काला लहसुन चमत्कारी गुणों से भरपूर यह हृदय रोगियों के लिए काफी फायेदमंद

काला लहसुन चमत्कारी गुणों से भरपूर यह हृदय रोगों में के लिए काफी फायेदमंद

नई दिल्ली : पारंपरिक सफेद लहसुन का इस्तेमाल भारतीय खानों में प्रमुखता से किया जाता है। लेकिन काले लहसुन यानी ब्लैक गार्लिक और उसके फायदों के बारे में बहुत कम लोग ही जानते हैं। ये सफेद लहसुन का ही एक रूप है। हालांकि ब्लैक गार्लिक के हेल्थ से जुड़े अनेकों फायदे हैं।

यह भी पढ़ें : इस फेस्टिव सीजन अपनाएं ब्लाउज के ये डिजाइन, बन जाए ब्यूटी विद स्टाइल क्वीन

ब्लैक गार्लिक, सफेद गार्लिक का ही एक रूप है, जिसे फर्मेंट करके तैयार किया जाता है। यह स्वाद में कम तीखा लगता है, पर इसका यह मतलब नहीं कि इसमें पोषक तत्व कम होते हैं। हालांकि सफेद लहसुन में पाया जान ेवाला स्वास्थ्य संबंधी चमत्कारी गुणों से भरपूर एलिसिन नामक पोषक तत्व काले लहसुन में भी पाया जाता है। यह ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने, कोलेस्टेरॉल व हृदय संबंधित रोगों को कम करने, बॉडी सेल्स को संतुलित करने और इम्यूनिटी बढ़ाने का काम करता है। इसमें एंटी-बैक्टीरियल और एंटी-वायरल गुण भी पाए जाते हैं। इसके अलावा यह ब्लड शुगर लेवल को संतुलित रखने में भी मदद करता है।

यह भी पढ़ें : बालों में छुपे राज! बस इस तरह आप जान सकते हैं दिल की बात
फर्मेंटेशन प्रक्रिया से गुजरने की वजह से ब्लैक गार्लिक में यूनिक एंटी-ऑक्सिडेंट्स गुण पाए जाते हैं, जिसके एंटी-इन्फ्लेमेटरी फायदे हैं। इसके अलावा यह पॉलिफेनॉल, फ्लेवोनॉइड और अल्कलॉइड से भी भरपूर होता है। ब्लैक गार्लिक का सेवन कई तरह के कैंसर, खासतौर से ब्लड कैंसर, पेट के कैंसर और कोलन कैंसर के इलाज में मदद करता है। यह एलर्जी को कम करने, मेटाबॉलिज़्म बढ़ाने, लिवर को किसी भी तरह के डैमेज से बचाने और दिमाग़ को स्वस्थ बनाने का काम भी करता है।