×

राजस्थान के इस लड़के ने रच दिया 21 साल की उम्र में इतिहास, जानिए क्यों हुआ नाम?

राजस्थान के मयंक प्रताप सिंह ने इतिहास रच दिया है।वह 21 साल की उम्र में जज बनने जा रहे हैं।मयंक ने बताया कि उन्हें आरजेएस परीक्षा की तैयारी में कितनी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

suman

sumanBy suman

Published on 22 Nov 2019 1:32 AM GMT

राजस्थान के इस लड़के ने रच दिया 21 साल की उम्र में इतिहास, जानिए क्यों हुआ नाम?
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

जयपुर: राजस्थान के मयंक प्रताप सिंह ने इतिहास रच दिया है।वह 21 साल की उम्र में जज बनने जा रहे हैं।मयंक ने बताया कि उन्हें आरजेएस परीक्षा की तैयारी में कितनी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

यह पढ़ें....बेसिक शिक्षा विभाग दिसम्बर-जनवरी में करेगा एक नेशनल सेमीनार: डॉ. द्विवेदी

मयंक ने कहा कि बहुत खुशी हो रही है। मैंने उम्मीद की थी कि सेलेक्शन हो जाएगा पर इतना अच्छा रिजल्ट आएगा इसकी उम्मीद नहीं थी। मेरे और मेरे परिवार के लिए ये बहुत खुशी की बात है। 21 वर्षीय मयंक ने यह भी कहा कि राजस्थान उच्च न्यायालय द्वारा न्यूनतम आयुसीमा को 23 से घटाकर 21 करना उनके लिए काफी मददगार साबित हुआ. पहली बार जब रिक्त पदों के लिए नोटिफिकेशन आया था, तब मैं परीक्षा देने के लिए योग्य नहीं था। लेकिन बाद में उन्होंने उम्र कम कर दी और मैं योग्य हो गया।

यह पढ़ें....नोटबंदी और जीएसटी के बहाने अखिलेश यादव का भाजपा पर तीखा हमला

अपनी प्रेरणा के बारे में उन्होंने कहा कि जब मैं 12वीं कक्षा में था तब मुझे लगता था कि ज्यूडिशरी का समाज में कितना महत्वपूर्ण रोल है। न्यायालयों में पेंडिंग मामले बहुत ज्यादा हैं। मैं अपना योगदान देना चाहता था जिससे लोगों को न्याय दे सकूं. शायद मेरे लिए वही प्रेरणा बनी जिसकी वजह से ये किया।

suman

suman

Next Story