23 अगस्त से पहले से कश्मीर जाने का बना रहे हैं प्लान तो पढ़ें ये जरूरी खबर

सोमवार से कश्मीर घाटी में स्कूल-कॉलेज और सरकारी ऑफिस खोलने के लिए राज्य सरकार ने घोषणा कर दी है। लेकिन एयरलाइन कंपनियों ने किन कारणों के चलते यह फैसला लिया है, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है।

नई दिल्ली: देश की तीन प्रमुख हवाई कंपनियों ने बड़ा फैसला लिया है।

इस फैसले के मुताबिक अगर किसी यात्री ने श्रीनगर से आने-जाने के लिए 23 अगस्त तक का टिकट बुक करा रखा है, तो फिर वो कैंसिल हो गई है।

ऐसे में टिकट बुक किए यात्रियों को उसका पैसा वापस ले सकेंगे या फिर आगे की तारीख में टिकट को बुक करा सकेंगे।

बता दे कि जम्मू-कश्मीर के अंदर अनुच्छेद 370 हटने के बाद से हालात में तेजी से सुधार देखने को मिल रहा है।

ये भी पढ़ें…ओडीओपी उत्पादों की कमियां दूर करने के लिए हर जिले में बनेंगे सुविधा केंद्र

क्या कहती हैं एयरलाइंस कम्पनियां

विस्तारा, स्पाइसजेट और इंडिगो का कहना है कि सुरक्षा कारणों के चलते घाटी में 23 अगस्त तक सभी यात्रियों को टिकट रद्दीकरण और दोबारा टिकट बुक कराने पर किसी तरह का कोई शुल्क अदा नहीं करना होगा।

स्पाइसजेट के मुताबिक यात्री पैसेंजर्स इस मामले में किसी भी तरह की सहायता के लिए हमारे नंबर +91 9871803333 और +91 9654003333 पर फोन करके अपनी परेशानी से अवगत करा सकते हैं।

जबकि इंडिगो का कहना है कि यात्री उससे इस संबंध में कंपनी के ट्वीटर, फेसबुक या पोर्टल पर चैट के माध्यम भी संपर्क स्थापित कर सकते हैं।

इस दिन से खुलेंगे ऑफिस और स्कूल

सोमवार से कश्मीर घाटी में स्कूल-कॉलेज और सरकारी ऑफिस खोलने के लिए राज्य सरकार ने घोषणा कर दी है। लेकिन एयरलाइन कंपनियों ने किन कारणों के चलते यह फैसला लिया है, इसकी जानकारी नहीं मिल पाई है।

घाटी में हाई अलर्ट पर सेना

कश्‍मीर घाटी का माहौल खराब करने और पाकिस्‍तान के कुछ आतंकी संगठनों के संभावित हमले को देखते हुए सभी भारतीय सेनाओं, सुरक्षा बलों को हाई अलर्ट पर रखा गया है। यह आधिकारिक सूत्रों से जानकारी मिली है।

सूत्रों के मुताबिक, पाकिस्तान समर्थित आतंकी समूह घाटी में हमले को अंजाम देने की कोशिश कर सकते हैं।

घाटी में तेजी से बदलते हालात से पाकिस्तान को निराश हाथ लग रही है और उसकी बेचैनी बढ़ती जा रही है।

वह आतंकियों को सीमापार कराने के लिए फायरिंग कर रहा है।

हालांकि, उसका यह दांव उल्टा पड़ रहा है, सीमा पर मुस्तैद भारतीय जवान कई घुसैपठिये और पाकिस्तानी सैनिकों को ढेर कर चुके हैं।

 

ये भी पढ़ें…वाराणसी: आरोपी पर से गुंडा एक्ट हटाने के लिए एडीएम ने सुनाया अनोखा फरमान