×

बर्ड फ्लू से हड़कंप: यहां 1800 की मौत, कई राज्यों में हाई अलर्ट, धारा-144 लागू

हिमाचल में अब तक करीब 1800 पक्षियों की मौत हो चुकी है। मृत पाए गए पक्षियों के सैंपल की जांच रिपोर्ट में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। इससे प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गई है। 

Shreya

ShreyaBy Shreya

Published on 5 Jan 2021 7:00 AM GMT

बर्ड फ्लू से हड़कंप: यहां 1800 की मौत, कई राज्यों में हाई अलर्ट, धारा-144 लागू
X
बर्ड फ्लू से मचा हाहाकार: कई राज्यों में अलर्ट, MP के 8 जिलों में चिकन मार्केट बंद
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

नई दिल्ली: पूरी दुनिया अब तक कोरोना वायरस महामारी से उभर भी नहीं पाई है कि इस बीच देश में बर्ड फ्लू (Bird flu) का खतरा फैल गया है। देश के कई राज्यों में बर्ड फ्लू के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। राजस्थान, केरल और मध्य प्रदेश के बाद अब हिमाचल में भी बर्ड फ्लू के मामले सामने से हड़कंप मच गया है। इसके साथ ही प्रशासन से लेकर स्वास्थ्य विभाग की चिंता बढ़ गई है।

हिमाचल प्रदेश में अब तक 1800 पक्षियों की मौत

अधिकारियों द्वारा हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले के पोंग बांध झील क्षेत्र में मृत पाए गए कुछ प्रवासी पक्षियों में बर्ड फ्लू की पुष्टि की गई है। हिमाचल में अब तक करीब 1800 पक्षियों की मौत हो चुकी है। मृत पाए गए पक्षियों के सैंपल की जांच रिपोर्ट में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्यजीव) अर्चना शर्मा ने बताया कि उनका विभाग भोपाल स्थित नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाई सिक्योरिटी एनिमल डीजीज से इसकी पुष्टि का इंतजार कर रहा है।

यह भी पढ़ें: वैक्सीनेशन पर बड़ी खबर: जल्द शुरू हो सकता है टीकाकरण, जानिए पूरी डिटेल

bird flu outbreak (फोटो- सोशल मीडिया)

अंडे, मांस, चिकन की बिक्री पर रोक

राज्य में बर्ड फ्लू के मामले सामने आने के बाद प्रशासन अलर्ट हो गया है। जिसके बाद अंडे, मांस, चिकन आदि की बिक्री पर रोक लगा दी गई है। कांगड़ा के जिलाधिकारी राकेश प्रजापति ने जिले के फतेहपुर, देहरा, जवाली और इंदौरा उप मंडल में मुर्गी, मछली, बत्तख और अंडे, मांस, चिकन की बिक्री पर प्रतिबंध लगा दिया है। इसके अलावा वन्यप्राणी विभाग ने बर्ड फ्लू की आशंका की वजह से झील में सभी प्रकार की गतिविधियों पर प्रतिबंध लगा दिया है।

केरल में मारे जाएंगे 40,000 पक्षी

वहीं केरल ल के कोट्टायम और अलप्पुझा जिलों के कुछ जगहों पर भी बर्ड फ्लू के मामले होने की जानकारी सामने आई है। जिसके बाद प्रशासन ने उचित कदम उठाते हुए प्रभावित क्षेत्रों और उसके आसपास एक किमी के दायरे में मुर्गियों, बत्तख और कुछ घरेलु पक्षियों को मारने का आदेश दे दिया है। एच5एन8 वायरस के रोकथाम के लिए 40,000 पक्षियों को मारा जाएगा। बता दें कि राज्य में वन्य जीव, पशुपालन विभाग के कर्मचारियों को अलर्ट रहने का आदेश दिया गया है। यहां हालात काबू में तो हैं लेकिन प्रशासन ने जिलों में हाई अलर्ट जारी कर दिया है।

यह भी पढ़ें: नए संसद भवन पर SC का फैसला: सरकार को राहत, निर्माण को सशर्त मिली मंजूरी

यहां लागू हुई धारा 144

इसके अलावा कौवे, बत्तख, मुर्गियों और बगुले की मौत को लेकर राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश में भी खलबली मची हुई है। इस बीमारी के मद्देनजर राजस्थान में धारा 144 लागू कर दी गई है। मरे हुए कौवों में बर्ड फ्लू पाए जाने के बाद राजस्थान, गुजरात, मध्य प्रदेश की सरकार ने अलर्ट भी जारी कर दिया है। राजस्थान के झालावाड़ जिले में बर्ड फ्लू की पुष्टि हुई है। प्रदेश के कोटा और पाली में भी कौवों की मौत हुई है। राजस्थान के पांच जिलों में यह फैल चुका है। तीन जिलों में अब तक 177 कौवों की जान जा चुकी है। जबकि मध्यप्रदेश के इंदौर में भी करीब 70 कौओं की मौत हो चुकी है।

यह भी पढ़ें: मध्य प्रदेश पर बड़ा खतरा! राज्य में घुसे सैकड़ों नक्सली, हाई अलर्ट जारी

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shreya

Shreya

Next Story