सावधान: ‘बुलबुल’ का दिखेगा खरतनाक रूप, हाई अलर्ट हुआ जारी

गुजरात के ‘महा’ तूफान के बाद अब बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवात ‘बुलबुल’। मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान बुलबुल को लेकर अलर्ट जारी किया है।

नई दिल्ली: गुजरात के ‘महा’ तूफान के बाद अब बंगाल की खाड़ी में उठा चक्रवात ‘बुलबुल’। मौसम विभाग ने चक्रवाती तूफान बुलबुल को लेकर अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग ने बताया है कि 9 और 10 नवंबर को ओडिशा, पश्चिम बंगाल, मिजोरम , त्रिपुरा, असम और मेघालय में भयंकर चक्रवाती तूफान बुलबुल की वजह से भीषण बारिश होने की आशंका है।

ये भी देखें:Ayodhya Verdict Live Updates: अयोध्या पर कुछ देर बार सुप्रीम कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला

9 नवंबर की सुबह तक तूफान के थोड़ा तेज होने की संभावना

मौसम विभाग ने बताया है कि बुलबुल नामक चक्रवाती तूफान के 9 नवंबर की सुबह तक थोड़ा तेज होने की आशंका है। इसके बाद कुछ और समय के लिए लगभग उत्तर की ओर बढ़ने की संभावना है और उसके बाद यह फिर से उत्तर-पूर्व की ओर वक्र हो सकता है।

135 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भी चल सकती हैं हवाएं

9 नवंबर की भोर तक बुलबुल चक्रवाती तूफान की वजह से 110 से 120 किलोमीटर प्रति घंटे की अधिकतम रफ्तार के साथ हवाएं चल सकती हैं। हवाएं 135 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से भी चल सकती हैं। इसके पश्चिम बंगाल के सागर द्वीप, सुंदरबन डेल्टा, बांग्लादेश के खेपूपारा को पार करने की आशंका है।

11 नवंबर को भीषण बारिश की संभावना

इससे पहले मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्रा ने कहा था कि चक्रवाती तूफान बुलबुल की निगरानी की जा रही है और इसके तट से टकराने के संभावित स्थान का आकलन किया जा रहा है। मौसम विभाग पश्चिम बंगाल के तटीय जिलों पूर्वी मिदनापुर, उत्तर 24 परगना और दक्षिण 24 परगना जिलों में 9 से 11 नवंबर तक भीषण बारिश होने की आशंका जताई जा चुकी है।

ये भी देखें:9 NOV: इन राशियों के बिजनेस पर शनिदेव की नजर, जानिए राशिफल व पंचांग

हवाओं की रफ्तार बढ़ती जाएगी

सरकारी अधिकारी ने कहा था कि संबंधित जिलों के अधिकारियों को स्थिति पर नजर रखने और आपात स्थिति से निपटने के लिए कार्य योजना तैयार करने को कहा गया था। मौसम विभाग के अनुसार पश्चिम बंगाल और ओडिशा के तटीय इलाकों में शुक्रवार शाम से 50 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चलेंगी और धीरे-धीरे हवा की यह गति बढ़ती चली जाएगी।