कमिश्नर के तौर पर दर्शकों को काफी प्रभावित किया था। ये फिल्म नीरज पांडे के करियर की पहली फिल्म थी और उन्होंने डेब्यू के साथ ही अपना जलवा दिखा दिया था।

कर्मा
इस फिल्म में अनुपम खेर ने डॉ माइकल डैंग का किरदार निभाया था। ये अनुपम खेर के करियर का सबसे यादगार नेगेटिव रोल माना जाता है। इस फिल्म में दिलीप कुमार ने भी अहम रोल निभाया था।  उन्होंने इस फिल्म में राणा विश्वप्रताप नाम के जेलर की भूमिका निभाई थी।