कोरोना वायरस पॉजिटिव जमाती खाने के लिए मांग रहे ये सब, प्रशासन परेशान

तबलीगी जमात के लोगों की वजह से देशभर में कोरोना महामारी का खतरा बढ़ गया है। इसके अलावा अस्पताल में भर्ती जमात के लोग ऐसी ऐसी हरकते कर रहे हैं जिसकी वजह से स्वास्थकर्मी परेशान हो गए हैं।

भोपाल: तबलीगी जमात के लोगों की वजह से देशभर में कोरोना महामारी का खतरा बढ़ गया है। इसके अलावा अस्पताल में भर्ती जमात के लोग ऐसी ऐसी हरकते कर रहे हैं जिसकी वजह से स्वास्थकर्मी परेशान हो गए हैं। अब मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में कोरोना पॉजिटिव जमातियों ने ऐसी मांग रखी है जिससे प्रशासन हैरान है।

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 8 जमाती मरीज खाने में चिकन बिरयानी, फल और घर का खाना मांग रहे हैं। उन लोगों ने नगर निगम के फूड पैकेट्स को खाने से इंकार कर दिया है। दरअसल, भोपाल में वर्तमान में 320 जमाती हैं। बताया जा रहा है कि कि 7 विदेशी जमाती भी हैं, तो वहीं, 70 जमातियों को रोटी-सब्जी पसंद नहीं है।

यह भी पढ़ें…तबलीगी जमात पर फूटा ओवैसी का गुस्सा, कहा- पूरे देश के लिए पैदा किया संकट

तो वहीं प्रदेश में बाहर से आए यात्रियों में कई के बारे में कोई जानकारी नहीं है। इनके लापता होने से प्रशासन की टेंशन बढ़ गई है। लॉकडाउन के बाद शनिवार तक 17000 यात्री प्रदेश आए थे। इनमें से 1277 यात्रियों की अभी तक कोई जानकारी नहीं मिल पाई है।

यह भी पढ़ें…एक जमाती की वजह से पूरा गांव सील: मरकज में हुआ था शामिल, रिपोर्ट आई पॉजिटिव

रिपोर्ट के मुताबिक प्रदेश में आने वाले भारी लोगों की इंटेलिजेंस निगरानी कर रहा है। इंटेलिजेंस चीफ आदर्श कटियार ने सभी जिलों के एसपी को दिए निर्देश दिए हैं कि बाहर से आने वाले लोगों की मॉनिटरिंग की जाए। कटियार ने पुलिस परिवारों को आवश्यक सामान भी मुहैया कराने के लिए जिलों में नोडल अधिकारियों को जिम्मेदारी है।

यह भी पढ़ें…लॉकडाउन तोड़ने वालों के खिलाफ पुलिस सख्त, अब तक 289 गिरफ्तार, 373 वाहन..

मुरैना में मिले 12 कोरोना पॉजिटिव

गौरतलब है कि मुरैना जिले में दो दिनों के भीतर ही 12 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आए हैं। इससे दहशत फैल गई है। दरअसल, बीते 17 मार्च को दुबई में वेटर का काम करने वाला युवक अपनी दादी के श्राद्ध में शामिल होने मुरैना आया था। 20 मार्च को हुए तेरहवीं में एक हजार से ज्यादा लोग शामिल हुए थे। इतनी बड़ी संख्या में लोगों के जमा होने से प्रशासन में हड़कंप मच गया। प्रशासन इन लोगों की पहचान कर जांच कर रहा है।