×

नहीं रहे पूर्व वित्त मंत्री अरूण जेटली, दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में ली अंतिम सांस

पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का 66 की उम्र में आज दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल मेें निधन हो गया। अरूण जेटली करीब दो हफ्ते से दिल्ली के एम्स में भर्ती थे। वे लम्बे समय से बीमार चल रहे थे। और आज दोपहर 12:07 पर अरूण जेटली ने आखिरी सांस लीं और दुनिया को अलविदा कहा।

Manali Rastogi

Manali RastogiBy Manali Rastogi

Published on 24 Aug 2019 4:09 AM GMT

नहीं रहे पूर्व वित्त मंत्री अरूण जेटली, दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल में ली अंतिम सांस
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली का 66 की उम्र में आज दिल्ली के एम्स हॉस्पिटल मेें निधन हो गया। अरूण जेटली करीब दो हफ्ते से दिल्ली के एम्स में भर्ती थे। वे लम्बे समय से बीमार चल रहे थे। और आज दोपहर 12:07 पर अरूण जेटली ने आखिरी सांस लीं और दुनिया को अलविदा कहा। अरुण जेटली की हालत एक बार फिर शुक्रवार को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में बिगड़ गई। यह जानकारी अस्पताल के सूत्रों द्वारा दी गई। जेटली 9 अगस्त से AIIMS में भर्ती हैं। उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी, जिसके बाद उन्हें AIIMS में भर्ती कराया गया।

देखें वीडियो...

यह भी पढ़ें: UAE में पीएम मोदी, सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘ऑर्डर ऑफ जायद’ से नवाजेगी सरकार

अरुण जेटली का हालचाल जानने के लिए हॉस्पिटल में वरिष्ठ नेताओं का तांता लगा हुआ है। बीजेपी के वरिष्ठ नेता एल के आडवाणी, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और बीजेपी सांसद मेनका गांधी ने सोमवार को अस्पताल जाकर जेटली का हालचाल जाना था। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, गृह मंत्री अमित शाह जेटली, यूपी की पूर्व सीएम और बसपा सुप्रीमो मायावती ने भी AIIMS जाकर अरुण जेटली का हाल जाना था।

यह भी पढ़ें: बड़ा हादसा: कुछ मिनटों में ढह गई इमारत, 2 लोगों की मौत और 5 घायल

अरुण जेटली राजनेता होने के साथ-साथ सुप्रीम कोर्ट के वरिष्ठ वकील भी हैं। मोदी सरकार-1 वह फ़ाइनेंस मिनिस्टरी संभाल चुके हैं। हालांकि, तबीयत खराब होने की वजह से जेटली ने इस साल हुए लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा। इसके लिए अरुण जेटली ने पीएम मोदी को पत्र लिखा था।

यह भी पढ़ें: आर्थिक मंदी से निपटने को तैयार सरकार, 10 पॉइंट्स में जानिए प्लान

Manali Rastogi

Manali Rastogi

Next Story