सीएए के विरोध करने वालों के लिए बुरी खबर

भारतीय जनता पार्टी ने आज पूरे प्रदेश में 50 लाख से अधिक परिवारों से मुलकर उन्हें इसकी सच्चाई बताई। इस पर प्रदेश की जनता ने जहां एक ओर सीएए के समर्थन में…

Published by Deepak Raj Published: January 14, 2020 | 10:11 pm
Modified: January 14, 2020 | 10:13 pm

लखनऊ। भारतीय जनता पार्टी ने आज पूरे प्रदेश में 50 लाख से अधिक परिवारों से मुलकर उन्हें इसकी सच्चाई बताई। इस पर प्रदेश की जनता ने जहां एक ओर सीएए के समर्थन में हस्ताक्षर करके अपनी स्वीकृति प्रदान की। सामाजिक संपर्क अभियान के तहत मोर्चो व प्रकोष्ठों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं द्वारा आयोजित किये गये कार्यक्रमों में भी 24 लाख से अधिक लोगों ने सीएए के समर्थन में हस्ताक्षर किये।

ये भी पढ़ें-विपक्ष सीएए के बारे में दुष्प्रचार कर रहा: अमित शाह

पार्टी विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से सीएए को लेकर जनता के दरबार में पहुंची। पार्टी ने बूथ स्तर पर जन स्वीकृति प्राप्त करने के लिए प्रदेश में एक लाख बूथों पर अभियान चलाने का निर्णय किया था। जो अब उससे भी आगे बढ़ चुका है।

भाजपा ने सीएए पर चर्चा की

7 जनवरी से 14 जनवरी तक चले पदयात्रा व गोष्ठी के अभियान में पार्टी पदाधिकारी, सांसद, विधायक व जनप्रतिनिधि जनता के बीच में पहुंचे। इसके साथ ही पार्टी के मोर्चे व प्रकोष्ठों ने भी सामाजिक संपर्क अभियान के तहत विभिन्न वर्गो व श्रेणियों में सीएए पर चर्चा की और लोगों की सहमति प्राप्त की।

भाजपा ने आमजन की सहमति प्राप्त करने के लिए अभियान चलाया 

ये भी पढ़ें-कांग्रेस विधायक ने इस तरह किया सीएए का विरोध, जानकर हो जाएंगे हैरान

पार्टी के प्रदेश महामंत्री व अभियान प्रभारी सलिल विश्नोई ने अभियान के विषय में जानकारी देते हुए बताया कि पार्टी द्वारा 7 जनवरी से 14 जनवरी तक प्रदेश में बूथ दर बूथ कम से कम 50 परिवारों में संपर्क करके सीएए के समर्थन में आमजन की सहमति प्राप्त करने के लिए अभियान चलाया गया।

52 लाख से अधिक परिवारों तक भाजपा कर्यकर्ताओं ने दहलीज पर दस्तक दी

इसके साथ ही प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व गृहमंत्री अमित शाह को सीएए के लिए धन्यवाद देते हुए जनमानस ने हस्ताक्षर किये। प्रदेश में अभियान को आमजन का भरपूर समर्थन मिला। अभियान से जुड़े कार्यकर्ताओं, पदाधिकारियों, व जनप्रतिनिधियों ने एक लाख से अधिक बूथों पर पहुंचकर 52 लाख से अधिक परिवारों की दहलीज पर दस्तक दी।

ये भी पढ़ें-एनआरसी व सीएए को लेकर विपक्षी दलों में दरार, ममता ने कही ये बात

इसके साथ ही पार्टी के मोर्चे और प्रकोष्ठों ने सामाजिक संपर्क अभियान के तहत 14 हजार से अधिक स्थानों पर छात्रों, शिक्षकों, अधिवक्ताओं, किसानों, महिलाओं, चिकित्सको, व्यापारियों, अनुसूचित वर्ग आदि के साथ ही अन्य बुद्धिजीवी वर्ग व श्रेणियों के साथ सीएए पर चर्चा की और उन्हें सीएए की जानकारी के साथ कांग्रेस व सपा सहित तमाम विपक्षी पार्टियों द्वारा फैलाये जा रहे झूठ व भ्रम को भी दूर करके विपक्ष के घृणित व आमानवीय विरोध को भी जनता के दरबार में प्रस्तुत किया।