प्रकाश जावड़ेकर ने जेएनयू घटना में बेनकाब हुए चेहरों को लेकर कही ये बड़ी बात

नई दिल्ली। जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी में 5 जनवरी को हुए हमला मामले में दिल्ली पुलिस ने 9 हमलवारों की पहचान कर ली है। इस पर केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि जेएनयू हमला लेफ्ट संगठन द्वारा पूर्व प्रायोजित था, जिसका खुलासा आज दिल्ली पुलिस ने कर दिया है।

प्रकाश जावड़ेकर ने कही ये बात

केंद्रीय मंत्री और बीजेपी नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, ‘आज पुलिस के प्रेस कॉन्फ्रेंस में साफ हो गया कि पिछले 5 दिनों से जो हंगामा हो रहा था वो एबीवीपी, बीजेपी को बदनाम करने के लिए किया जा रहा था।

ये भी पढ़े- दीपिका की JNU एंटरी पर मचा घमासान, विवादों के घेरे में राम की लीला

एबीवीपी और बीजेपी को बदनाम करने के लिए किया जा रहा था

जो भी हंगामा किया जा रहा था वो सिर्फ एबीवीपी और बीजेपी को बदनाम करने के लिए किया जा रहा था जो सच नहीं है। यह लेफ्ट संगठन का पूर्व नियोजित हिंसा था।उन्होंने सीसीटीवी और सर्वर को बर्बाद किया।’

क्राइम ब्रांच ने 9 हमलावरों की पहचान कर ली है

बता दें कि जेएनयू हमले की जांच कर रहे दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच ने 9 हमलावरों की पहचान कर ली है। इसमें जेएनयू छात्र संघ के अध्यक्ष आईशी घोष समेत 9 लोगों के नाम शामिल है।

ये भी पढ़े-जेएनयू में हुई हिंसा का विलेन मैं नहीं- VC जगदीश कुमार

जिन लोगों की पहचान की गई उनमें चुनचुन कुमार, पंकज मिश्रा, आयेशी घोष (जेएनयूएसयू अध्यक्ष), वास्कर विजय, सुचेता तालुकराज, प्रिया रंजन, डोलन सावंत, योगेंद्र भारद्वाज, विकास पटेल शामिल हैं।

लेफ्ट के छात्रों ने 3 जनवरी को सर्वर से छेड़छाड़ की थी

ये भी पढ़े-जेएनयू विवादः सीताराम येचुरी और JNUSU के पूर्व अध्यक्ष आज करेंगे प्रेस कॉन्फ्रेंस

दिल्ली पुलिस ने कहा कि 3 जनवरी को विरोध शुरू हुआ था। लेफ्ट के छात्रों ने 3 जनवरी को सर्वर से छेड़छाड़ की थी, जिससे वह बंद हो गया। 4 जनवरी को सर्वर को नुकसान पहुंचाया गया था।

5 जनवरी को सुबह 11.30 बजे से रजिस्ट्रेशन के समर्थकों से मारपीट शुरू हुई थी। फिर शाम 3.45 बजे पेरियार हॉस्टल और साबरमती हॉस्टल में लेफ्ट के छात्रों ने छात्रों पर अटैक किया। उन्होंने चुन-चुनकर छात्रों को मारा-पीटा।