×

ग्वालियर: सिंधिया के पुश्तैनी महल में चोरी, पुलिस प्रशासन में मचा हड़कंप

मध्य प्रदेश के ग्वालियर में बीजेपी के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के पुश्तैनी महल जय विलास पैलेस में चोरों ने सेंधमारी की है।

Newstrack

By Newstrack

Published on 18 March 2021 5:59 AM GMT

ग्वालियर: सिंधिया के पुश्तैनी महल में चोरी, पुलिस प्रशासन में मचा हड़कंप
X
ग्वालियर: सिंधिया के पुश्तैनी महल में चोरी, पुलिस प्रशासन में मचा हड़कंप
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • koo

ग्‍वालियर: मध्य प्रदेश के ग्वालियर में बीजेपी के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के पुश्तैनी महल जय विलास पैलेस में चोरों ने सेंधमारी की है। ​सिंधिया ग्वालियर प्रवास के समय अपने परिवार के साथ इसी महल में रहते हैं जहां हमेशा कड़ी सुरक्षा रहती है। अब इतनी कड़ी सुरक्षा के बीच जय विलास पैलेस में हुई इस घटना से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया है।

ये भी पढ़ें: एग्जाम रद्द: सरकार का बड़ा फैसला, यहां छात्र होंगे अगली क्लास के लिए प्रमोट

पंखा और कंप्यूटर का सीपीयू चोरी

जयविलास पैलेस में चोरों ने रानी महल के रेकॉर्ड रूम पर धावा बोला। कड़ी सुरक्षा के बावजूद चोर रोशनदान के रास्ते रेकॉर्ड रूम में घुसे और वहां रखे दस्तावेजों को खंगाला। जानकारी के मुताबिक चोर वहां से एक पंखा और कंप्यूटर का सीपीयू चुरा कर ले गए। वहीं, सेंधमारी के बाद पुलिस स्निफर डॉक के जरिए चोरों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है।

जय विलास पैलेस (File photo)

फोरेंसिक टीम ने जुटाए सबूत

पुलिस और फोरेंसिक टीम ने ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया के जय विलास पैलेस पहुंच कर सेंधमारी वाले हिस्‍से के फिंगरप्रिंट और जरूरी साक्ष्‍य जब्‍त कर लिए हैं। साथ ही रानी महल के पास इस जगह पर स्टोर है जहां यह पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि चोरों की संख्या कितनी थी और उन्होंने क्या-क्या चुराया है।

जय विलास पैलेस (File photo)

खास है जय विलास पैलेस

बता दें कि जय विलास पैलेस न सिर्फ देश बल्कि विदेश में भी काफी प्रसिद्द है। यही वजह है कि इसका दीदार करने के लिए लोग देश विदेश से आते हैं। इस पैलेस को जयाजी राव सिंधिया ने साल 1874 में बनवाया था और यह करीब 40 एकड़ में फैला हुआ है। जबकि इसकी कीमत करीब 4 हजार करोड़ है। वहीं, 1964 में जीवाजी राव सिंधिया म्‍यूजियम वाले हिस्‍से को लोगों के लिए खोल दिया गया था, तब से यहां काफी संख्‍या में दर्शक आते हैं। यही नहीं, 400 कमरे वाले इस पैलेस को सैकड़ों की संख्‍या में विदेशी कारीगरों ने बनाया था। जबकि इसकी दीवारों पर सोने और चांदी की कारीगरी की गई है। इसके अलावा जय विलास पैलेस में 3500 किलों के दो झूमर लगे हैं, जोकि देखते ही बनते हैं।

ये भी पढ़ें: बंगाल: इस महिला ने सबसे पहले डाला वोट, मतदानकर्मी खुद चलकर पहुंचे उनके घर

बता दें कि जय विलास पैलेस में 10 साल पहले भी चोरी हुई थी। उस समय भी चोरों ने रेकॉर्ड रूम को ही निशाना बनाया था और कुछ दस्तावेज चुरा ले गए थे, लेकिन पकड़े नहीं जा सके थे।

Newstrack

Newstrack

Next Story