चंद्रयान 2 : विक्रम लैंडर के क्रैश होने पर सामने आया ISRO का जवाब

चांद पर अब तक सिर्फ तीन देश ही सफलतापूर्वक सॉफ्ट लैंडिंग करा पाए हैं। इसमें रूस, अमेरिका और चीन का नाम शामिल है। अगर भारत का ये मिशन पूरा हो जाता तो भारत दुनिया का चांद पर पहुंचने वाला चौथा देश हो जाता। हालांकि, ऐसा नहीं हो पाया।

Chandrayaan2: विक्रम लैंडर के क्रैश होने पर सामने आया ISRO का जवाब

Chandrayaan2: विक्रम लैंडर के क्रैश होने पर सामने आया ISRO का जवाब

नई दिल्ली: भारत का चंद्रयान 2 मिशन सफल नहीं हो पाया। चंद्रमा की सतह पर लैंड करने से महज 2.1 किमी पहले लैंडर विक्रम से इसरो का संपर्क टूट गया। इसरो इस घटना के बाद अब डाटा का विश्लेषण कर रहा है। वहीं, जब इसरो से पूछा गया कि क्या विक्रम लैंडर क्रैश हो गया है? इसपर इसरो का जवाब भी आया है।

यह भी पढ़ें: Chandrayaan 2: मिशन पूरा न होने पर रो पड़े ISRO चीफ, PM ने दिया कंधा, वीडियो वायरल

इसरो के साइंटिस्ट देवीप्रसाद कार्निक ने बताया कि अभी इसरो डाटा का विश्लेषण कर रहा है। इसरो के पास अभी तक कोई रिजल्ट नहीं है। इसमें समय लगता है। कार्निक ने कहा कि पक्के तौर पर कुछ कहा नहीं जा सकता है। मिशन पूरा न होने से इसरो काफी निराश है।

यह भी पढ़ें: Chandrayaan 2: PM मोदी का राष्ट्र को संबोधन, ‘विज्ञान में विफलता होती ही नहीं’

हालांकि, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ विपक्ष ने भी इसरो की तारीफ की और उनका मनोबल बढ़ाया। विक्रम लैंडर से संपर्क टूटने पर मोदी ने कहा कि, ‘जब मिशन बड़ा होता है तो निराशा से पार पाने का हिम्मत होनी चाहिए. मेरी तरफ से आप सभी को बहुत बधाई. आपने देश की और मानव जाति की बड़ी सेवा की है।’

यह भी पढ़ें: Chandrayaan 2: ननिहाल नहीं पहुंच पाया यान, मामा के घर पहुंचने से पहले वो 15 मिनट

बता दें, चांद पर अब तक सिर्फ तीन देश ही सफलतापूर्वक सॉफ्ट लैंडिंग करा पाए हैं। इसमें रूस, अमेरिका और चीन का नाम शामिल है। अगर भारत का ये मिशन पूरा हो जाता तो भारत दुनिया का चांद पर पहुंचने वाला चौथा देश हो जाता। हालांकि, ऐसा नहीं हो पाया।