अभिनेत्री सोनाक्षी की बढ़ी मुश्किलें, दाखिल हुई 100 पन्नों की चार्जशीट

सोनाक्षी सिन्हा समेत पांच आरोपियों के खिलाफ लगभग 100 पन्नों की चार्जशीट दाखिल कर दी गई है। जांच में नामजद सभी आरोपियों की भूमिका सामने आई है।

आज कल कोरोना वायरस के चलते देश में जारी लॉकडाउन के कारण हर कोई अपने अपने घरों में कैद है। ऐसे में आम आदमी से लेकर सेलिब्रिटीज तक हर कोई अपनी फैमिली के साथ क्वालिटी टाइम बिता रहा है। लेकिन इस क्वालिटी टाइम में में अब दबंग गर्ल सोनाक्षी सिन्हा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। दरअसल सोनाक्षी पर एक धोखाधड़ी का आरोप है। जिसको लेकर पीड़ित प्रमोद शर्मा पुलिस के दफ्तर के लगातार चक्कर लगाते रहे लेकिन चार्जशीट दाखिल न करा पाए। जिसके बाद उन्होंने पीएम मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ को मैसेज और ट्वीट किए। जिसके बाद वो सोनाक्षी सहित सभी आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल करा पाए।

सोनाक्षी के खिलाफ 100 पन्नों की चार्जशीट दाखिल

आपको ये जानकार हैरानी होगी कि प्रमोद शर्मा को वेक चार्जशीट दाखिल कराने में 455 दिन लग गए। अब आपको हम पूरा मामला बताते हैं। असल में कटघर थानाक्षेत्र के शिवपुरी कालोनी निवासी प्रमोद कुमार शर्मा एक इवेंट मैनेजर हैं। उन्होंने 22 फरवरी 2019 को कटघर थाने में अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा और उनकी कंपनी के पदाधिकारी अभिषेक सिन्हा, मालविका पंजाबी, घूमिल ठक्कर, एडगर सकारिया के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज कराया था। जिसके बाद इन पाचों आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कराने में प्रमोद कुमार को 455 दिन का समय लग गया। यानी 1 साल से ज्यादा का समय। इस चार्जशीट को दाखिल कराने के लिए पीड़ित प्रमोद शर्मा ने पुलिस के दफ्तर के खूब चक्कर लगाए।

ये भी पढ़ें-   भारतीय हैं, अमेरिका में रहते हैं और आपके पास एच-1बी वीजा है तो जरूर पढ़ें ये खबर

लेकिन आरोपियों के खिलाफ क्झार्ज्शीत फ़ाइल नहीं करा पाए। जिसके बाद हर कहीं से तंग आ कर प्रमोद कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, डीजीपी हितेंद्र अवस्थी व एडीजी अविनाश चंद्र को हर रोज फेसबुक पर मैसेज और ट्वीट किया। जिसके बाद पुलिस हरकत में आई। और चार्जशीट दाखिल हुई। सीओ कटघर पूनम सिरोही ने बताया कि धोखाधड़ी के मामले में सोनाक्षी सिन्हा समेत पांच आरोपियों के खिलाफ लगभग 100 पन्नों की चार्जशीट दाखिल कर दी गई है। जांच में नामजद सभी आरोपियों की भूमिका सामने आई है।

धोखाधड़ी का है मामला

इस 100 पन्नों की चार्जशीट में पीड़ित प्रमोद ने बताया कि उनके द्वारा दिल्ली में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया था। इसके लिए उन्होंने टेलेंट फुल ऑन और एक्सीड एंटरटेनमेंट कंपनी के माध्यम से फिल्म अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा को बुलाने के लिए अनुबंध किया था। जिसके लिए अलग-अलग किस्तों में 29 लाख 92 हजार रुपये सोनाक्षी सिन्हा और उनकी कंपनी के खातों पर जमा किए गए थे। तय तारीख में सुबह फोन कर प्लेन का टिकट कराया था। लेकिन इस सबके बावजूद अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा कार्यक्रम में नहीं पहुंची थीं। इसके बाद पीड़ित प्रमोद कुमार ने इन सभी आरोपियों के खिलाफ मुकदमा अर्ज कराया था। लेकिन आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कराने में उन्हें 1 साल से ज्यादा का समय लग गया।

ये भी पढ़ें-    टेलीमेडिसिन – मौजूदा दौर में है मददगार

मामले पर इस माले की विवेचना कर रहे विजेंद्र सिंह ने कहा कि मेरे पास कुछ दिन पहले ही जांच आई थी। मुझसे पहले दूसरे विवेचक ने विवेचना की थी। अधिकारियों के निर्देश पर ही इस मामले में कार्रवाई की गई है। वहीं इस पूरे मामले के बारे में वरिष्ठ अधिवक्ता आनंद मोहन गुप्ता ने बताया कि कायदे में चार्जशीट 90 दिन के अंदर ही दाखिल हो जानी चाहिए। क्योंकि चार्जशीट दाखिल होने में ज्यादा समय लगने पर उस केस के आरोपी को बेल में लाभ मिल जाता है। फिलहाल अब अंततः चार्जशीट दाखिल हो गई है। ऐसे में अभिनेत्री सोनाक्षी सिन्हा की मुश्किलें बढ़ सकती हैं।