Top

चमोली आपदा पर बोले Amit Shah, बचाव कार्य के लिए पुख्ता इंतजाम

चमोली की आपदा पर जानकारी देते हुए अमित शाह (Amit Shah) ने कहा, "उत्तराखंड के चमोली जिले में हिमस्खलन की घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार 24x7 उच्चतम स्तर पर निगरानी कर रही है।"

Chitra Singh

Chitra SinghBy Chitra Singh

Published on 9 Feb 2021 12:15 PM GMT

चमोली आपदा पर बोले Amit Shah, बचाव कार्य के लिए पुख्ता इंतजाम
X
चमोली आपदा पर बोले Amit Shah, बचाव कार्य के लिए पुख्ता इंतजाम
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: उत्तराखंड के चमोली जिले में 7 फरवरी को आई प्राकृतिक आपदा ने सभी के दिलों को झकझोर के रख दिया। इस आपदा पर देश के गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने लोकसभा में अपनी बात रखी है। उन्होंने बताया, " पीएम नरेंद्र मोदी ने रविवार को ही आपदा संज्ञान लेते हुए राज्य प्रशासन से सूचनाएं ली थी, साथ ही मुख्यमंत्री से भी बात की।”

सरकार कर रही है उच्चतम स्तर पर निगरानी

चमोली की आपदा पर जानकारी देते हुए अमित शाह (Amit Shah) ने कहा, "उत्तराखंड के चमोली जिले में हिमस्खलन की घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार 24x7 उच्चतम स्तर पर निगरानी कर रही है। गृह मंत्रालय के दोनों कंट्रोल रूम द्वारा स्थिति पर चौबीसों घंटे नजर रखी जा रही है और राज्य को हर संभव सहायता मुहैया कराई जा रही है।”

यह भी पढ़ें... भयानक आतंकी हमला: अलग-अलग जगहों को बनाया निशाना, मचाया मौत का तांडव

ITBP ने स्थापित किए अपना कंट्रोल रूम

शाह ने आगे कहा, “ITBP ने वहाँ अपना कंट्रोल रूम स्थापित किया है और उनके 450 जवान, सभी जरूरी साजो सामान के साथ, घटनास्थल पर राहत और बचाव अभियान में लगे हुए हैं। NDRF की 5 टीमें घटनास्थल पर पहुँच चुकी हैं और उनके सभी जवान राहत और बचाव अभियान में लगे हुए हैं।”



आर्मी, नेवी और IAF के 5 हेलीकॉप्टरों बचाव कार्य में जुटें

राहत कार्यों के बारें में जानकारी देते हुए गृह मंत्री ने बताया, “आर्मी की 8 टीमें, जिसमें एक ETF भी शामिल है व नेवी की एक गोताखोर टीम व IAF के 5 हेलीकॉप्टरों को भी बचाव कार्य में लगाया गया है। एक मेडिकल कॉलम व दो एंबुलेंस भी घटनास्थल पर तैनात है। टनल में फंसे लोगों को बाहर निकालने के लिए विपरीत परिस्थिति में भी लगातार राहत व बचाव कार्य जारी है।”

यह भी पढ़ें... परिवर्तन यात्रा: जेपी नड्डा बोले-पीएम मोदी के दिल में बंगाल के लिए स्पेशल जगह

DGSSB और DRDO की टीमें हैं मौजूद

घटनास्थल की स्थिति के बारे में गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने कहा, "अलकनंदा और गंगा बेसिन हरिद्वार में केंद्रीय जल आयोग में कार्यरत कर्मचारियों को अलर्ट पर रखा गया है। DGSSB की एक टीम और DRDO की एक टीम, जो हिमस्खलन की निगरानी करती है, घटनास्थल पर पहुँच चुकी है। NTPC के सीएमडी भी घटनास्थल पर मौजूद हैं।”

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Chitra Singh

Chitra Singh

Next Story