पाकिस्तान जिंदाबाद के बाद अब कश्मीर और मुस्लिम मुक्ति का बैनर दिखाकर विरोध

नागरिकता संशोधन विधेयक (CAA) के खिलाफ असदुद्दीन ओवैसी की रैली में पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी पर मचे हंगामे के बीच नया विवाद खड़ा हो गया है। बेंगलुरु पुलिस ने एक महिला को हिरासत में लिया है, जो अपने हाथ में दलित, कश्मीर और मुस्लिम मुक्ति लिखा बैनर लिए हुए थी।

Published by Aditya Mishra Published: February 21, 2020 | 10:20 pm
Modified: February 21, 2020 | 10:22 pm

बेंगलुरु: नागरिकता संशोधन विधेयक (सीएए) के खिलाफ असदुद्दीन ओवैसी की रैली में पाकिस्तान के समर्थन में नारेबाजी पर मचे हंगामे के बीच नया विवाद खड़ा हो गया है। बेंगलुरु पुलिस ने एक महिला को हिरासत में लिया है, जो अपने हाथ में दलित, कश्मीर और मुस्लिम मुक्ति लिखा बैनर लिए हुए थी। पाक समर्थित नारेबाजी के विरोध में एक हिंदूवादी संगठन विरोध प्रदर्शन कर रहा था। इसी दौरान यह घटना सामने आई।

बताया गया कि आरोपी अरुद्रा के खिलाफ विभिन्न समुदायों के बीच दुश्मनी फैलाने के आरोपी में आईपीसी की धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। डेप्युटी कमिश्नर चेतन सिंह राठौड़ ने बताया कि स्वत: संज्ञान लेकर पुलिस ने यह केस दर्ज किया है। पुलिस ने अरुद्रा नाम की इस महिला को हिरासत में लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है।

ये भी पढ़ें..अब हनुमान चालीसा पढ़ेंगे ओवैसी, सीएम योगी ने दिया बड़ा बयान

ओवैसी के मंच से पकिस्तान जिंदाबाद के नारे

अमूल्या लियोना नाम की लड़की ने गुरुवार को ओवैसी के मंच से ‘पाकिस्तान जिंदाबाद’ के नारे लगाए थे। इसके खिलाफ हिंदू जागरण वेदिके नामक संगठन के कार्यकर्ताओं ने बेंगलुरु में विरोध प्रदर्शन किया।

इस प्रदर्शन के दौरान उस वक्त अफरा-तफरी मच गई, जब एक महिला अपने हाथ में कथित रूप से देशविरोधी और भड़काऊ बैनर लिए हुए दिखी। इस बैनर पर दलित मुक्ति, कश्मीर मुक्ति और मुस्लिम मुक्ति लिखा हुआ था।

बेंगलुरु के पुलिस कमिश्नर भास्कर राव का कहना है, ‘हिंदू जागरण वेदिके के प्रोटेस्ट के दौरान लोगों के बीच एक महिला आकर बैठ गई। उसके हाथ में कन्नड़ भाषा में लिखा एक बैनर था, जिस पर दलित मुक्ति, कश्मीर मुक्ति और मुस्लिम मुक्ति लिखा था। चूंकि वहां काफी भीड़ इकट्ठा हो गई थी, इसलिए हमने उसे किसी तरह मौके से रेस्क्यू किया। उसे हिरासत में लिया गया है।’

असदुद्दीन ओवैसी बोले- हमें सरकार से असहमत होने का अधिकार है

अमूल्या लियोना 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में

इससे पहले पाक समर्थित नारेबाजी की आरोपी अमूल्या लियोना को हिरासत में लिया गया था। अमूल्या को बेंगलुरु की कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उसे 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। अपने मंच से पाक जिंदाबाद का नारा लगाए जाने की ओवैसी ने भी निंदा की थी। उन्होंने कहा कि वह जब नमाज पढ़ने के लिए जा रहे थे तभी यह नारेबाजी हुई और उन्होंने तुरंत उसे रुकवाया। वैसे विडियो में भी जब अमूल्या पहली बार नारा लगाती है उस वक्त ओवैसी मंच से कहीं जाते हुए दिख रहे हैं।

बीजेपी सांसद का ओवैसी पर विवादित बयान, कहा- क्रेन से टांगकर काट दूंगा दाढ़ी