BJP का राहुल पर पलटवार, कहा- चीन को आपके ग्रेट ग्रैंडफादर के गिफ्ट का नतीजा

बीजेपी ने राहुल गांधी पर तीखा पलटवार किया है। बीजेपी ने ट्वीट कर कहा है कि आज चीन UNSC का हिस्सा ही नहीं होता अगर आपके ग्रेट ग्रैंडफादर चीन को उसे ये सीट तोहफे में ना देते।

नई दिल्ली: संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में पाकिस्तानी आतंकी और आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना को मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित करने को लेकर चीन ने एक बार फिर अड़ंगा लगा दिया है। इस पर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा और कहा कि मोदी कमजोर प्रधानमंत्री हैं। राहुल गांधी के इस बयान के बाद बीजेपी ने पलटवार किया है।

बीजेपी ने राहुल गांधी पर तीखा पलटवार किया है। बीजेपी ने ट्वीट कर कहा है कि आज चीन UNSC का हिस्सा ही नहीं होता अगर आपके ग्रेट ग्रैंडफादर चीन को उसे ये सीट तोहफे में ना देते।

बीजेपी की ओर से ट्वीट किया गया है कि भारत अभी तक आपके परिवार के द्वारा की गई गलतियों को ही भुगत रहा है। आप इस बात को निश्चित समझें कि भारत आतंकवाद के खिलाफ जंग जीत कर ही रहेगा। ये सब आप प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर छोड़ दीजिए, तब तक आप चीनी समकक्षों से चोरी-छुपे मिलते रहिए।

यह भी पढ़ें…..मसूद पर चीन के अड़ंगे पर बोले राहुल, कहा- जिनपिंग से डरते हैं PM मोदी, चुप क्यों?

गौरतलब है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार सुबह ही ट्वीट कर लिखा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग से डर गए हैं और चीन जब भी भारत के खिलाफ कुछ गलत कदम उठाता है तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुप्पी साध लेते हैं।

यह भी पढ़ें…..होली से पहले सूर्य कर रहा है मीन राशि में प्रवेश,कैसा होगा इस परिवर्तन का असर?

राहुल गांधी ने लिखा कि प्रधानमंत्री मोदी ने जिनपिंग के साथ गुजरात में झूला झूला, दिल्ली में गले मिले और चीन में जाकर उनके सामने सिर झुका दिया। राहुल गांधी से पहले कांग्रेस के अन्य प्रवक्ता भी मोदी सरकार पर सीधा हमला बोल रहे हैं।

यह भी पढ़ें…..पीएम मोदी ने शुरु की एक अनोखी मुहिम, किया इन स्टार्स से रिक्वेस्ट

बात दें कि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में चीन ने अपने वीटो पावर का इस्तेमाल कर मौलाना मसूद अजहर को वैश्विक आतंकी घोषित होने से रोक दिया। चीन के द्वारा लगातार चौथी बार ऐसा किया गया है। चीन की इस चाल पर भारत के सख्त आपत्ति दर्ज कराई है, वहीं भारत के साथ अमेरिका भी चीन की आलोचना किया है।