Top

असल विलेन अर्जुन रामपाल: बुरे फंस गए ये दिग्गज एक्टर, ताबड़तोड़ एक्शन जारी

अर्जुन रामपाल ने शाहरुख खान की फिल्म ओम शांति ओम में नेगेटिव किरदार से बॉलीवुड में अपनी जगह बनाई तो शायद ही किसी ने सोचा होगा कि एक दिन उनका नाम बॉलीवुड के ड्रग रैकेट से जोडा जाएगा।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 9 Nov 2020 12:45 PM GMT

असल विलेन अर्जुन रामपाल: बुरे फंस गए ये दिग्गज एक्टर, ताबड़तोड़ एक्शन जारी
X
एनसीबी से जुड़े सूत्रों के अनुसार अर्जुन रामपाल और पॉल बार्टल से आमने सामने बैठाकर एनसीबी अब सवाल जवाब करने जा रही है। उसे अंदेशा है कि इस मामले में बॉलीवुड से जुड़े कुछ और लोग भी शामिल हो सकते हैं।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

लखनऊ। पंजाबी पिता और डच मां की संतान अर्जुन रामपाल ने शाहरुख खान की फिल्म ओम शांति ओम में नेगेटिव किरदार से बॉलीवुड में अपनी जगह बनाई तो शायद ही किसी ने सोचा होगा कि एक दिन उनका नाम बॉलीवुड के ड्रग रैकेट से जोडा जाएगा। इस खबर से पंजाबी मुंडों के साथ ही उन जबलपुर वासियों के भी दिल टूट गए होंगे जो अर्जुन रामपाल को अपने घर का छोरा मानते हैं और उसकी हर ि‍फल्‍म को देखने के लिए सिनेमाघरों में टूट पडते हैं। मध्‍यप्रदेश के जबलपुर संस्‍कारधानी में जन्‍म लेने वाले अर्जुन रामपाल ने तमिलनाडु के कोडाईकनाल के स्‍कूल से अपनी पढाई पूरी की है।

ये भी पढ़ें...बम धमाके से हिला देश: दर्जनों की मौत आतंकियों के भयानक हमले से, चुप है सरकार

जबलपुर का बेटा अर्जुन रामपाल

अर्जुन रामपाल ने दिल्‍ली के हिन्‍दू कॉलेज से भी पढाई पूरी की है इसलिए उनका दिल्‍ली से भी गहरा नाता है। मोहब्‍बतें ि‍फल्‍म से चर्चा में आने वाली बॉलीवुड अभिनेत्री किम मिशेल शर्मा उनकी रिश्‍ते की बहन हैं। अर्जुन का पारिवारिक बैकग्राउंड सेना से संबंधित है।

अर्जुन के दादा ब्रिगेडियर गुरुदयाल सिंह एक इंजीनियर थे। जिन्होंने आजादी के बाद भारतीय सेना के लिए पहली तोपखाने वाली बंदूक बनाने में महत्वपूर्ण योगदान दिया था। उनकी मां ग्‍वेन रामपाल स्‍कूल शिक्षिका थीं। जबलपुर में हालांकि अर्जुन रामपाल का ि‍फलहाल कोई ऐसा दोस्‍त नहीं रहता है जिसका बचपन उनके साथ बीता हो लेकिन जबलपुर में उनके फैंस की तादाद बहुत है।

arjun rampal फोटो-सोशल मीडिया

उनकी शुरुआती शिक्षा ही कोडाईकनाल के इंटरनेशनल स्‍कूल से हुई है। यही वजह है कि उनके साथ पढाई पूरी करने वाला कोई भी जबलपुर में नहीं मिलता लेकिन उनकी हर ि‍फल्‍म का पहला शो देखने वाले अर्जुन रामपाल फैंस क्‍लब के संस्‍थापक जबलपुर के पान दुकानदार बलजीत कहते हैं कि पूरा जबलपुर अर्जुन रामपाल को अपना बेटा मानता है।

ये भी पढ़ें...यूपीः सीएम योगी आदित्यनाथ ने की अनलॉक व्यवस्था की समीक्षा

अर्जुन का ड्रग्‍स के साथ कनेक्‍शन

हम लोग यह मानने को तैयार नहीं हैं कि अर्जुन का ड्रग्‍स के साथ कोई कनेक्‍शन हो सकता है। यह खबर ही हम लोगों के लिए बडे सदमे से कम नहीं है। अगर इसमें जरा भी सच्‍चाई हुई तो हमें अपना फैंस क्‍लब ही बंद करना होगा।

अर्जुन के एक समर्थक देवेश ने सोशल मीडिया पर बताया है कि अर्जुन रामपाल ने कोडाईकनाल जाने से पहले देवलाली के सेंट पैट्रिक स्‍कूल में पढाई की है। उसी स्‍कूल में अर्जुन की मां भी शिक्षिका थीं। तब उनके साथ पढाई पूरी करने वालों का कोई अता –पता ही नहीं है।

arjun rampal फोटो-सोशल मीडिया

बीस साल पहले पिफल्‍म प्‍यार इश्‍क और मोहब्‍बत से अभिनय जीवन की शुरुआत करने वाले अर्जुन रामपाल को पहली कमर्शियल सफलता साल 2007 में आई फिल्म 'ओम शांति ओम' से मिली थी।

ये भी पढ़ें...ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट के बाद विराट कोहली Paternity Leave पर लौट आएंगे घर

फैंस खासे निराश दिख रहे

इस फिल्म के बाद अर्जुन रामपाल के करियर को नई गति मिली साल 2008 में आई फिल्म रॉक ऑन से। इस ि‍फल्‍म में अर्जुन रामपाल की एक्टिंग को सराहा गया। इस फिल्म के लिए अर्जुन रामपाल को नेशनल अवॉर्ड के साथ ही फिल्म फेयर अवॉर्ड भी मिला लेकिन अब ड्रग डीलिंग में उनका नाम जुडने से फैंस खासे निराश दिख रहे हैं।

फैंस का मानना है कि विलेन का अभिनय करने वाले अर्जुन का वाकई ड्रग डीलिंग से रिश्‍ता है तो उन्‍होंने अपनी असली जिंदगी को भी खलनायक बना डाला है। जैसे ि‍फल्‍म में विलेन अंत में जमकर पीटा जाता है और उसे जेल की सलाखों के पीछे धकेल दिया जाता है वैसा ही रामपाल के साथ ही होना चाहिए।

ये भी पढ़ें...मिशन शक्ति अभियान: डीएम-सीडीओ की अच्छी पहल, महिलाओं का किया सम्मान

रिपोर्ट- अखिलेश तिवारी

Newstrack

Newstrack

Next Story