×

खाताधारकों को तोहफा: विलय के बाद सरकारी बैंक ने किया ये बड़ा एलान

भारत के 10 सरकारी बैंकों का 1 अप्रैल को विलय हो चुका है,ऐसे में बैंक ग्राहकों के खाते तो बदले ही लेकिन अब उन्हें बड़ा लाभ भी मिलने वाला है। दरअसल विलय हुए बैंकों में से एक कैनरा बैंक भी है, जिसने सिंडिकेट बैंक में मर्ज होने के बाद बड़ा एलान किया है।

Shivani Awasthi
Updated on: 7 April 2020 4:47 AM GMT
खाताधारकों को तोहफा: विलय के बाद सरकारी बैंक ने किया ये बड़ा एलान
X
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • koo

नई दिल्ली: भारत के 10 सरकारी बैंकों का 1 अप्रैल को विलय हो चुका है,ऐसे में बैंक ग्राहकों के खाते तो बदले ही लेकिन अब उन्हें बड़ा लाभ भी मिलने वाला है। दरअसल विलय हुए बैंकों में से एक कैनरा बैंक भी है, जिसने सिंडिकेट बैंक में मर्ज होने के बाद बड़ा एलान किया है।

केनरा बैंक ने विलय के बाद घटाया लोन ब्याज दर

केनरा बैंक ने विलय के बाद पहली बार मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट्स (MCLR) को घटा दिया है। यानी अब इस बैंक के खाता धारक, जो क़ी सिंडिकेट बैंक में ट्रांसफर हो गए है को होम और कार लोन सस्ती ब्याज दरों पर मिलेंगे। इतना ही नहीं पहले से ही सिंडिकेट बैंक के खाता धारकों को भी इसका लाभ मिलेगा।

सिंडिकेट बैंकखाता धारकों को भी लाभ

बैंक में ब्याज दरों में कमी के साथ ही उन लोगों को भी लाभ दिया है, जिनका पहले से ही बैंक में लोन चल रहा था। अब उनकी ईएमआई भी कम हो जायेगी। ये नई दरें मंगलवार से प्रभावी हैं।

ये भी पढ़ेंःकोरोना: PM समेत सांसदों की सैलरी में 30% कटौती, BJP MLC ने किया ये बड़ा एलान

बैंक ने कम किया इतना ब्याज दर:

इस फैसले के तहत केनरा बैंक ने एक साल की अवधि वाले कर्ज के लिए 0.35 फीसदी, छह महीने की अवधि वाले कर्ज के लिए 0.30 फीसदी, तीन महीने की अवधि के लिए 0.2 फीसदी और एक महीने या एक दिन के लिए ब्याज दर में 0.15 फीसदी की कटौती की है।

Bank Loan: अब लोन लेने का बदला प्रोसेस, RBI ने किया ऐलान

RBI के रेपो रेट में कटौती के बाद बैंकों पर ब्याज दर कम करने का दबाव

इतना ही नहीं बैंक ने रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) में 0.75 फीसदी की कटौती भी की है। इस कटौती के बाद केनरा बैंक का RLLR 8.05 फीसदी से घटकर 7.30 फीसदी रह गया है। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने भारत में कोरोनावायरस के मद्देजर लागू लॉकडाउन को देखते हुए रेपो रेट में भारी कटौती की थी। इस वजह से बैंकों पर ब्याज दर कम करने का दबाव बढ़ गया था।

ये भी पढ़ेंःकोरोना के खिलाफ देश के संघर्ष में RIL कर्मचारी ‘अग्रणी योद्धा’ बने हैं: मुकेश अंबानी

ये बैंक भी घटा चुके ब्याज दर

ऐसे में केनरा बैंक से पहले कई अन्य बैंकों में भी ब्याज दरों में कमी की, इनमें एसबीआई, बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा, पीएनबी, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ महाराष्ट्र का नाम शामिल है।

ये भी पढ़ेंः सांसद निधि स्थगित करने पर कांग्रेस में तकरार, आपस में ही उलझ गए बडे़ नेता

विलय के बाद देश का चौथा सबसे बड़ा बैंक बना केनरा बैंक

गौरतबल है कि बैंकों के विलय के तहत केनरा बैंक के सिंडिकेट बैंक में मर्ज होने से ये देश का चौथा सबसे बड़ा बैंक बन गया है। इस बैंक की देशभर में 10,324 शाखाएं हैं।

दोस्तों देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

Shivani Awasthi

Shivani Awasthi

Next Story