Fair & Lovely की कहानी: 45 साल पुराना है ब्रांड, बदलेगा नाम

सन 1975 में, हिंदुस्तान यूनीलीवर ने “फेयर एंड लवली” नाम की एक गोरा करने वाली क्रीम बाज़ार में उतारा था। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि देश में गोरेपन की क्रीम के बाजार का 50-70 फीसदी हिस्सा “फेयर एंड लवली” के पास ही है।

नई दिल्ली: “फेयर एंड लवली” एक बहुचर्चित ब्रांड है। लड़कियां हुई चाहे महिलायें फेस क्रीम के नाम पर सबसे पहली पसंद है फेयर एंड लवली। इक क्रीम को बनाने वाली एफएमसीजी कंपनी HUL ने अपने ब्रैंड फेयर एंड लवली का नाम बदलने की तैयारी की है। कंपनी की ओर से जारी किये गए बयान में कहा गया है कि नया ब्रैंड नेम सभी मंजूरी के बाद लॉन्च किया जाएगा।

नाम के ये शब्द बदले जायेंगे

बता दें कि एफएमसीजी कंपनी HUL कंपनी ने फेयर एंड लवली (Fair & Lovely) से फेयर शब्द को हटाने की बात कही है। नए अवतार में आने वाला फेयर एंड लवली (Fair & Lovely) ब्रैंड अलग-अलग स्किन टोन वाली महिलाओं के प्रतिनिधित्व पर ज्यादा केंद्रित होगा।

1975 में 45 साल पहले मार्केट में आई थी फेयर एंड लवली

सन 1975 में, हिंदुस्तान यूनीलीवर ने “फेयर एंड लवली” नाम की एक गोरा करने वाली क्रीम बाज़ार में उतारा था। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि देश में गोरेपन की क्रीम के बाजार का 50-70 फीसदी हिस्सा “फेयर एंड लवली” के पास ही है। “फेयर एंड लवली” ने साल 2016 में 2000 करोड़ क्लब में प्रवेश किया, जिससे पता चलता है कि भारत में गोरा करने वाली क्रीम खूब बिकती हैं।

ये भी देखें: अब Facebook करेगा भविष्यवाणी, जानिए क्या है पूरा मामला

नाम बदलने की क्यों पड़ी जरूरत

ग्लोबल कंज्यूमर कंपनी Unilever की भारतीय सब्सिडियरी कंपनी Hindustan Unilever ने कहा है कि वो अपनी स्किन क्रीम की रीब्रांडिंग करने जा रही है। कंपनी पर स्किन कलर और गहरे रंग की त्वचा को लेकर दशकों से दुराग्रह पैदा करने के आरोप लगते रहे हैं, जिसके बाद आखिरकार कंपनी ने अब यह फैसला लिया है।

अब ये होगा नाम?

हिंदुस्तान यूनिलीवर ने कहा है कि कंपनी अपने ब्रांड के नाम में ‘Fair’ शब्द इस्तेमाल करना बंद कर देगी। कंपनी ने यह भी बताया कि उसने नए नाम के लिए अप्लाई किया है, जिसके लिए अभी रेगुलेटरी अप्रूवल नहीं मिला है।

ये भी देखें: अभी-अभी पीछे हटी चीनी सेना, भारत के कड़े रुख से लेना पड़ा ये फैसला

इस तरह आरोप लगते रहे हैं

पिछले दिनों पता चला था कि दक्षिण एशिया में यूनीलीवर स्किन लाइटनिंग क्रीम की मार्केटिंग में बदलाव की तैयारी कर रही है। क्योंकि सोशल मीडिया और अन्य जगहों पर गोरा बनाने वाली क्रीम के खिलाफ विरोध प्रदर्शन चल रहा है।