×

कोरोना वायरस के कहर से बचने के लिए 324 भारतीयों को लेकर इंडिया पहुंचा विमान

चीन में एक खतरनाक जानलेवा वायरस फैल रहा है जिसकी वजह से पूरी दुनिया में हड़कंप मच गया है। इस वाइरस का नाम कोरोना वायरस है।

Roshni Khan

Roshni KhanBy Roshni Khan

Published on 1 Feb 2020 10:48 AM GMT

कोरोना वायरस के कहर से बचने के लिए 324 भारतीयों को लेकर इंडिया पहुंचा विमान
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: चीन में एक खतरनाक जानलेवा वायरस फैल रहा है जिसकी वजह से पूरी दुनिया में हड़कंप मच गया है। इस वाइरस का नाम कोरोना वायरस है। इसकी चपेट में अब तक बहुत से लोग आ चुके हैं। इसी को देखते हुए वुहान से भारतीय नागरिकों को वापस लाने गए एयर इंडिया का 423 सीटों वाला बी747 विमान शनिवार की सुबह भारत आ गया। एयर इंडिया का बी747 विमान वुहान से 324 भारतीयों को लेकर शनिवार की सुबह दिल्ली एयरपोर्ट पहुंचा। आपको बता दें कि एयर इंडिया का ये विमान शुक्रवार की दोपहर चीन के वुहान शहर से भारतीयों को वापस लाने के लिए दिल्ली से वुहान के लिए रवाना हुआ था। आपको बता दें कि उड़ान में पांच कॉकपिट क्रू सदस्य और 15 केबिन क्रू सदस्य मौजूद थे।

ये भी पढ़ें:इंटरनेट यूजर्स सावधान: कोरोना से भी खतरनाक ये वायरस, कभी भी कर सकते हैं अटैक

जानकारी के मुताबिक, वुहान (चीन) से एयर इंडिया की विशेष उड़ान से भारत पहुंचे सभी 324 भारतीयों के लिए दिल्ली एयरपोर्ट पर डॉक्टरों की एक टीम द्वारा कोरोना वायरस की स्क्रीनिंग की जाएगी। उसके बाद में अगर जरूरत पड़ी तो उन्हें मेडिकल निगरानी में रखा जाएगा।

चीन में नोवल कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर सरकार ने अपने नागरिकों को वहां से निकालने का फैसला किया है। विशेष उड़ान से लाए गए सभी 324 यात्रियों को 14 दिन तक मानेसर और छावला कैंप में खास तौर पर बनाए गए शिविरों में रखा जायेगा ताकि वो दूसरे लोगों के संपर्क में न आ सकें। डॉक्टरों की टीम उनके स्वास्थ्य की नियमित जांच करेगी।

अधिकारियों ने बताया कि विमान में राममनोहर लोहिया (आरएमएल) अस्पताल के पांच चिकित्सक और एक पैरामेडिकल कर्मी सवार हैं। विमान के उड़ान भरने के बाद एयर इंडिया के प्रवक्ता ने बताया कि वुहान से भारतीयों को वापस लाने के लिए एक दूसरी विशेष उड़ान शनिवार को दिल्ली हवाई अड्डे से रवाना हो सकती है।

उड़ान के बारे में प्रवक्ता ने कहा था, 'विमान में आरएमएल के पांच चिकित्सकों की एक टीम, एयर इंडिया का एक पैरामेडिकल कर्मी के साथ ही चिकित्सकों द्वारा निर्धारित दवाएं, मास्क, ओवरकोट, डब्बाबंद खाद्य पदार्थ हैं। इसके साथ ही इस विशेष विमान में इंजीनियरों, सुरक्षाकर्मियों की एक टीम भी मौजूद है। इस पूरे अभियान का नेतृत्व कैप्टन अमिताभ सिंह, निदेशक (अभियान), एयर इंडिया द्वारा किया जा रहा है।'

अब तक 259 की मौत

अब तक इस वायरस से 259 लोगों की मौत हो गई है और करीब 11800 लोग इसकी चपेट में हैं। शनिवार को चीन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने इसकी जानकारी देते हुए कहा कि हुबेई में शुक्रवार की देर रात तक 45 और मौतें सामने आई हैं।

चीन के हुबेई प्रांत में करीब 1347 नए मामले सामने आए, जिससे संक्रमित लोगों की संख्या 7153 पहुंच गई है। शुक्रवार की आधी रात तक पूरे चीन में 2012 नए केस सामने आए।

अधिकारियों ने कहा कि इस वारयस के कहर से 1795 लोगों की हालत काफी नाजुक है। साथ ही उन्होंने कहा कि अब तक इससे 17988 संदिग्ध मरीज पाए गए हैं, जिन्हें निगरानी में रखा गया है। बता दें कि गुरुवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने चीन के कोरोना वायरस के कहर को ग्लोबल इमरजेंसी करार दिया।

ये भी पढ़ें:स्वस्थ समाज के लिए पोषण व महिला केंद्रित कार्यक्रमों पर बड़ा बजट

वुहान से लाए जा रहे लोगों के लिए सेना के इंतजाम

भारत में उनके आगमन को इंतजाम की बात करें तो भारतीय सेना ने हरियाणा के मानेसर में इन लोगों को रखने की व्यवस्था की है। यहां इन्हें एक सप्ताह तक डॉक्टरों की निगरानी में रखा जाएगा।अगर किसी के भीतर वायरस की पुष्टी होती है तो उसे दिल्ली कैंटोमेंट के बेस हॉस्पिटल में अलग वार्ड में रखा जाएगा। आर्म्ड फोर्स मेडिकल सर्विस और एयरपोर्ट हेल्थ अथोरिटी की ज्वाइंट टीम एयरपोर्ट पर भी स्टूडेंट्स की जांच करेगी।

Roshni Khan

Roshni Khan

Next Story