Top

काला टॉप और हेल्मेट टॉप पर भारत के कब्जे से डरा चीन, बौखलाहट में कर रहा फायरिंग

काला टॉप और हेल्मेट टॉप को अपने नियंत्रण में लेने के लिए चीनी सैनिक हर तरह का षड्यंत्र रच रहे हैं लेकिन भारतीय सेना पहले ही उनके मंसूबों को भांप कर फेल कर देती है।

Newstrack

NewstrackBy Newstrack

Published on 8 Sep 2020 5:42 AM GMT

काला टॉप और हेल्मेट टॉप पर भारत के कब्जे से डरा चीन, बौखलाहट में कर रहा फायरिंग
X
चीन की राजनीति और सेना की गतिविधियों पर करीब से नजर रखने वाले जानकारों की मानें तो आने वाले दिनों में बॉर्डर पर इस तरह की गतिविधियां और भी ज्यादा बढ़ेंगी।
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp
  • Telegram
  • Linkedin
  • Print

नई दिल्ली: लद्दाख में बीती रात भारत और चीन की सेना के बीच जमकर गोलीबारी हुई है। जिसके बाद से बॉर्डर पर तनाव और भी ज्यादा बढ़ गया है। दोनों देश की सेनाएं अभी भी आमने सामने डटी हुई है। आज जिस तरह के हालात हैं। उसे देखकर युद्ध की बात से इनकार नहीं किया जा सकता है।

चीन की राजनीति और सेना की गतिविधियों पर करीब से नजर रखने वाले जानकारों की मानें तो आने वाले दिनों में बॉर्डर पर इस तरह की गतिविधियां और भी ज्यादा बढ़ेंगी।

इसके पीछे दो मुख्य वजह हैं। पहली ये कि टेबल पर चीन की भारत के साथ बातचीत लगातार फेल हो रही है। अक्साई चीन को लेकर उसका डर बढ़ता ही जा रहा है। दूसरी वजह ये है कि चीन का ऐसा सोचना है कि वह बॉर्डर पर लगातार यथास्थिति को भंग करके भारत को डरा सकता है। इसलिए वह इस तरह की हरकतें कर रहा है।

Army बॉर्डर पर पहरा देते भारतीय सैनिक की फोटो(साभार-सोशल मीडिया)

ये भी पढ़ें- स्कूल खुलने का एलान: सरकार का बड़ा फैसला, Unlock- 4 में मिलेगी ये सारी छूट

काला टॉप और हेल्मेट टॉप को अपने नियंत्रण में लेना चाहता है चीन

काला टॉप और हेल्मेट टॉप को अपने नियंत्रण में लेने के लिए चीनी सैनिक हर तरह का षड्यंत्र रच रहे हैं लेकिन भारतीय सेना पहले ही उनके मंसूबों को भांप कर फेल कर देती है। चीनी सैनिक किसी भी कीमत पर इन दोनों चोटियों पर नियंत्रण हासिल करने की कोशिश कर रहे हैं

लद्दाख में बीते 10 दिनों में चीन की चौथी साजिश को हमारे वीरों ने नाकाम कर दिया है। सोमवार की आधी रात को एक बार फिर भारतीय सेना ने चीन के जवानों को खदेड़ दिया। कब्जे की मंशा से आए चीनी सैनिकों के गोलीबारी करने के बाद जवाबी कार्रवाई के तहत भारतीय सेना के जवानों ने "वार्निंग शॉट्स" फायर किए और उन्हें पीछे धकेल दिया।

ये भी पढ़ें- कुलदीप सिंह सेंगर केस: CBI ने इन 3 महिला अफसरों को माना दोषी, कार्रवाई की मांग

China President XI Jinping चीन के राष्ट्रपति शी -जिनपिंग की फोटो(साभार -सोशल मीडिया)

चीन ने कल की घटना पर दी ये सफाई

मीडिया रिपोर्ट में भारतीय सेना के सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि “वार्निंग शॉट्स” फायर किए गए थे। सीमा पर तैनात सैनिक उस समय से हाई अलर्ट पर हैं, जब से उन्होंने काला टॉप और हेल्मेट टॉप को अपने नियंत्रण में लिया है। चीनी सैनिक इन दोनों चोटियों पर नियंत्रण करने के लिए आगे बढ़ रहे हैं।

उधर पीएलए वेस्टर्न थियेटर कमांड के प्रवक्ता कर्नल झांग शुइली ने कहा कि ऑपरेशन के दौरान, भारतीय सेना ने चीनी बॉर्डर गार्ड्स के पेट्रोलिंग कर्मियों को फायर की धमकी दी, जिसके कारण चीनी बॉर्डर गार्ड्स को स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए जवाबी कार्रवाई करने के लिए मजबूर होना पड़ा।

झांग शुइली का कहना है कि यह एक गंभीर सैन्य उकसाने वाला मामला है और बहुत बुरा स्वभाव है। हमारा भारतीय पक्ष से अनुरोध हैं कि वे खतरनाक कार्रवाईयों पर तुरंत रोक लगाएं, क्रॉस-लाइन कर्मियों को तुरंत वापस बुलाएं, फ्रंट-लाइन सैनिकों को सख्ती से रोका जाए, और उनकी सख्ती से जांच हो और दंडित किया जाए जिन्होंने फायरिंग की है, ताकि भविष्य में ऐसी घटनाएं फिर से न हो।

ये भी पढ़ें- भारत में अबतक कोरोना के 5 करोड़ 6 लाख टेस्ट हुए

देश दुनिया की और खबरों को तेजी से जानने के लिए बनें रहें न्यूजट्रैक के साथ। हमें फेसबुक पर फॉलों करने के लिए @newstrack और ट्विटर पर फॉलो करने के लिए @newstrackmedia पर क्लिक करें।

न्यूजट्रैक के नए ऐप से खुद को रक्खें लेटेस्ट खबरों से अपडेटेड । हमारा ऐप एंड्राइड प्लेस्टोर से डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें - Newstrack App

Newstrack

Newstrack

Next Story