बॉलीवुड के गॉड फादर: देव आनंद ने इन एक्टर्स को दिया मौका, सभी रहे सुपर हिट

बॉलीवुड के सदाबहार अभिनेता देव आनंद का जन्म 26 सितंबर 1923 में हुआ था। हिंदी फिल्मों में देव आनंद को रोमांस का बादशाह कहा जाता था।

devanand

devanand (file pic )

बॉलीवुड के सदाबहार अभिनेता देव आनंद का जन्म 26 सितंबर 1923 में हुआ था। हिंदी फिल्मों में देव आनंद को रोमांस का बादशाह कहा जाता था। आज उनके जन्मदिन के मौके पर आइए जाने कैसे एक्टर ने खुद को इस मुकाम तक पहुंचाया साथ ही कई और लोगों को भी अपने साथ मिलाकर मशहूर बनाया।

गुरुदत्त

देव आनंद और गुरुदत्त दोनों ने ही एक साथ फिल्मीं दुनिया में संघर्ष करना शुरू किया था। जिसके साथ साथ दोनों अच्छे दोस्त भी बन गए थे। जिसके बाद दोनों ने मिल कर एक वादा किया था जब भी दोनों में से कोई एक आगे बढ़ जाएगा वह दूसरे की मदद करेगा। भाग्य देव आनंद के साथ निकला। इसलिए उनकी फिल्मों में एंट्री पहले हो गई। फिर देव आनंद ने अपना वादा याद रखा और गुरुदत्त को वर्ष 1951 में आई अपनी हिट फिल्म ‘बाजी’ से निर्देशन का मौका मिला । गुरुदत्त खुद भी बहुत हुनरमंद थे इसलिए आगे चलकर वह एक जबरदस्त कलाकार और निर्देशक बन कर सामने आए।

कल्पना कार्तिक

कल्पना ने भी अपने करियर की शुरुआत देव आनंद की हिट फिल्म ‘बाजी’ से की थी। इस फिल्म में कल्पना के काम को काफी पसंद किया गया। कल्पना को फिल्मों में काम करने के लिए कम और देव आनंद से शादी करने के लिए ज्यादा जाना गया। देव ने कल्पना से ‘टैक्सी ड्राइवर’ फिल्म की शूटिंग के दौरान सेट पर ही शादी कर ली थी।

साहिर लुधियानवी

साहिर लुधियानवी का नाम हिंदी सिनेमा में एक बेहतरीन गीतकारों में लिया जाता है। एक समय ऐसा था जब इन्हें भी एक बड़े मौके की तलाश थी। जो मौका उन्हें देव आनंद से मिला। देव ने साहिर को अपनी फिल्म ‘बाजी’ के गीत लिखने का मौका दिया। यहां से उन्हें लोग जानने भी लगे और आगे भी उन्हें बेहतरीन फिल्मों के लिए लिखने के ऑफर आने लगे।

राज खोसला

फिल्मों के निर्देशन में राज खोसला का बहुत बड़ा नाम रहा है। एक वक्त था जब राज खोसला को खुद देव आनंद ने ही गुरुदत्त के सहायक निर्देशक के रूप में नियुक्त किया था। जब राज खोसला ने अपनी पहली फिल्म बनाई तो उन्होंने अभिनेता के तौर पर देव आनंद को ही चुना।

जीनत अमान

अभिनेत्री जीनत अमान के करियर में भी सबसे बड़ा मौका देव आनंद की वर्ष 1971 में आई फिल्म ‘हरे रामा हरे कृष्णा’ लेकर आई। इस फिल्म के पहले वह जिस भी फिल्म में काम कर चुकी हैं सभी फ्लॉप साबित हुई थी। जिसके बाद उन्होंने हिंदी फिल्म इंडस्ट्री को छोड़ने का फैसला कर लिया था  लेकिन, उसी समय देव आनंद ने उन्हें अपनी इस फिल्म में लिया जिसके बाद उनकी जिंदगी बदल गई। बाद में वह अपने समय की सबसे बड़ी अभिनेत्रियों में से एक कहलाईं।

विजय आनंद

बाहरी लोगों को तो देव आनंद ने खूब मौके दिए ही अपने भाई विजय आनंद के साथ भी इनकी जोड़ी खूब चमकी। विजय आनंद अभिनेता भी कमाल के रहे हैं। 1957 में आई फिल्म ‘नौ दो ग्यारह’ में विजय ने मुख्य भूमिका निभाई साथ ही फिल्म का निर्माण भी किया। बाद में इन दोनों की टीम ने गाइड, ज्वेल थीफ और जॉनी मेरा नाम जैसी ब्लॉकबस्टर फिल्में दीं।

यह पढ़ें…गंगा में मिली खतरनाक मछली, वैज्ञानिकों को सता रहा बड़ा डर, ये है वजह

टीना मुनीम

टीना मुनीम एक समारोह के दौरान टीना देव आनंद के पास ऑटोग्राफ लेने के लिए आईं और उसी समय देव आनंद ने टीना से फिल्मों में काम करने के लिए पूछ लिया। अच्छी बात यह रही कि टीना ने भी हां कर दी। तो, देव ने वर्ष 1978 में आई फिल्म ‘देश परदेस’ से टीना को लॉन्च कर दिया। आगे चलकर वह बहुत बड़ी अभिनेत्री बनीं।

जैकी श्रॉफ

जैकी श्रॉफ को फिल्मों का रास्ता भी देव आनंद ने ही दिखाया था। जैकी ने अपने करियर की शुरुआत 1982 में फिल्म ‘स्वामी दादा’ से की । यहां से जैकी का हुनर लोगों को पता चल गया था लेकिन इसके अगले ही साल रिलीज हुई उनकी फिल्म ‘हीरो’ ने उनको सुपरस्टार बना दिया।

यह पढ़ें…सुशांत की हुई हत्या! अब तक का सबसे बड़ा खुलासा, पिता के वकील ने बताया ये सच

तब्बू

आज भी अपने बेहतरीन अभिनय के लिए जानी जाने वाली अभिनेत्री तब्बू ने वर्ष 1982 में आई फिल्म ‘बाजार’ में एक रोल किया था। लेकिन, उनकी चर्चा शुरू हुई 1985 में आई देव आनंद की फिल्म ‘हम नौजवान’ से। इस फिल्म में अभिनय करने के लिए देव ने उन्हें एक बढ़िया किरदार दिया। यहां से ही लोगों ने तब्बू के हुनर को पहचाना।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App