‘गुड टच-बैड टच’ के बारे में जागरुकता अभियान की मानव श्रृखंला ने बनाया रिकार्ड

साईक्लिंग एण्ड वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष कुलदीप अरोड़ा ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘अब माता पिता का कर्तव्य केवल अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा और अच्छे संस्कार देने तक नहीं रह गया है।

Published by Roshni Khan Published: March 29, 2019 | 3:41 pm
Modified: March 29, 2019 | 3:42 pm

जयपुर: इनाया फाउण्डेशन और साईक्लिंग एण्ड वेलफेयर सोसायटी की ओर से झालावाड़ में ‘गुड टच-बैड टच’ के बारे में जागरुकता अभियान के तहत आयोजित 20 किलोमीटर लंबी मानव श्रृंखला को इंडिया बुक आफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में दर्ज किया गया है।

ये भी देखें:‘मैं भी चौकीदार’ नारे वाले चाय के कपों को लेकर रेलवे दुबारा निशाने पर

साईक्लिंग एण्ड वेलफेयर सोसायटी के अध्यक्ष कुलदीप अरोड़ा ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘अब माता पिता का कर्तव्य केवल अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा और अच्छे संस्कार देने तक नहीं रह गया है । बच्चों को यौन शिक्षा के साथ साथ उन्हें गुड टच बैड टच के बारे में जागरूक करने की भी आवश्यकता है ।’’

ये भी देखें:अफगानिस्तान में तालिबान के निशाने पर पुलिस, दो दिन में 17 पुलिसकर्मियों की हत्या

इनाया फाउण्डेशन की संस्थापक सचिव नितिशा शर्मा ने बताया कि गत 8 मार्च को झालावाड में ‘गुड टच-बैड टच’ के बारे में शुरू किये गये जागरूकता अभियान में 8 पंचायत समितियों के 3200 स्कूलों के 15,970 छात्र—छात्राओं व अन्य लोगों के साथ मिलकर 20 किलोमीटर लंबी मानव श्रृखंला बनाकर एक कीर्तिमान स्थापित किया गया है।

उन्होंने बताया कि बच्चों में जागरूकता के लिये भारत की सबसे बड़ी मानव श्रृखंला को इंडिया बुक आफ रिकॉर्ड में दर्ज किया गया है।

(भाषा)