Top

लो आ गई बंपर भर्तियां: तुरंत करें आवेदन, लॉकडाउन में उठाए फायदा

दुनियाभर से कोरोना वायरस महामारी खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही है। ऐसे में भारत के लॉकडाउन लगाया गया है, जिससे संक्रमण के खतरे को कम किया जा सके। लेकिन ऐसे में हुए इस लॉकडाउन ने सबकी नौकरी को खतरें में डाल दिया है।

Vidushi Mishra

Vidushi MishraBy Vidushi Mishra

Published on 14 April 2020 9:56 AM GMT

लो आ गई बंपर भर्तियां: तुरंत करें आवेदन, लॉकडाउन में उठाए फायदा
X
लो आ गई बंपर भर्तियां: तुरंत करें आवेदन , लॉकडाउन में उठाए फायदा
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: दुनियाभर से कोरोना वायरस महामारी खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही है। ऐसे में भारत के लॉकडाउन लगाया गया है, जिससे संक्रमण के खतरे को कम किया जा सके। लेकिन ऐसे में हुए इस लॉकडाउन ने सबकी नौकरी को खतरें में डाल दिया है। ऐसे में इन हालातों में दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन ने बड़ी हायरिंग करने का फैसला किया है। अमेजन ने कहा कि वह 75 हजार भर्तियां करेगी। ये भर्तियां वेयरहाउस स्टाफ से लेकर डिलिवरी ड्राइवर्स तक की होंगी। अमेजन का कहना है कि उसने से फैसला लॉकडाउन की वजह से लिया है।

ये भी पढ़ें...लॉकडाउन पार्ट-2: यूपी में 15 अप्रैल से निर्माण कार्य शुरू करने का फैसला स्थगित

लॉकडाउन में चीजों की मांग

रिपोर्ट्स के अनुसार, 75 हजार भर्तियों के बारे में बताते हुए कंपनी ने कहा है कि अमेरिका में कोरोनावायरस के कारण लोग घरों में कैद हैं, जिसकी वजह से ऑनलाइन ऑर्डर की डिमांड बढ़ती जा रही है।

ज्यादा समय से क्वारंटीन रहने की आशंका को देखते हुए दुकानों के शेल्फ खाली होते जा रहे हैं। ऐसे में कंपनियों की कोशिश है कि वे खाने-पीने और हेल्थ प्रॉडक्ट्स का स्टॉक बनाए रखें। इसके साथ ही स्टोर में काम करने वाले और डिलिवरी स्टाफ की भी जरूरत है, जिसे देखते हुए अमेजन ने हायरिंग का फैसला किया है।

ये भी पढ़ें... केंद्रीय कैबिनेट की बुधवार शाम 5.30 बजे बैठक

स्टाफ में थे कोरोना के कई मामले

अमेजन के लिए हायरिंग एक बड़ा और मुश्किल काम है। अमेजन उन कंपनियों में से एक है जहां के वेयरहाउस स्टाफ में कोरोनावारयस के कई केस पाए गए हैं। इन हालातों में कंपनी का कहना है कि वह अब वह अमेरिका और यूरोप के अपने सभी वेयरहाउसों में टेंपरेचर चेक करने और मास्क का पूरा इंतजाम रखेगी। हालांकि कुछ चुने हुए अधिकारियों ने कंपनी को अपने वेयरहाउस बंद करने को कहा है।

देश में बेरोजगारी की बढ़ती दर को देखते हुए अमेजन ने गैप को भरने का फैसला किया है। नए कर्मियों को आकर्षित करने के लिए कंपनी ने 15 डॉलर प्रति घंटे की मिनिमम वेज में 2 डॉलर का इजाफा करने का फैसला किया है, जो अप्रैल में लागू होगा।

आगे कंपनी ने कहा कि पहले दिए ऐडवर्टाइजमेंट की 100000 भर्तियां वह कर चुकी है और ये 75 हजार उसके इतर हैं। अमेजन का कहना है कि लह वैश्विक स्तर पर सैलरी बढ़ाने पर करीब 50 करोड़ डॉलर से ज्यादा खर्च कर सकती है। बीते साल यह आँकड़ा 35 करोड़ डॉलर का था।

ये भी पढ़ें...सरकार ने किया ऐलान, 15 अप्रैल से यूपी में शुरू होगा ये काम

Vidushi Mishra

Vidushi Mishra

Next Story