×

पीएम मोदी की जनसभा में बम ब्लास्ट के आतंकी को ATS ने ऐसे किया गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ पुलिस और एटीएस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस और एटीएस की टीम ने मिलकर पटना और बोधगया बम धमाकों के आरोपी को हैदराबाद से अरेस्ट कर लिया है। पकड़ा गया आरोपी छत्तीसगढ़ के रायपुर का रहने वाला है।

Aditya Mishra

Aditya MishraBy Aditya Mishra

Published on 13 Oct 2019 4:57 AM GMT

पीएम मोदी की जनसभा में बम ब्लास्ट के आतंकी को ATS ने ऐसे किया गिरफ्तार
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

रायपुर: छत्तीसगढ़ पुलिस और एटीएस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस और एटीएस की टीम ने मिलकर पटना और बोधगया बम धमाकों के आरोपी को हैदराबाद से अरेस्ट कर लिया है। पकड़ा गया आरोपी छत्तीसगढ़ के रायपुर का रहने वाला है।

उसका ताल्लुक सिमी से है। वह छह वर्ष से फरार चल रहा था। रायपुर के एसएसपी आरिफ शेख ने बताया कि छत्तीसगढ़ पुलिस ने अजहरूद्दीन उर्फ अजहर उर्फ केमिकल अली को शुक्रवार को हैदराबाद से गिरफ्तार कर लिया है।

एटीएस को खुफिया सूत्रों से जानकारी प्राप्त हुई थी कि अजहर सऊदी अरब से हैदराबाद आ रहा है। इसके बाद उसे प्लान बनाकर एयरपोर्ट पर ही अरेस्ट कर लिया गया।

ये भी पढ़ें...बड़े हमले की साजिश में थे ये आतंकी, पुलिस ने किया गिरफ्तार

पीएम मोदी की जनसभा में ब्लास्ट में था शामिल

वह 2013 में पटना और बिहार के बोधगया में हुए बम विस्फोट के मामलों में शामिल होने का आरोपी है। बोधगया में हुई ब्लास्ट की घटना में कई तिब्बती भिक्षु और पर्यटक घायल हुए थे।

वहीं पटना में अक्टूबर 2013 में नरेंद्र मोदी की सभा में ब्लास्ट हुआ था। इस रैली के दौरान बम ब्लास्ट में कई लोगों की जानें भी गईं थीं।उसकी तलाश में सुरक्षा एजेंसियां बीते 6 सालों से जुटी हुई थी।

कई जगहों पर उसकी तलाश में दबिश भी दी गई थी लेकिन उसे पकड़ा नहीं जा पा रहा था। अब जाकर उसे हैदराबाद से अरेस्ट किया जा सका है।

यहां आपको बता दे कि दिसंबर 2013 में रायपुर पुलिस ने सिमी के स्लीपर सेल को ध्वस्त करते हुए उसके कमांडर उमेर सिद्दिकी समेत 16 अन्य गुर्गों को अरेस्ट किया था।

फ़ाइल फोटो

ये भी पढ़ें...ब्लैकलिस्ट होने से बचने के लिए पाक का पैंतरा, लश्कर के 4 खूंखार आतंकी अरेस्ट

पकड़े गये आरोपियों पर पटना और बोधगया में हुए विस्फोट में शामिल होने का आरोप है। बताया जा रहा है कि अजहरूद्दीन उर्फ अजहर ने ही इन सिमी के कार्यकर्ताओं को पनाह दिया था। उसके बाद से ही वह फरार चल रहा था।

इतना ही नहीं उसने जाली पासपोर्ट भी बनवा रखा था। जिसके सहारे वह सऊदी अरब में पहुंच गया था। उसके बाद वहां पर ड्राइवर का काम करने लगा था। पुलिस को उसके बारे में लगातार सूचनाएं मिल रही थी। वह जैसे ही भारत आया उसे हैदराबाद एयरपोर्ट पर अरेस्ट कर लिया गया।

ये भी पढ़ें...बड़े आतंकी हमले की सूचना! ये बड़े नेता निशाने पर, हाई अलर्ट पर सेना

Aditya Mishra

Aditya Mishra

Next Story