वायुसेना प्रमुख बी एस धनोआ ने कहा, बालाकोट अभियान में तकनीक भारत के पक्ष में थी

वायुसेना प्रमुख बी एस धनोआ ने सोमवार को कहा कि बालाकोट हवाई हमलों में तकनीक भारत के पक्ष में थी और यदि समय पर राफेल लड़ाकू विमान मिल जाते तो परिणाम देश के और अधिक पक्ष में होते।

वायुसेना प्रमुख बी एस धनोआ ने कहा, बालाकोट अभियान में तकनीक भारत के पक्ष में थी

नयी दिल्ली:  वायुसेना प्रमुख बी एस धनोआ ने सोमवार को कहा कि बालाकोट हवाई हमलों में तकनीक भारत के पक्ष में थी और यदि समय पर राफेल लड़ाकू विमान मिल जाते तो परिणाम देश के और अधिक पक्ष में होते।

वह भविष्य की एयरोस्पेस शक्ति और प्रौद्योगिकी के प्रभाव पर एक संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे।

यह भी पढ़ें…..हम टारगेट हिट करते हैं, शवों को नहीं गिनते : वायुसेना चीफ धनोआ

उन्होंने कहा, ‘‘बालाकोट अभियान में, हमारे पास प्रौद्योगिकी थी और हम बड़ी सटीकता के साथ हथियारों का इस्तेमाल कर सके। बाद में हम बेहतर हुए है क्योंकि हमने अपने मिग -21, बिसॉन और मिराज-2000 विमानों को उन्नत बनाया था।’’

यह भी पढ़ें…..बिपिन रावत होंगे अगले आर्मी चीफ और बीरेंद्र सिंह धनोआ को मिली IAF प्रमुख की कमान

धनोआ ने कहा, ‘‘यदि हमने समय पर राफेल विमान को शामिल कर लिया होता तो परिणाम हमारे पक्ष में और अधिक हो जाते।’’

(भाषा)