Top

हुआ बड़ा ऐलान: सरकार ने छोटे कारोबारियों को दी बड़ी खुशखबरी

देश के कारोबारियों के लिए बड़ी खुशखबरी है। जीं हां कारोबारियों को अब बिना किसी डॉक्यूमेंट के ही 1 करोड़ रूपये तक का लोन मिल सकता है। बता दें कि देश के छोटे कारोबारियों को 10 लाख से लेकर 1 करोड़ रुपये तक का लोन अब बिना डॉक्युमेंट के देने की तैयारी शुरू हो गई है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 27 Sep 2019 11:44 AM GMT

हुआ बड़ा ऐलान: सरकार ने छोटे कारोबारियों को दी बड़ी खुशखबरी
X
हुआ बड़ा ऐलान: सरकार ने छोटे कारोबारियों को दी बड़ी खुबखबरी
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली : देश के कारोबारियों के लिए बड़ी खुशखबरी है। जीं हां कारोबारियों को अब बिना किसी डॉक्यूमेंट के ही 1 करोड़ रूपये तक का लोन मिल सकता है। बता दें कि देश के छोटे कारोबारियों को 10 लाख से लेकर 1 करोड़ रुपये तक का लोन अब बिना डॉक्युमेंट के देने की तैयारी शुरू हो गई है। इस योजना को सरकारी बैंक जल्द ही शुरू कर सकते हैं।

मीडिया से मिली जानकारी के अनुसार, जो भी कारोबारी 6 महीने तक जीएसटी रिटर्न फाइल करता है उसे लोन लेने के लिए कोई भी डॉक्युमेंट दिखाने की जरुरत नहीं होगी। इसके साथ ही वित्त मंत्रालय से इस जीएसटी एक्सप्रेस लोन योजना की मंजूरी मिल चुकी हैं।

यह भी देखें... सावधान! Amazon-flipkart पर शॉपिंग करना पड़ेगा भारी, ऐसे करें Payment

ये है बिना डॉक्यूमेंट के लोन योजना

बैंक जीएसटी एक्सप्रेस लोन स्कीम ला रही है। इसके जरिए बिना किसी फाइनेंशियल स्टेटमेंट के 10 लाख रुपये से लेकर 1 करोड़ रुपये तक का लोन अब देश के कारोबारी ले सकते हैं।

loan

इनको मिलेगा फायदा

बता दें कि वित्त मंत्रालय की तरफ से जीएसटी रिटर्न पर लोन देने के प्रस्ताव को मंजूरी मिल चुकी है। देश में कारोबार के विस्तार के लिए सरकारी बैंकों की नई योजना जल्द आएगी। इस प्रस्ताव के अनुसार कारोबारी, प्रोफेशनल, कंपनी या फर्म और सहकारी संस्थानों को ये सुविधा मिलेगी।

यह भी देखें... राजस्थान: जोधपुर में भीषण सड़क हादसा, 15 लोगों की मौत

बता दें इस स्कीम से जुड़ी जानकारी

देश के कारोबारियों को जीएसटी रिटर्न के आधार पर ओवरड्राफ्ट की सुविधा भी मिलेगी। इस लोन की रकम सलाना टर्नओवर, सेल्स और कोलैटरल के आधार पर तय होगी। एफडी, किसान विकास पत्र, राष्ट्रीय बचत पत्र या अचल संपत्ति भी कोलैटरल है। रेपो बेस्ड लेंडिंग रेट (आरबीएलआर) के ऊपर 2.25 % तक ब्याज दर हो सकती है। एक साल की अवधि वाले लोन को हर साल रिन्यू कराया जा सकेगा।

loan

जानकारी के लिए बता दें कि इसी के साथ पायलट प्रोजेक्ट भी शुरू होने वाला है। ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स सहित देश के कई सरकारी बैंक इसको लेकर पायलट प्रोजेक्ट शुरू करने वाले है।

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story