ऐप के जरिए पहचान सकते हैं नकली नोट, ऐसे जानिए नोट नकली है या असली

अगर आपको नकली नोटों से डर लगता है तो डरने की जरूरत नहीं है। अब आप एक एप के जरिए नकली नोटों की पहचान कर सकते हैं। आईआईटी खड़गपुर में रिसर्च कर रहे छात्रों ने स्मार्टफोन पर काम करने वाला एक ऐसा ही ऐप तैयार किया है।

लखनऊ: अगर आपको नकली नोटों से डर लगता है तो डरने की जरूरत नहीं है। अब आप एक एप के जरिए नकली नोटों की पहचान कर सकते हैं। आईआईटी खड़गपुर में रिसर्च कर रहे छात्रों ने स्मार्टफोन पर काम करने वाला एक ऐसा ही ऐप तैयार किया है।

इस ऐप के जरिए नकली नोट को पहचाना जा सकता है। डिपार्टमेंट ऑफ साइंस ऐंड इंजीनियरिंग के 6 छात्रों के एक ग्रुप ने नकली नोट का पता लगाने वाले ऐप के लिए कोड विकसित किया।

यह भी पढ़ें…..रायबरेली-अमेठी से कांग्रेस कुनबे को उखाड़ फेकने का करना है काम: केशव

यह एक इमेज प्रोसेसिंग ऐप है, जिसके माध्यम से आसानी से पता लगाया जा सकता है कि नोट नकली है या असली। इसके लिए सबसे पहले फोन में यह ऐप इंस्टॉल करना होगा, इसके बाद नोट की तस्वीर खींचकर अपलोड करनी होगी।यह ऐप नोट के बैक और फ्रंट में मौजूट 25 फीचर्स की ऑथेंटिसिटी को वेरिफाई करेगा। अगर नोट के नकली है तो यूजर्स को सूचित भी करेगा।

यह भी पढ़ें…..MIG-21 एक बार फिर दुर्घटनाग्रस्त, जानिए इसे क्यों कहते हैं उड़ता ताबूत

बता दें कि केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक आॅफ इंडिया(आरबीआई) ने नकली नोटों की पहचान के लिए सिक्यॉरिटी फीचर्स भी जारी कर रखे हैं।

2000 रुपये के नोट के सिक्यॉरिटी फीचर्स
-नए नोट में पीछे की तरफ मंगलयान की तस्वीर है। यह भारत का अंतरिक्ष में महत्वपूर्ण कदम है।
-नोट का बेसिक रंग गुलाबी है। इसमें कई डिजाइन, जिओ मैट्रिक पैटर्न और कलर स्कीम हैं, जिन्हें देखा और महसूस किया जा सकता है।
-नए नोट का आकार 66*166 मिली मीटर है।

यह भी पढ़ें…..22 साल के इस युवा ने फिल्म से प्रेरणा लेकर बना दी देश की पहली मैनुअल सेनेट्री नैपकिन मशीन
-रिजर्व बैंक ने यह नोट भी महात्मा गांधी सीरीज में ही जारी किया है।
-नोट का बेसिक रंग भूरा है। इसमें पीछे की तरफ लालकिले की तस्वीर है। साथ ही कई डिजाइन, जिओ मैट्रिक पैटर्न और कलर स्कीम हैं, जिन्हें देखा और महसूस किया जा सकता है।
-नए नोट का आकार 66*150 मिली मीटर है।