×

दिल्ली नहीं बल्कि भारत के इस शहर का ट्रैफिक है नंबर-1 पर, सर्वे में हुआ खुलासा

सड़कों पर लगने वाले ट्रैफिक जाम से तो सब वाकिफ हैं। आय दिन इस जाम से सभी को जूझना पड़ता है। ट्रैफिक जाम के मामले में दिल्ली का जाम दुनियाभर में मशहूर है।

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 30 Jan 2020 10:27 AM GMT

दिल्ली नहीं बल्कि भारत के इस शहर का ट्रैफिक है नंबर-1 पर, सर्वे में हुआ खुलासा
X
दिल्ली नहीं बल्कि भारत के इस शहर का ट्रैफिक है नंबर-1 पर, सर्वे में हुआ खुलासा
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: सड़कों पर लगने वाले ट्रैफिक जाम से तो सब वाकिफ हैं। आय दिन इस जाम से सभी को जूझना पड़ता है। ट्रैफिक जाम के मामले में दिल्ली का जाम दुनियाभर में मशहूर है। लेकिन एक सर्वे में ये खुलासा हुआ है कि इंडिया में दिल्ली में सबसे ज्यादा ट्रैफिक नहीं है बल्कि बंगलूरू का ट्रैफिक जाम नंबर वन पर है। अर्बन मोबिलिटी के क्षेत्र में काम करने वाली स्वायत्त संस्था और लोकेशन टेक्नोलॉजी विशेषज्ञ टॉमटॉम ने अपना नौंवा एडिशन प्रकाशित किया है। जिसके ताजा सर्वे में दुनिया के टॉप 10 भीड़-भाड़ वाले शहरों के नाम हैं।

यह भी पढ़ें: जामिया इलाके में जय श्रीराम के नारे लगाते युवक ने की फायरिंग, एक घायल

टॉप 10 की सूची में भारत के 4 शहर शामिल

सर्वे के परिणाम के अनुसार, दुनिया भर के सबसे भीड़-भाड़ वाले शहरों में भारत के 4 शहर शामिल हैं। लिस्ट के अनुसार, भारत का बंगलूरू पहले स्थान पर है। वहीं इस लिस्ट में मुंबई चौथा और राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली को आठवां स्थान मिला है। वहीं एशिया के सबसे ज्यादा ट्रैफिक वाले शहरों की बात की जाए तो उसमें दिल्ली औसतन 56 प्रतिशत के साथ पांचवें स्थान पर है।

सर्वे में इस बात का हुआ खुलासा

सर्वे में यह बात सामने आई है कि दिल्ली के लोगों को पीक ऑवर्स में गाड़ी ड्राइव करते समय अन्य शहरों की तुलना में सालाना 190 घंटे ज्यादा खर्च करने पड़ते हैं। जो कि 7 दिन और 22 घंटों के बराबर है। इसके अलावा सर्वे में इस बात का खुलासा भी हुआ है कि पिछले साल 2019 में 23 अक्तूबर को दिल्ली में सबसे ज्यादा ट्रैफिक रहा, जो कि 81 प्रतिशत था। वहीं सबसे कम भीड़ पिछले साल 21 मार्च को रही। जो महज छह प्रतिशत थी।

यह भी पढ़ें: शाहीन बाग में उतरेंगे योगी आदित्यनाथ, मुस्लिम इलाकों में करेंगे ताबड़तोड़ रैलियां

2018 की तुलना में 2 फीसदी कम हुआ ट्रैफिक कंजेशन

टॉमटॉम के ट्रैफिक इंडेक्स में एक राहत की बात सामने आई है। इंडेक्स के मुताबिक, साल 2018 की तुलना में दिल्ली में ट्रैफिक कंजेशन 2 फीसदी कम हुआ है। जिसकी वजह कुछ नए फ्लाईओवर्स का खुलना माना जा रहा है। बता दें कि टॉमटॉम ने 8 लाख से ज्यादा आबादी वाले दुनिया के 57 देशों के 416 शहरों में सर्वे किया है।

बंगलूरू शहर का कंजेशन औसतन रहा 71 प्रतिशत

ताजा सर्वे के मुताबिक, ट्रैफिक के मामले में पहला स्थान पाने वाले बंगलूरू शहर का कंजेशन औसतन 71 प्रतिशत रहा। यहां पर 20 अगस्त को सबसे ज्यादा ट्रैफिक कंजेशन दर्ज किया गया। वहीं चौथे स्थान पर रहे मुंबई का ट्रैफिक कंजेशन 65 प्रतिशत रहा और 59 प्रतिशत के साथ पुणे पांचवे नंबर पर है। इस तरीके से अपनी ट्रैफिक के लिए मशहूर दिल्ली की बेहतर स्थिति रही।

किस शहर को मिला कौन सा स्थान

टॉप 10 शहरों की लिस्ट में भारत के 4 शहरों के अलावा मनीला दूसरे, बगोटा तीसरे, मॉस्को छठे, लीमा सातवें, इस्तानबुल नौवें और जकार्ता दसवें नंबर पर हैं।

यह भी पढ़ें: कभी-कभी लगता है अपुन इच भगवान है! जीत के बाद दिग्गज क्रिकेटर ने कही ये बात

Shreya

Shreya

Next Story