तबलीगी जमात से सबसे ज्यादा प्रभावित ये राज्य, एक दिन में 110 पॉजिटिव केस

दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित तबलीग़ी जमात का मरकज कोरोना बम बन बन गया है, जिसमें आवाज तो नहीं थीं लेकिन धमाका इतना जोरदार हुआ कि भारत के कई राज्य इसकी चपेट में आ गए। तबलीग़ी जमात से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए राज्यों में से एक है, तमिलनाडु। मरकज से राज्य में लौटे 110 लोग कोरोना से संक्रमित हैं। ऐसे में अब तमिलनाडु में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 234 हो गया है।

चेन्नई: दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में स्थित तबलीग़ी जमात का मरकज कोरोना बम बन गया है, जिसमें आवाज तो नहीं है लेकिन धमाका इतना जोरदार है कि भारत के कई राज्य इसकी चपेट में आ गए। तबलीग़ी जमात से सबसे ज्यादा प्रभावित हुए राज्यों में से एक है, तमिलनाडु। मरकज से राज्य में लौटे 110 लोग कोरोना से संक्रमित हैं। ऐसे में अब तमिलनाडु में संक्रमित मरीजों का आंकड़ा 234 हो गया है।

तमिलनाडु में 110 नए कोरोना मरीज, आंकड़ा हुआ 234

दरअसल, भारत में कोरोना वायरस के लगातार मामले बढ़ रहे हैं। इसी कड़ी में तमिलनाडु राज्य में अब तक कोरोना के 234 पॉजिटिव केस मिले हैं। बड़ी बात ये हैं कि इन संक्रमितों में से 110 दिल्ली के तबलीगी जमात के मरकज में शामिल हुए थे। इन सभी के कोरोना टेस्ट पॉजिटिव पाए गए हैं।

ये भी पढेंः तबलीगी जमात: मरकज मामले पर नुसरत जहां ने कह दी इतनी बड़ी बात

मरकज से लौटे 93 लोग पहले आए सामनेः

बता दें कि इसके पहले मरकज से लौटे 93 लोग कोरोना से संक्रमित पाए गए थे। इन लोगों में 45 तमिलनाडु, 9 अंडमान और 24 दिल्ली के लोग शामिल थे। सभी का सैंपल पॉजिटिव निकला है

क्या है मामला

राजधानी के निजामुद्दीन इलाके में 15 से 18 मार्च तक तबलीगी जमात का यह आयोजन किया गया था। इस आयोजन में उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, तेलंगाना, महाराष्ट्र, केरल, दिल्ली सहित विभिन्न राज्यों के लोगों ने हिस्सेदारी की थी। मिली जानकारी के मुताबिक इस आयोजन में काफी संख्या में विदेशी भी शामिल हुए थे।

ये भी पढेंःये हैं मौलाना साद: ऐसे बने तबलीगी जमात के प्रमुख, पूरी देश में मचाया हड़कंप

विदेश से आये थे लोग

यह विदेशी बांग्लादेश,श्रीलंका, अफ़ग़ानिस्तान, मलेशिया, सऊदी अरब,चीन और इंग्लैंड आदि देशों के थे। आयोजन को लेकर हड़कंप तो तब मचा जब इसमें हिस्सा लेने वाले 10 लोगों की किलर कोरोना वायरस ने जान ले ली और सैकड़ों अन्य लोग संक्रमित हो गए।

ये भी पढेंःइन भारतीय क्रिकेटरों पर फूटा फैंस का गुस्सा, पाकिस्तान के सपोर्ट में कही थी ऐसी बात

जमात ने रखा अपना पक्ष

जमात के एक प्रवक्ता मौलाना मोतिउर रहमान हैदराबादी का कहना है कि अचानक यातायात के सभी साधन बंद हो जाने के कारण मरकज में मौजूद लोग वहीं फंस गए। वे पुलिस पर निशाना साधते हुए कहते हैं कि पुलिस ने हीं हमें सलाह दी कि अब ना कोई बाहर जाएगा और ना अंदर।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।