Top

ऑनलाइन नामांकनः चुनाव में प्रत्याशियों को मिलेंगी ये सुविधाएं, नहीं जाना पड़ेगा बैंक

कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए आयोग ने बिहार की तर्ज पर ऑनलाइन नामांकन की सुविधा दी है। प्रत्याशी सिक्योरिटी मनी भी ऑनलाइन जमा कर सकेंगे।

Shivani Awasthi

Shivani AwasthiBy Shivani Awasthi

Published on 26 Feb 2021 4:17 PM GMT

ऑनलाइन नामांकनः चुनाव में प्रत्याशियों को मिलेंगी ये सुविधाएं, नहीं जाना पड़ेगा बैंक
X
इस बार कोरोना महामारी के मद्देनजर राज्य में चुनाव ज्यादा चरणों में करवाया जाएगा। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इलेक्शन 7 से 8 चरणों में होंगे।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

रामकृष्ण वाजपेयी

चुनाव आयोग ने आज पश्चिम बंगाल, केरल, तमिलनाडु, असम और पुडुचेरी विधानसभा चुनाव के लिए तारीखों का एलान कर दिया। पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में मतदान होगा और पहला चरण 27 मार्च को 30 सीटों के लिए मतदान से होगा तथा आखिरी चरण 29 अप्रैल को 25 सीटों पर चुनाव के साथ संपन्न होगा। केरल, तमिलनाडु और पुडुचेरी में केवल एक चरण में 5 अप्रैल को वोटिंग होगी। असम में तीन चरणों में मतदान होगा पहले चरण का मतदान 27 मार्च को और आखिरी चरण का मतदान 6 अप्रैल को होगा।

5 राज्यों में विधानसभा चुनावों का एलान

कुछ राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए अच्छी बात यह है कि आयोग ने बिहार की तर्ज पर इस बार भी ऑनलाइन नामांकन की सुविधा दी है। प्रत्याशियों को सिक्योरिटी मनी भी ऑनलाइन जमा करने की सुविधा दी गई है।

ये भी पढ़ेँ- चुनाव के एलान से पहले ममता का बड़ा दांव, मजदूरों को दी ये बड़ी सौगात

कोरोना के मद्देनजर चुनाव में ऑनलाइन नामांकन

बिहार विधानसभा चुनाव के समय कोरोना पीक पर था बावजूद इसके चुनाव आयोग सफलतापूर्वक चुनाव कराने में सफल रहा था लेकिन इस बार फिर पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव से ऐन पहले देश में कोरोना का संकट फिर से गहराने लगा है।

पिछले 24 घंटे में 13 राज्य और केंद्र शासित प्रदेश ऐसे रहे जहां ठीक होने वाले मरीजों से ज्यादा नए कोरोना मरीजों की पहचान हुई है। इनमें 5 राज्य और केंद्रशासित प्रदेश महाराष्ट्र, पंजाब, जम्मू कश्मीर, दिल्ली और चंडीगढ़ ऐसे हैं जहां कोरोना की नई लहर ने दस्तक दे दी है।

Assembly Elections 2021

कोरोना के बढ़ रहे राज्यों में मामले

महाराष्ट्र और गुजरात के कुछ हिस्सों में एक बार फिर लोगों की घर वापसी शुरू हो गई है। ऐसे में कोरोना के फैलने का खतरा और बढ़ गया है। महाराष्ट्र में पिछले 10 दिन, पंजाब में 12, चंडीगढ़ में 10 और जम्मू कश्मीर में 7 दिन से लगातार एक्टिव केस बढ़ रहे हैं। दिल्ली में भी ताजा रिपोर्ट में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या देखते हुए अलर्ट कर दिया गया है।

ये भी पढ़ेँ- चुनाव आयोग की दमदार तैयारी: वोट देने वालों के लिए मास्क, सैनीटाइजर का इंतजाम

कोरोना से बिगड़ते हालात में पांच राज्यों में विधानसभा चुनाव सम्पन्न कराना आयोग के लिए एक बड़ी चुनौती है। इसीलिए प्रत्याशियों को भीड़ के साथ निकलने की अनुमति नहीं दी जा रही है। घर घर संपर्क में भी पांच से ज्यादा लोगों की इजाजत नहीं है। प्रत्याशियों का जुलूस व रैली के स्थान पर डिजिटल रैली पर जोर रहेगा।

चुनाव में ऑनलाइन नामांकन का ये फायदा

नामांकन के लिए भी ऑनलाइन नामांकन की सुविधा इसी लिए दी गई है ताकि भीड़ को रोका जा सके। पिछले 24 घंटे में देश में 16,577 कोरोना के नए मामले आए हैं। कोरोना की रफ्तार लगातार तेज हो रही है।

आयोग ने स्पष्ट कहा है कि नामांकन के दौरान उम्मीदवार के साथ सिर्फ दो लोग जा सकते हैं। नामांकन ऑनलाइन भी किया जा सकता है। जमानत राशि भी ऑनलाइन जमा की जा सकती है। उम्मीदवार के साथ 5 लोगों को घर-घर (डोट-टू-डोर कैंपेनिंग) जाने की इजाजत है।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुनील अरोड़ा ने कहा है कि कोरोना काल में सभी चुनावों के दौरान लोगों की सुरक्षा सर्वोपरि है। इसका पूरा ख्याल रखा जाएगा। मतदान केंद्रों की संख्या को इसीलिए बढ़ा दिया गया है ताकि एक ही स्थान पर अधिक भीड़ न हो। कोरोना प्रोटोकाल के पालन पर आयोग का जोर रहेगा।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story