चीन का खात्मा शुरू: पहाड़ी इलाकों से खदेड़े गए सैनिक, हमारे पोस्ट पर थे हावी

पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग त्सो झील में बीते दिनों हुई झड़प के चलते भारत और चीन की सेनाओं के बीच तनातनी अपनी चरम सीमा पर पहुंच गई है। भारतीय सेना के जाबांजों ने इस बार भी चीन को उसके मंसूबों में कामयाब नहीं होने दिया।

Published by Vidushi Mishra Published: September 2, 2020 | 2:25 pm
Pangong Lake Indian Army

पैंगोंग झील भारतीय सेना (फोटो- सोशल मीडिया)

नई दिल्ली। पूर्वी लद्दाख के पैंगोंग त्सो झील में बीते दिनों हुई झड़प के चलते भारत और चीन की सेनाओं के बीच तनातनी अपनी चरम सीमा पर पहुंच गई है। भारतीय सेना के जाबांजों ने इस बार भी चीन को उसके मंसूबों में कामयाब नहीं होने दिया। ऐसे में सेना के सूत्रों से जानकारी मिली है कि भारतीय सेना ने दक्षिण पैंगोंग झील के पास सभी पहाड़ियों को अपने कब्जे में ले लिया है। इन पहाड़ियों में ब्लैक टॉप भी शामिल है। क्योंकि अब चीन की बढ़ती नापाक हरकतों के ध्यान में रखते हुए भारत ने अपनी रणनीति में कई परिवर्तन किए हैं। इन हालातों में और चीन की धोखेबाजी के बाद अब भारत कूटनीतिक बातचीत के साथ एलएसी पर चीन के खिलाफ सख्त से सख्त सलूक करेगा।

ये भी पढ़ें…शिवसेना पर ताबड़तोड़ गोलियां: दिग्गज नेता की हुई मौत, पार्टी में मची अफरा-तफरी

बातचीत की आड़ में उन विवादित इलाकों पर कब्जा

सेना के सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार, लद्दाख में चीन ने दोनों देशों के बीच बनी रजामंदी का पालन नहीं किया। अपनी नापाक करतूतों के चलते चीन बातचीत की आड़ में उन विवादित इलाकों पर कब्जा चाहता है, जहां नोमैंस लैंड बनाने पर सहमति बनी है।

लेकिन भारत ने चीन की सभी चालाकियों को पहचानते हुए पहले ही अहम चोटियों पर अपनी स्थिति मजबूत करने की योजना बनाई है। भारत के पलटवार से चीन तिलमिलाया हुआ है। चीन ने भारत को 1962 से भी ज्यादा तबाही देने की धमकी दी है।

 

lac
(फोटो-सोशल मीडिया)

ये भी पढ़ें…LPG सिलेंडर पर बड़ा ऐलान: नहीं मिलेगी बची रकम, सब्सिडी़ पर आ गया ये फैसला

हमारी पोस्ट पर चीनी सैनिक हावी

Pangong Lake Indian Army
फोटो-सोशल मीडिया

साथ ही सूत्रों से सामने आई जानकारी में ये भी बताया कि चीन के साथ सीमा पर तनाव बढ़ रहा है। ‘हमने उनके (चीनी) स्थान में प्रवेश नहीं किया है, लेकिन हमारी पोस्ट पर चीनी सैनिक हावी हैं। स्थिति तनावपूर्ण है।’

आगे बताते हुए सूत्र ने कहा, ‘भारत पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सीमा सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। हमें उम्मीद है कि चीन अब शांतिपूर्ण सीमा समाधान के लिए पहल करेगा।’

ऐसे में आपको बता दें, कि बॉर्डर पर कड़े तनाव के बीच भारत-चीन की सेनाओं के ब्रिगेड कमांडर लेवल के अफसर आज लगातार तीसरे दिन वार्ता कर रहे हैं। दोनों देशों के बीच ये वार्ता चुशूल सेक्टर में एलएसी से 20 किलोमीटर दूर स्थित मॉल्दो में हो रही है।

ये भी पढ़ें…चीन तबाही को तैयार: परमाणु हथियारों का बना रहा गोदाम, अलर्ट हुए सारे देश

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App