हर समय की चिंता को भगाएं दूर

आज की महामारी के दौर में तो चिंता का लेवल बहुत ही ज्यादा बढ़ गया है। आप एंजायटी को घटाने या समाप्त करने के लिए कुछ घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

Published by suman Published: May 16, 2020 | 11:08 pm

लखनऊ : आज की महामारी के दौर में तो चिंता का लेवल बहुत ही ज्यादा बढ़ गया है। आप एंजायटी को घटाने या समाप्त करने के लिए कुछ घरेलू उपाय अपना सकते हैं।

एंज़ाइटी के लक्षण : कमजोरी, सांस लेने में समस्या, ह्रदय गति का तेज होना, सिर चकराना, भूख न लगना, नींद न आना, किसी काम में ध्यान न लगना, ज्यादा पसीना आना, जी मिचलना, घबराहट।

कुछ घरेलू उपाय

हेल्दी फूड : स्वस्थ आहार का प्रभाव सिर्फ शरीर पर ही नहीं होता, बल्कि यह आपके मानसिक स्वास्थ्य को भी अच्छा करता है। साथ ही चिंता और तनाव को भी दूर करने का काम करता है। फलों और सब्जियों का अधिक सेवन मानसिक स्वास्थ्य को लाभ पहुंचाता है।

 

यह पढ़ें….डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग में FDI बढ़कर हुआ 74 प्रतिशत, स्वदेशी हथियारों पर हुए ये एलान

 

संगीत  : संगीत सुनने से दिमाग शांत होता है इसलिए एंजायटी के घरेलू उपाय के रूप में आप मधुर संगीत सुन सकते हैं। आप बांसुरी की धुन, कुछ लोक संगीत, ट्रांस, नेचर साउंड जैसे पानी का बहना, चिड़ियों का चहकना जैसे साउंड या बैकग्राउंड साउंड को सुन के खुद को रिलैक्स कर सकते हैं।

शराब और कैफीन से दूर रहें : शराब और कैफीन युक्त पेय भी चिंता को बढ़ाने का काम कर सकते हैं। शराब या कैफीन पीने से शुरू में कुछ समय के लिए चिंता से राहत मिल सकती है, लेकिन बाद में यह लंबे समय तक चिंता का कारण बन सकता है। इसलिए शराब और कैफीन के सेवन से बचें।

मेडिटेशन : ध्यान या मेडिटेशन के सहारे दिमाग को किसी वस्तु या विचार पर फोकस किया जाता है। इससे मानसिक और भावनात्मक रूप से शांति प्राप्त हो सकती है। योगा की तरह ही ध्यान लगाने से भी न्यूरोट्रांसमीटर एक्टिव होते हैं, जो चिंता के लक्षणों को नियंत्रित करने में सहायता पहुंचाते हैं।

गहरी सांस लेना : जब भी आपको बहुत ज्यादा चिंता या एंजायटी हो रही हो तो गहरी सांस लें। इससे आपका मन और दिमाग दोनों शांत होंगे। गहरी सांस लेने से आपका आत्मविश्वास भी बढ़ता है और कई बार ध्यान केंद्रित करने में भी मदद मिलती है।

 

यह पढ़ें….युगऋषि आचार्य जी के विचारों का होगा वैश्विक स्तर पर अध्ययन

 

खुलकर हंसना : तनाव या चिंता का कारण कुछ भी हो सकता है, लेकिन इससे बचने के लिए आपको हमेशा खुश रहना चाहिए। खुलकर हंसने से किसी भी चीज को लेकर चिंता कम हो जाती है। इसका मानसिक स्वास्थ्य पर भी अच्छा असर देखा जा सकता है।

पर्याप्त नींद : अच्छी नींद लेने से चिड़चिड़ापन और तनाव आपसे दूर रहता है। साथ ही चिंता को खत्म करने में भी मदद मिलती है। इसलिए, पर्याप्त नींद लेनी चाहिए।

नियमित एक्सरसाइज : अपने दिमाग को दूसरी तरफ फोकस करने के लिए आप एक्सरसाइज भी कर सकते हैं। इससे आपके दिमाग में चल रही चिंता से आपका ध्यान आपके शारीरिक व्यायाम की तरफ मुड़ जाएगा। एक्सरसाइज आपको इंगेज रखती है और मन में चल रही हलचलों को शांत करने में भी आपकी मदद करती है। एक्सरसाइज वह कुंजी है जहां आपके तन के साथ आपका मन भी शक्तिशाली बनता है।