तांडव के मेकर्स को सुप्रीम कोर्ट से झटका, गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इंकार

सुप्रीम कोर्ट ने ऐसी कोई राहत देने से इनकार कर द‍िया है। बता दें कि इस वेब सीरीज में द‍िखाए गए कंटेंट पर धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप है। इसके खिलाफ देश के कई राज्यों में एफआईआर दर्ज कराई गई थी।

Published by SK Gautam Published: January 27, 2021 | 6:40 pm
tandav controversy supream court

तांडव के मेकर्स को सुप्रीम कोर्ट से झटका, गिरफ्तारी पर रोक लगाने से इंकार-(courtesy-social media)

मुंबई: वेब सीरीज फिल्म तांडव के कारण उठे विवाद के कारण इसके न‍िर्देशक अली अयूब जफर एक्टअर जीशान अयूब अमेजन प्राइम और शो के मेकर्स ने सुप्रीम कोर्ट से ग‍िरफ्तारी से सुरक्षा की अपील की थी। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने ऐसी कोई राहत देने से इनकार कर द‍िया है। बता दें कि इस वेब सीरीज में द‍िखाए गए कंटेंट पर धार्मिक भावनाएं भड़काने के आरोप है। इसके खिलाफ देश के कई राज्यों में एफआईआर दर्ज कराई गई थी।

सुप्रीम कोर्ट का ग‍िरफ्तारी से सुरक्षा देने से इनकार

बता दें कि सुप्रीम कोर्ट में अमेजन और इस वेबसीरीज के मेकर्स की ओर से दाखिल याचिकाओं पर बुधवार को सुनवाई की गई। सुप्रीम कोर्ट ने एक्टनर मोहम्मद जीशान अयूब, अमेजन प्राइम वीडियो (इंडिया) और तांडव के मेकर्स को उनके ख‍िलाफ दर्ज एफआईआर में ग‍िरफ्तारी से सुरक्षा देने से इनकार कर द‍िया है। सुप्रीम कोर्ट ने अपने फैसले में अग्रिम जमानत या एफआईआर रद्द कराने के लिए हाई कोर्ट में जाने की सलाह दी है। इन याचिकाओं में अलग-अलग राज्यों में डायरेक्टर अली अब्बास जफर समेत कई लोगों के खिलाफ दर्ज FIR को रद्द किए जाने की मांग की गई है।

tandav controversy supream court-3

ये भी देखें: लाल किले पर किसानों का तांडव, जाने बॉलीवुड सेलेब्स की क्या रही प्रतिक्रिया

अंतरिम जमानत देने की अपील नामंज़ूर

जस्टिस अशोक भूषण की अध्यक्षता वाली 3 जजों की बेंच ने इस वेब सीरीज के एक्टर और निर्माताओं की ओर से उनके खिलाफ छह राज्यों में दर्ज एफआईआर को क्लब करने की मांग पर नोटिस जारी किया है। जस्टिस आरएस रेड्डी और एमआर शाह ने अंतरिम जमानत देने की अपील ठुकरा दी। इस सीरीज के र‍िलीज होने के बाद से ही इसके न‍िर्माताओं पर धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने के कई मामले दर्ज हुए हैं।

ये भी देखें: फिल्म ‘बैजू बावरा’ के लिए भारत भूषण को आज भी किया जाता है याद

अमेजन ने कहा कि हमने कुछ भी गलत नहीं दिखाया

वेब सीरीज से जुड़े लोगों की तरफ से कोर्ट में वरिष्ठ वकील लॉयर फली एस. नरीमन, मुकुल रोहतगी और सिद्धार्थ लूथरा पहुंचे थे। सर्वोच्च अदालत में अमेजन प्राइम (Amazon Prime) का पक्ष रख रहे फली एस नरीमन ने कहा ‘हमने माफी भेज दी है, लेकिन 6 राज्यों में 7 एफआईआर दर्ज की गई हैं। रोज नई एफआईआर सामने आ रही हैं।’ उन्होंने कहा, ‘इसपर आदेश जारी किया जाए और कोई कार्रवाई नहीं की जानी चाहिए।’ सुनवाई के दौरान अमेजन ने कहा कि हमने कुछ भी गलत नहीं दिखाया है। नरीमन ने कहा, ‘हमारे मुताबिक कुछ भी आपत्तिजनक नहीं था। उनके सम्मान को ठेस पहुंची इसलिए हमनें इन्हें हटा लिया। इसके बाद भी 6 राज्यों में एफआईआर दर्ज हैं।’

tandav controversy supream court-2

ये भी देखें: सिद्धार्थ ने शहनाज का मनाया बर्थडे, आधी रात एक्टर्स के साथ किया ऐसा, फैंस हैरान

वेब सीरीज से आपत्तिजनक सीन हटा द‍िए गए हैं

आपको बता दें कि लोगों के लगातार व‍िरोध और आक्रोश के बाद इस वेब सीरीज से आपत्तिजनक सीन हटा द‍िए गए हैं। साथ ही न‍िर्देशक अली अब्बाशज जफर लोगों ने उनके नाराजगी के लिए ब‍िना शर्त माफी भी मांग चुके हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और  को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App