×

जंग की बड़ी तैयारी: सरकार ने बनाई ये रणनीति, शुरू इस महामारी से लड़ाई

21 दिनों के लॉकडाउन के चलते पीएम मोदी ने कोरोना महामारी के खिलाफ चल रही लड़ाई को लंबा बताया है और कहा है कि इसे बिना थके जीतना ही है। इस जंग को जीतने के लिए देशवासियों की सावधानी के साथ ही सरकार की तैयारी भी बेहद जरूरी है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 7 April 2020 7:12 AM GMT

जंग की बड़ी तैयारी: सरकार ने बनाई ये रणनीति, शुरू इस महामारी से लड़ाई
X
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली। 21 दिनों के लॉकडाउन के चलते पीएम मोदी ने कोरोना महामारी के खिलाफ चल रही लड़ाई को लंबा बताया है और कहा है कि इसे बिना थके जीतना ही है। इस जंग को जीतने के लिए देशवासियों की सावधानी के साथ ही सरकार की तैयारी भी बेहद जरूरी है। ऐसे में देश की जनता की तरफ से लॉकडाउन में पूरा समर्थन मिलता दिखाई दे रहा है, जिसकी पीएम मोदी भी खुलकर तारीफ कर रहे हैं। इसके साथ ही सरकार अपने स्तर पर बड़ी तैयारी करती दिखाई दे रही है। कोरोना को हराने वाले सबसे बड़े योद्धा डॉक्टर और मेडिकल स्टाफ हैं। इनकी सुरक्षा करना देश का पहला कर्तव्य है। इनके के लिए सबसे ज्यादा जरूरी है पर्सनल प्रोटेक्शन इक्विपमेंट यानी पीपीई और एन95 मास्क। इनकी सुरक्षा के लिए इन दोनों ही आवश्यक चीजों की आपूर्ति हर गुजरते दिन के साथ बढ़ाई जा रही है।

ये भी पढ़ें... धड़ाम हुआ पेट्रोल-डीजल: लॉकडाउन में हुआ ये हाल, देखें दाम

112.76 लाख एन95 मास्क और 157.32 लाख पीपीई किट्स

स्वास्थ्य मंत्रालय की तरफ से ये बताया गया है कि 112.76 लाख एन95 मास्क और 157.32 लाख पीपीई किट्स के ऑर्डर दे दिए गए हैं। इनमें से 80 लाख पीपीई किट्स के साथ मास्क अलग से भी रखे गए हैं।

इस तरह मास्क की संख्या और बढ़ जाएगी। सरकार ने ये बताया है कि फिलहाल पर्याप्त संख्या में किट्स और मास्क उपलब्ध हैं और हर हफ्ते 10 लाख पीपीई किट्स की सप्लाई हासिल करने का टारगेट रखा गया है।

पीपीई किट आई चीन से

जरूरत पड़ने पर मेडिकल किट्स की कमी न पड़े इसलिए सरकार एक तरफ जहां अपने ही देश में इक्विपमेंट्स तैयार करा रही है वहीं विदेशों भी आयात किया जा रहा है। आयात की पहले खेप चीन से आ चुकी है।

6 अप्रैल को चीन से 1.70 लाख पीपीई की खेप सरकार को मिल चुकी है। जबकि 20 हजार पीपीई किट्स भारत में ही तैयार कर ली गई हैं। मतलब अब 1.90 पीपीई किट्स तैयार हैं जिन्हें अस्पतालों में बांटा जाएगा।

इन किट्स के साथ देश में पहले से ही 3,87,473 पीपीई किट्स मौजूद हैं। इस तरह देश में फिलहाल कुल 5,77,473 पीपीई किट्स उपलब्ध हैं। चीन से 60 लाख पीपीई किट्स को लेकर एक और डील भी फाइनल स्टेज में पहुंच गई है।

सरकार को चीन से पीपीई किट्स मिल गई हैं, जबकि 80 लाख पीपीई किट्स (मास्क के साथ) का ऑर्डर सिंगापुर में दिया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया है कि 80 लाख किट्स की डिलीवरी 11 अप्रैल से आनी शुरू हो जाएगी। पहली खेप में 2 लाख किट्स आनी हैं, जबकि उसके एक हफ्ते के भीतर 8 लाख किट्स और जाएंगी।

ये भी पढ़ें...पाकिस्तान में कोरोना से लड़ रहे डॉक्टरों को पुलिस ने दौड़ाकर पीटा, इलाज ठप

80 हजार मास्क का टारगेट

भारत में पीपीई किट्स उत्तर रेलवे की तरफ से तैयार कराई जा रही हैं। डीआरडीओ ने भी मास्क और किट्स बनाए हैं। अब भारत में प्रोडक्शन बढ़ाया जा रहा है। सरकार का कहना है कि हर दिन 80 हजार मास्क बनाने का टारगेट रखा गया है।

1 दिन में 11,432 टेस्ट हुए

सरकार की तरफ से अब तक कुल 20 लाख से ज्यादा एन95 मास्क दिए गए हैं। इनमें से करीब 16 लाख मास्क अस्पतालों के अलावा देश के अलग-अलग हिस्सों में उपलब्ध करा दिए गए हैं। यानी ये मास्क जरूरतमंदों तक पहुंच गए हैं। जबकि करीब 6 लाख पीपीई किट्स की सप्लाई भी कर दी गई है।

इसके साथ ही कोरोना संक्रमण के टेस्ट की बात की जाए भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद् यानी ICMR के अनुसार, 6 अप्रैल की रात 9 बजे तक देशभर में कुल 1,01,068 लाख सैंपल टेस्ट किए गए हैं। इनमें से 4135 लोगों के सैंपल कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। 6 अप्रैल की रात 9 बजे तक एक दिन के अंदर 11,432 सैंपल की टेस्टिंग हुई, जिनमें से 311 केस पॉजिटिव पाए गए।

ये भी पढ़ें...कोरोना वायरस: गाड़ी में बैठे-बैठे हो जाएगा टेस्ट, यहां जानें पूरी डिटेल्स

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story