कश्मीर पर बड़ा फैसला, 15 अगस्त से पहले कर्फ्यू पास होंगे अब ये टिकट

जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद से वहां के हालात को सामान्य बनाने के लिए गृह मंत्रालय और जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर से अथक प्रयास किए जा रहें हैं। लेकिन अभी भी कई जगहों पर कर्फ्यू लगा हुआ है।

Published by Vidushi Mishra Published: August 14, 2019 | 12:06 pm
Modified: August 14, 2019 | 2:58 pm
कश्मीर पर बड़ा फैसला, 15 अगस्त से पहले कर्फ्यू पास होंगे अब ये टिकट्स

कश्मीर पर बड़ा फैसला, 15 अगस्त से पहले कर्फ्यू पास होंगे अब ये टिकट्स

नई दिल्ली : जम्मू-कश्मीर में अनुच्छेद 370 हटने के बाद से वहां के हालात को सामान्य बनाने के लिए गृह मंत्रालय और जम्मू-कश्मीर प्रशासन की ओर से अथक प्रयास किए जा रहें हैं। लेकिन अभी भी कई जगहों पर कर्फ्यू लगा हुआ है। इसी वजह से श्रीनगर  में स्थानीय लोगों के  हवाई टिकट को कर्फ्यू का पास मानने का फैसला किया गया है।

कर्फ्यू पास बना एडमिट कार्ड

इसके अलावा प्रतियोगी परीक्षाओँ में शामिल होने वाले छात्रों के एडमिट कार्ड जिसमें छात्र की परीक्षा संबंधी रोल नम्बर, नाम, पता और भी कई जानकारियां हो, उसे कर्फ्यू पास के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं। घाटी में मिलने जा रहे छात्रों और स्थानीय लोगों को ये करने की अनुमति दी गयी है। और राज्य छोड़ने वाले स्थानीय लोगों के टिकट को भी कर्फ्यू पास माना जाएगा।

यह भी देखें… ‘हिंदू पाकिस्तान’ पर थरूर की बड़ी मुसीबत, जारी हुआ गिरफ़्तारी वारंट

हालांकि जम्मू और कश्मीर में स्थितियां धीरे-धीरे सामान्य हो रही हैं। मीडिया से बातचीत में जम्मू-कश्मीर के मुख्य सचिव रोहित कंसल ने बीते मंगलवार को कहा था कि ईद के मौके पर कश्मीर में एक भी गोली नहीं चली है। उन्होंने कहा कि राज्य के 20 हजार छात्रों ने ईद मनाई और सभी स्वास्थ्य सुविधाएं ठीक काम कर रही हैं।

अजित डोभाल की नजर कश्मीर पर

आपको बता दें कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल अभी भी कश्मीर में ही हैं और वहां के हालात पर अपनी नजर बनाए हुए हैं। जम्मू-कश्मीर में 15 अगस्त को देखते हुए स्थानीय प्रशासन अलर्ट पर है। ईद के बाद एक बार फिर धारा 144 को लेकर सख्ती बढ़ा दी गई है और जो पाबंदियां पहले लागू थीं उन्हें फिर लागू किया गया है।

यह भी देखें… मोदी का जबरा फैन : पीएम के लिए किया ऐसा, जो आज तक ना कर पाया कोई

इसके साथ यह उम्मीद भी लगाई जा रही है कि 15 अगस्त के बाद सरकार वहां पर कुछ ढील दे सकती है। मतलब की मोबाइल फोन, मोबाइल इंटरनेट, टीवी-केबल की सुविधा में भी छूट मिल सकती है। 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर दिल्ली-एनसीआर में हाई-अलर्ट है।

इसके साथ ही राज्यपाल सत्यपाल मलिक की तरफ से भी स्थानीय लोगों को यह भरोसा दिया गया है कि घाटी का माहौल शांत है और किसी तरह की असंवेदनाशील घटना की खबर नहीं है। उन्होंने कहा कि जो लोग कश्मीर को लेकर अफवाह फैला रहे हैं, वह यहां पर आकर देख सकते हैं।