LAC पर बड़ी खबर: चीन ने युद्ध पर किया ये ऐलान, हाई अलर्ट है जारी

चीन के विदेश मंत्रालय से बड़ी खबर आ रही है। अभी-अभी चीनी विदेश मंत्रालय ने बॉर्डर पर झड़प को लेकर बयान जारी किया है। चीन की तरफ कहा गया है कि भारत के साथ अब और अधिक झड़प नहीं चाहते हैं।

नई दिल्ली। चीन के विदेश मंत्रालय से बड़ी खबर आ रही है। अभी-अभी चीनी विदेश मंत्रालय ने बॉर्डर पर झड़प को लेकर बयान जारी किया है। चीन की तरफ कहा गया है कि भारत के साथ अब और अधिक झड़प नहीं चाहते हैं। जीं हां अब तक चीन के तरफ अपने सैनिकों और हुई हिंसात्मक झड़प पर कोई बयान जारी नहीं किया गया था। ऐसे में अब चीन में बयान जारी कर झड़प आगे न बढ़ाने की अपील की है।

ये भी पढ़ें…भारत से डरा पाकिस्तान: सेना ने कर दी इनकी हालत खराब, थे घुसपैठ की फिराक में

चीन को बड़ा नुकसान

लद्दाख बॉर्डर पर हुई हिंसक झड़प के चलते तनातनी का माहौल काफी ज्यादा बढ़ता ही जा रहा था, कि चीन के विदेश मंत्रालय की तरफ से ये बयान जारी किया गया, कि वे भारत से किसी तरह की कोई झड़प नहीं चाहते हैं।

बता दें, गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई हिंसात्मक झड़प में भारतीय सेना के एक कर्नल समेत देश के 20 सैनिक शहीद हो गए।

वहीं जो सैनिक चीन के साथ हुई इस झड़प शामिल थे, उन्होंने भी इस बात की पुष्टि की है। लेकिन चीन को कितनी क्षति हुई है इसका सटीक आंकड़ा अभी सामने नहीं आया है हालांकि 40 के करीब की संख्या बताई जा रही है।

इसके साथ ही आज जानकारी मिली कि घाटी में हुई इस हिंसात्मक झड़प में चीन का भी एक कमांडिंग अफसर मारा गया है। ये अफसर झड़प की अगुवाई कर रहा था। सूत्रों के मुताबिक 15-16 जून की रात को गलवान घाटी के पास दोनों देशों के सैनिकों के बीच जो हिंसक झड़प हुई, उसमें चीन को बड़ा नुकसान हुआ है।

ये भी पढ़ें…गलवान में भारत-चीन मुठभेड़, सम्हलकर प्रतिक्रिया देने का वक्त

तुंरत एक्शन

हालातों को देखते हुए सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, लोकल कमांडर को फ्री हैंड कर दिया गया है, जिससे इस समय के हालातों को देखते हुए वो तुंरत एक्शन ले पाए।

इसके साथ ही सूत्रों का ये भी कहना है कि अब आईटीबीपी को आर्मी कंट्रोल में दिया जा सकता है। वहीं उत्तराखंड के जोशीमठ में सेना का मूवमेंट बढ़ गया है, सीमा पर आईटीबीपी की कई टुकड़ियां भेजी गई हैं।

ये भी पढ़ें…ये चीन की चाल: नेशनल हाईवे 219 को बचाने के लिए जुटा है देश

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App