×

182 महिलाओं की सेक्स क्लिप्स से भरा मिला लैपटॉप, कई हाईप्रोफाइल लोग गिरफ्तार

पुलिस ने अनीश का एक लैपटॉप भी सीज किया है। एक अधिकारी के मुताबिक, अनीश के लैपटॉप में 182 फोल्डर मिले। हर एक फोल्डर में एक महिला के साथ 'सेक्स क्लिप' है। पुलिस के मुताबिक, लैपटॉप में बरामद क्लिप्स साल 2013 तक पुरानी हैं। लैपटॉप को फरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है।

Shivakant Shukla

Shivakant ShuklaBy Shivakant Shukla

Published on 30 Jan 2020 9:21 AM GMT

182 महिलाओं की सेक्स क्लिप्स से भरा मिला लैपटॉप, कई हाईप्रोफाइल लोग गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

कोलकाता: यहां पुलिस ने दो बड़े उद्योगपतियों के बेटों को सेक्स-ब्लैकमेल रैकेट चलाने के आरोप में गिरफ्तार किया है। दोनों पर आरोप है कि ये अलग-अलग महिलाओं से संबंध बनाकर उसकी रिकॉर्डिंग कर लेते थे और फिर उसी क्लिप के जरिए महिलाओं को ब्लैकमेल कर उनसे पैसे ऐंठते थे।

पुलिस के मुताबिक, ये लोग पिछले कई वर्षों से यह रैकेट चला रहे थे। यही नहीं इनके कब्जे से 182 महिलाओं की सेक्स क्लिप्स बरामद हुई हैं। तीन महीने तक चली जांच के बाद पुलिस ने आदित्य अग्रवाल और अनीश लोहारुका को गिरफ्तार किया है। हैरानी की बात तो ये है कि दोनों की उम्र 20 साल के आसपास ही है। साथ ही इनके नौकर कैलाश यादव को भी गिरफ्तार किया गया है।

कौन हैं दोनों आरोपी

आदित्य अग्रवाल का परिवार एक मशहूर एथनिक कपड़ों के ब्रैंड का मालिक है जबकि अनीश लोहारुका का परिवार रियल एस्टेट के बिजनस में है और उनके कई होटल हैं। हालांकि तीनों आरोपियों को 4 फरवरी तक पुलिस हिरासत में भेजा गया है।

ये भी पढ़ें—केरलसे राहुल की हुंकार, कहा- मैं भारतीय हूं, यह तय करने वाले नरेंद्र मोदी कौन हैं?

बता दें कि एक महिला ने इन पर ब्लैकमेल करने और 10 लाख रुपये मांगने का आरोप लगाया था। अग्रवाल परिवार की ओर से किसी ने कुछ भी बोलने से साफ इनकार कर दिया।

लैपटॉप से मिले 182 फोल्डर, हर फोल्डर में एक क्लिप

पुलिस ने अनीश का एक लैपटॉप भी सीज किया है। एक अधिकारी के मुताबिक, अनीश के लैपटॉप में 182 फोल्डर मिले। हर एक फोल्डर में एक महिला के साथ 'सेक्स क्लिप' है। पुलिस के मुताबिक, लैपटॉप में बरामद क्लिप्स साल 2013 तक पुरानी हैं। लैपटॉप को फरेंसिक जांच के लिए भेजा गया है।

पूरे प्लान के साथ होती थी वारदात

पुलिस ने बताया कि ये लोग महिलाओं से दोस्ती करते और फिर उन्हें अलग-अलग जगहों पर बुलाते। यहां पहले से कई कैमरे लगे होते थे, जिसमें इनके निजी पलों को रिकॉर्ड कर लिया जाता था।

ये भी पढ़ें—भारत का पहला बजट इन्होंने किया था तैयार, जानें कुछ रोचक बातें

पिछले साल इन्होंने कैलाश को भी अपने साथ शामिल कर लिया, जो लोहारुका परिवार का घरेलू नौकर है। कैलाश को महिलाओं को धमकाने और फिरौती न देने पर विडियो वायरल करने की धमकी देने के लिए रखा गया था।

Shivakant Shukla

Shivakant Shukla

Next Story